15 दिन लेट लगी रोक, लोगों ने कर लिए रेत के स्टॉक, 32 रुपए फिट बिक रही रेत

15 दिन लेट लगी रोक, लोगों ने कर लिए रेत के स्टॉक, 32 रुपए फिट बिक रही रेत

Pravendra Singh Tomar | Updated: 19 Aug 2019, 09:03:12 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

- रेट न बढऩे से लोगों को राहत

भोपाल। खदानों पर इस बार एनजीटी की रोक 15 दिन लेट लगने के कारण होशंगाबाद, भोपाल और आस-पास के जिलो में रेत के स्टॉक करने से भोपाल में रेत का रेट 32 रुपए फीट ही चल रहा है। भारकच्छ की तरफ से आ रही रेत का रेट 25/26 रुपए फीट है। जबकि इन दिनों रेत का रेट दो गुना हो जाता था। लोगों को रेत खरीदने में एक बार सोचना पड़ता था। लेकिन रेट न बढऩे से राहत मिली है। पहले खदानों पर 16 जून से एक अक्टूबर को हटती थी। लेकिन इस बार 15 जुलाई से रोक प्रभावी करने के चलते लोगों ने आराम से रेत के स्टॉक कर लिए।

 

लेकिन रेत के रेट सामान्य रहने से लोगों को इस बार राहत मिली है। इधर होशंगाबाद से आने वाले रेत के डंपरों की संख्या भी घटी है। पहले 200 ड़पर आते थे, लेकिन लगातार बारिश से जो निर्माण चल रहे थे उनमें भी काम रोक दिया है। इस कारण रेत की आवक50/60 डंपर प्रतिदिन की रह गई है। 825 फीट रेत का डंपर 26,400 हजार के करीब पड़ रहा है। जानकार बताते हैं कि बरसात रुकने के बाद कुछ डिमांड बढ़ सकती है। लेकिन इस माह के आखिर तक ये संभावना भी कम है। मौसम खुलने के बाद रेत के रेट कुछ बढ़ सकते हैं, लेकिन ज्यादा नहीं जाएंगे।

 

मुरम की खुदाई भी रुकी

इधर बरसात के चलते खदानों में पानी भरने से मुरम की खुदाई भी रोक दी गई है। समतल क्षेत्र ही मुरम निकाली जा रही है। रेत के साथ मुरम में भी नरमी हो गई है।


इस बार एनजीटी की रोक 15 दिन लेट लगने के कारण पहले से स्टॉक कर लिए गए, रेत के रेट भी नहीं बढ़े हैं। बरसात में निर्माण कार्य की रफ्तार स्लो है। रेत कम आ रही है। - विश्व बंधू रावत, सचिव, भोपाल सेंड ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned