संत हिरदाराम स्टेशन कैमरे, डिस्पले कोच से लैस

भोपाल रेल मंडल में शामिल होने का मिल रहा फायदा

भोपाल. संत हिरदाराम नगर रेलवे स्टेशन को भोपाल रेल मण्डल में शामिल करने के बाद से यात्रियों को इसका लाभ मिलने लगा है। यहां यात्रियों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। संत हिरदाराम रेलवे स्टेशन भोपाल मुख्य रेलवे स्टेशन से कहीं अधिक आसान है, क्योंकि सीहोर से लेकर आसपास के गावों, संत हिरदाराम नगर, लालघाटी, कोहेफिजा, ईदगाह हिल्स के साथ ही कमला पार्क से लेकर न्यू मार्केट एवं मालवीय नगर, नेहरू नगर, कोटरा सुल्तानाबाद सहित राजधानी की आधे से अधिक आबादी के लिए संत हिरदाराम नगर स्टेशन पहुंचना भोपाल स्टेशन पर पहुंचने से कहीं अधिक आसान हो गया है। भोपाल स्टेशन जाने में यात्रियों के समय लगने के साथ ही परेशानी होती थी।

संत हिरदाराम स्टेशन को रतलाम रेल मंडल में होने से विकास रुका हुआ था। यहां न तो अधिक ट्रेनों को स्टॉपेज था न ही यात्रियों की सुविधाओं का ध्यान दिया जाता था। यहां तक की यात्रियों के खाने-पीने की व्यवस्था सहित सुरक्षा के लिहाज से कैमरे भी नहीं लगे हुए थे। भोपाल मंडल में शामिल होने से काफी सुविधाएं मिली हैं। स्टेशन कैमरे, डिस्पले कोच से लैस हो गया है।

 

सुविधाओं से मिलेगा जनता को लाभ
संत हिरदाराम रेलवे स्टेशन के भोपाल रेल मंडल में शामिल होने से न केवल स्टेशन का कायाकल्प बढ़ा है, बल्कि यात्री सुविधाओं में भी इजाफा हो गया है। कई नई ट्रेनों का स्टापेज होगा और नई ट्रेनें भी जल्द शुरू होंगी, इससे यात्रियों की आवाजाही बढ़ेगी।

सिंधी सेन्ट्रल पंचायत ने बीते एक दशक से गंभीरता से प्रयास किया है। बार-बार ज्ञापन सौंप कर जिम्मेदारों को स्टेशन की विकास के बात की है। यहां तक की हर सुविधाओं का ध्यान रखा है। जिसका नतीजा है कि अब स्टेशन भोपाल रेल मण्डल में शामिल होते ही सुविधाएं ब? रही है।
सुरेश जसवानी, महासचिव, सिंधी सेन्ट्रल पंचायत

Rohit verma
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned