scriptSarkari Teacher: Latest News on Transfer Of Government School Teachers | लाखों टीचर्स के लिए बड़ी खबर, बच्चों के नंबर कम आए तो होगा आपका ट्रांसफर | Patrika News

लाखों टीचर्स के लिए बड़ी खबर, बच्चों के नंबर कम आए तो होगा आपका ट्रांसफर

-नई टीचर भर्ती वालों को 3 साल गांव में पढ़ाना होगा
-पूरी नौकरी के दौरान टीचर्स को 10 साल गांव में पढ़ाना होगा
-टीचर के विषय में 70% से कम अंक तो होगा ट्रांसफर

भोपाल

Published: August 03, 2022 12:26:36 pm

भोपाल। शिवराज सरकार ने प्रदेश में स्कूली शिक्षकों के लिए स्थायी तबादला नीति को मंजूरी दे दी। इसके तहत अब हर साल 31 मार्च से 15 मई तक तबादले होंगे। हर साल तबादला नीति लाने की जरूरत भी नहीं होगी। स्वैच्छिक तबादले के लिए शिक्षकों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। हर शिक्षक को कम से कम दस साल ग्रामीण क्षेत्रों में पढ़ाना होगा। बीते दिन सीएम शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई। बैठक में सीएम ने स्कूल शिक्षा मंत्री इंदरसिंह परमार को इस नीति के बिंदुओं का एक बार और परीक्षण करने के बाद ही लागू करने कहा है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि नीति के तहत आदिवासी इलाकों में प्रशासकीय आधार पर पदस्थ किए गए शिक्षकों को विशेष प्रोत्साहन भत्ता मिलेगा।

photo1659509668.jpeg
Sarkari Teacher

नई भर्ती पर पहले तीन साल गांव में

नए भर्ती होने वाले शिक्षकों को ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों में पहले तीन साल की अवधि पूरी करनी होगी। पूरी सेवा में 10 साल ग्रामीण क्षेत्रों में रहना अनिवार्य होगा। उन्हें इसका वचन पत्र देना होगा। हालांकि विशेष स्कूलों के लिए चयन परीक्षा से चयनित शिक्षकों को इसमें राहत दी जाएगी। अध्यापक संवर्ग से आए शिक्षकों को भी ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूलों में 5 से 10 साल सेवा देनी होगी।

बड़ा खतरा शहरी शिक्षकों पर

दस साल से शहरों में पदस्थ स्कूली शिक्षकों को नई नीति के प्रावधानों के तहत गांवों में भेजा जाएगा। दस साल ग्रामीण सेवा अनिवार्य होने के कारण जो अब तक गांवों में नहीं गए, उन्हें अनिवार्य रूप से भेजा जाएगा। ये स्वैच्छिक आवेदन भी दे सकेंगे।

मंत्री के स्टाफ में नहीं जा सकेंगे

शिक्षक-प्राचार्य संवर्ग के लिए यह अनिवार्यता है कि उनकी प्रतिनियुक्ति या अन्य प्रकार की पदस्थापना किसी भी मंत्री या जनप्रतिनिधि के स्टाफ में नहीं हो सकेगी।

कम नंबर आए तो भी होगा ट्रांसफर

बता दें कि परफॉर्मेंस बेस्ड ट्रांसफर का मतलब है कि यदि उत्कृष्ट एवं मॉडल स्कूलों के साथ नगरीय क्षेत्रों के हाई और हायर सेकंडरी स्कूलों में परिणाम 60% से कम हैं और शेष हाई व हायर सेकंडरी स्कूलों में 40% से कम हैं तो प्राचार्य का तबादला ग्रामीण क्षेत्रों के दूरस्थ स्कूलों में किया जाएगा। यही व्यवस्था विषय के टीचरों के लिए क्रमशः 70% व 50% से कम परिणाम पर भी लागू होगी। यानी जिस टीचर के सब्जेक्ट में बच्चों के 70% से कम अंक आते हैं उनका तबादला किया जाएगा।

प्रतिनियुक्ति के नियम

प्रतिनियुक्ति केवल विशेष परिस्थितियों में ही होगी। प्राचार्य-सहायक संचालक या उससे वरिष्ठ पदों के स्वैच्छिक आवेदन ऑनलाइन रहेंगे पर निराकरण ऑफलाइन होगा। प्रथम श्रेणी अधिकारियों के स्थानांतरण मुख्यमंत्री के अनुमोदन से किए जाएंगे।

नीति में ये भी अहम-

- दूसरे जिले या संभाग के शिक्षक को प्रमोशन के पद पर पदस्थ नहीं किया जा सकेगा।

- पहले प्राथमिकता के आधार पर प्रशासनिक और फिर स्वैच्छिक ट्रांसफर होंगे। स्वैच्छिक तबादले के लिए पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन देना होगा।

- गंभीर शिकायतों, प्रतिनियुक्ति से वापसी, कोर्ट निर्णय के पालन और स्कूलों में खाली पद भरने के लिए प्रशासनिक स्तर पर तबादले किए जाएंगे।

- तीन साल में सेवानिवृत्त होने वाले गंभीर बीमार या विकलांग और एक साल से कम की सेवा व 40 प्रतिशत या उससे ज्यादा दिव्यांगता पर तबादले से छूट।

- शादी के कारण पति-पत्नी के कार्यनिवास को लेकर तबादले में छूट दी जाएगी। गंभीर बीमारी, परिवार में गंभीर बीमारी, राज्य-राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार, शत-प्रतिशत परीक्षा परिणाम आदि का तबादलों में ध्यान रखा जाएगा।

जानिए, नीति कब से और कैसे लागू होगी.

- अगले शिक्षा सत्र 2023-24 से लागू होगी नई नीति

- तबादले में वरीयता क्रम को प्राथमिकता दी जाएगी

- 31 मार्च से 15 मई के बीच ही हर साल होंगे तबादले

- तबादले इस प्रकार होंगे कि कोई शाला शिक्षक विहीन न हो

-एक बार स्वैच्छिक तबादले पर विशेष परिस्थिति छोड़ 3 साल रुकना ही होगा

-उत्कृष्ट, मॉडल व सीएम राइज स्कूलों में स्वैच्छिक तबादले नहीं होंगे

-एक मार्च तक पोर्टल पर खाली पदों की जानकारी अपलोड करना अनिवार्य

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon : राजस्थान में 3 अगस्त से बारिश का नया सिस्टम, पूरे प्रदेश में होगी झमाझमNSA डोभाल की मौजूदगी में बोले मुस्लिम धर्मगुरु- 'सर तन से जुदा' हमारा नारा नहीं, PFI पर प्रतिबंध की बनी सहमतिकीमत 4.63 लाख रुपये से शुरू और देती हैं 26Km का माइलेज! बड़ी फैमिली के परफेक्ट हैं ये सस्ती 7-सीटर MPV कारेंराजस्थान में भारी बारिश का दौर जारी, स्कूलों की तीन दिन की छुट्टी, आज इन जिलों में झमाझम की चेतावनीWeather Update: राजस्थान में झमाझम बारिश को लेकर अब आई ये खबरराजस्थान में आज यहां होगी बारिश, एक सप्ताह तक के लिए बदलेगा मौसमएमपी में 220 करोड़ से बनेगा 62 किमी लंबा बायपास, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी, जारी हो गए टेंडरसरकारी नौकरी लगवा देंगे कहकर 10 युवाओं को लगाई 75 लाख रुपए की चपत, 2 गिरफ्तार

बड़ी खबरें

ताइवान की राष्ट्रपति से मिलीं नैंसी पेलोसी, वाशिंगटन पोस्ट में लेख से चीन को दिया सख़्त संदेश: ताइवान की सुरक्षा के लिए अमरीका प्रतिबद्धNancy Pelosi in Taiwan: युद्ध के बादल? चीन के 21 लड़ाकू विमान ताइवान के एयरस्पेस में, छह तरफ से घेराबंदीचुनाव से पहले 'रेवड़ी कल्चर' पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई, लग सकती है रोकMaharashtra Politics: उदय सामंत की गाड़ी पर हमले के आरोप में जिला प्रमुख संजय मोरे गिरफ्तार, CM ने कही ये बातMumbai Rains: मुंबई में भारी बारिश के चलते कई इलाकों में भरा पानी, आईएमडी ने जारी किया ये अलर्ट; देखें वीडियोVice President Election 2022 : उपराष्ट्रपति पद को लेकर मायावती का ऐलान, एनडीए उम्मीदवार जगदीप धनखड़ को देंगी समर्थनकांग्रेस को झटका : कुलदीप बिश्नोई आज देंगे विधायक पद से इस्तीफा, बीजेपी में होंगे शामिलखेतों में काम कर मजबूत किए हाथ, अब कॉमनवेल्थ गेम्स में जीता ब्रॉन्ज मेडल, ऐसी है हरजिंदर की कहानी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.