scriptSchools are closing, how will the target of vaccination be met | बंद हो रहे स्कूल, क्या पूरा हो पाएगा बच्चों का ये टारगेट | Patrika News

बंद हो रहे स्कूल, क्या पूरा हो पाएगा बच्चों का ये टारगेट

गर्मियों की छुट्टियां लग जाएंगी, चूकि बच्चों के वैक्सीनेशन ही हालही में शुरूआत की गई है, ऐसे में पूरे बच्चों को पहला डोज ही नहीं लग पाया है.

भोपाल

Published: April 27, 2022 09:51:49 am

भोपाल. मध्यप्रदेश में 1 मई से गर्मियों की छुट्टियां लग जाएंगी, चूकि बच्चों के वैक्सीनेशन ही हालही में शुरूआत की गई है, ऐसे में पूरे बच्चों को पहला डोज ही नहीं लग पाया है, वहीं बच्चों को 28 दिन बाद दूसरा डोज भी देना है, लेकिन स्कूल बंद होने के बाद बच्चों को दूसरा डोज लगाना भी मुश्किल हो जाएगा, क्योंकि गर्मी की छुट्टियां लग जाने से अधिकतर बच्चे दादी नानी के यहां चल देंगे, ऐसे में कैसे बच्चों को सुरक्षित रखा जा सकेगा, चिंता का विषय है।

बंद हो रहे हैं स्कूल, कैसे पूरा होगा वैक्सीनेशन का टारगेट
बंद हो रहे हैं स्कूल, कैसे पूरा होगा वैक्सीनेशन का टारगेट

पहले डोज का असर नहीं रहेगा
बच्चों के वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार से परेशान स्वास्थ्य विभाग अब स्कूलों में लगने वाली गर्मियों की छुट्टियों को लेकर ङ्क्षचतित है। एक मई से स्कूलों में गर्मियों की छुट्टियां शुरू हो जाएंगी, ऐसे में जिन बच्चों ने ड्यू सेकंड डोज नहीं लगवाए हैं उन पर पहले डोज के बेअसर होने का खतरा बढ़ गया है।


28 दिन में लगाना होता है दूसरा डोज
दरअसल, 12 से 14 साल के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन 23 मार्च से शुरू किया गया है। वैक्सीन का पहला डोज लग जाने के 28 दिन बाद दूसरा डोज लगाया जाता है। 20 अप्रेल को 28 दिन पूरे हो चुके हैं। 28 दिन के बाद अगले 21 दिन तक दूसरा डोज लगवाया जा सकता है। इसके बाद फस्र्ट डोज का असर कम होने लगता है। विशेषज्ञों को आशंका है कि करीब डेढ़ महीने तक स्कूलों की छुट्टियां होने के बाद अगर बच्चे वैक्सीनेशन के लिए नहीं आए तो बाद में सेकंड डोज ज्यादा प्रभावी नहीं होगा।

15 दिन में पूरा करना था वैक्सीनेशन का टारगेट
मालूम हो कि प्रदेश में 12 से 14 साल के वर्ग के लिए 86 हजार बच्चों का टारगेट तय किया गया था। अधिकारियों का दावा था कि टारगेट 15 दिन में पूरा कर लिया जाएगा। लेकिन एक महीना बीतने के बावजूद अब तक सिर्फ 55 फीसदी बच्चों को ही फस्र्ट डोज लगाया जा सका है। यही नहीं 20 अप्रेल से अब तक महज दो हजार बच्चों को ही सेकंड डोज लग सका है।

समय पर वैक्सीन लगवाना सबसे बेहतर
जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. कमलेश अहिरवार बताते हैं कि 28 दिन के बाद 21 वें दिन के भीतर सेकंड डोज लगवाना सबसे बेहतर होता है। इसके बाद फस्र्ट डोज का असर कम होने लगता है। ऐसे में अगर सेकंड डोज लगवाएंगे तो उसका भी असर कम हो सकता है।

बीते सात दिन में वैक्सीनेशन
तारीख डोज लगे
26 -940
25 -5448
24- 112
23 - 3803
22 -1071
21 -1429
20 -2059


अब तक कुल वैक्सीनेशन

आयु वर्ग डोज
12/14- 55,820
15/17- 2,66,578
18/44-28,65,780
45/60- 8,88,002
60 -4,94,873

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.