सज्जन बोले- मोदी और गड़करी में फंड की लड़ाई, इसलिए मप्र को नहीं दे रहे पैसा

सज्जन बोले- मोदी और गड़करी में फंड की लड़ाई, इसलिए मप्र को नहीं दे रहे पैसा

Jitendra Chourasiya | Updated: 12 Oct 2019, 08:33:37 AM (IST) Kolar, Bhopal, Madhya Pradesh, India

सज्जन बोले- मोदी और गड़करी में फंड की लड़ाई, इसलिए मप्र को नहीं दे रहे पैसा

 

भोपाल : लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने मोदी सरकार पर निशाना साधकर कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी में फंड की लड़ाई चल रही है। मोदी ने गड़करी की बिना सहमति सड़क विकास निधि को बदलकर सड़क एवं अधोसंरचना विकास निधि कर दिया है। इसमें मध्यप्रदेश को मिलने वाला पैसा रोक दिया गया।

प्रदेश से गुजरने वाले नेशनल हाई-वे खराब हालत में हैं, इन्हें दुरूस्त करने कई बार गड़करी से बात की, लेकिन हमें पैसा नहीं मिल रहा है। भाजपा के मंत्री और नेता सड़क ठेकेदार बन गए, इन ठेकेदारों ने जमकर भ्रष्टाचार किया। बारिश के कारण उखड़ गई, हमने इनकी मरम्मत के लिए 1988 करोड़ मांगे, लेकिन एक पैसा नहीं मिला।

हम अब विभागों में कटौती करके इनको सुधार रहे हैं। साथ ही भाजपा कार्यकाल में बनी सड़कों की जांच करा रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में मीडिया से बातचीत में सज्जन ने कहा कि 30 नम्बर तक सड़कों को ठीक करने की समय सीमा तय की है। 17 बड़े ब्रिज बनाए जाएंगे, 550 नई सड़कें मंजूर की हैं।

हनी ट्रेप में नामों का खुलासा करेगी सरकार

हनी ट्रेप के सवाल पर मंत्री सज्जन वर्मा ने कहा कि मेरी एसआईटी चीफ से बात हुई है। सरकार सभी नामों का एक साथ खुलासा करेगी, ताकि कोई बच न सके। अभी जांच अपरिपक्व है। भाजपा द्वारा कमलनाथ को चक्रव्यूह में घेरने के सवाल पर सज्जन ने कहा कि कमलनाथ वो आधुनिक अभिमन्यु है, जो मां के पेट से चक्रव्यूह तोडऩा सीखकर आया है। उनकी फिक्र मत करो।

दिग्विजय और सिंधिया पर निशाना, बोले- पद पर थे तब काम क्यों नहीं किया-

कांग्रेसी दिग्गज दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्वीट के जरिए कमलनाथ सरकार पर सवाल उठाने को लेकर सज्जन ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि जो व्यक्ति जब पद पर रहते है, तब खुद के काम क्यों नहीं देखते है। उन्हें अपना एनालिसिस करना चाहिए। दिग्विजय का नाम लेकर जब सज्जन से पूछा गया तो उन्होंने बात को टर्न करते हुए कहा कि पंद्रह साल शिवराज सिंह चौहान यहां रहे हैं, वे क्यों प्रदेश नहीं सुधार सके। सिंधिया द्वारा कर्जमाफी पर उठाये गए सवाल पर वर्मा ने नसीहत देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जिस तरह से सज्जन वर्मा के हैं वैसे ही सिंधियाजी के हैं। सिंधिया जी जब सोनिया गांधी से बात करते हैं, तो कमलनाथ से क्यों नहीं कर सकते हैं, उन्हें करना चाहिए।

 

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned