scriptSchools to remain closed from May 1 to June 14 | शिक्षा मंत्री का आदेश, इस दिन तक बंद रहेंगे स्कूल | Patrika News

शिक्षा मंत्री का आदेश, इस दिन तक बंद रहेंगे स्कूल

- 15 जून से शुरु होगा नया शिक्षा सत्र
-13 जून से टीचर्स आएंगे स्कूल

भोपाल

Updated: May 04, 2022 12:37:25 pm

भोपाल। बच्चों को भीषण गर्मी के कहर से बचाने के लिए स्कूलों में गर्मी की छुट्टी शुरु हो चुकी है। मध्यप्रदेश में सभी सरकारी स्कूलों में बीती 1 मई से 14 जून तक ग्रीष्मकालीन अवकाश के तहत छुट्टियां कर दी गई है, इससे बच्चों को जहां 45 दिन तक घर में रहने से गर्मी से राहत मिलेगी, वहीं वे छुट्टियों का आनंद भी ले सकेंगे। जानकारी के लिए बता दें कि ग्रीष्मकालीन अवकाश को लेकर स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने भी जानकारी देते हुए बताया था कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 01 मई से 14 जून तक ग्रीष्मकालीन अवकाश की घोषणा की है।

capture.jpg
Schools

प्रदेश में इस बार सरकारी स्कूलों के बच्चों को अप्रैल में नहीं, बल्कि जून में बुलाया जाएगा। अप्रैल में पूरा प्रदेश भीषण गर्मी के चपेट में है। ऐसे में सरकारी स्कूलों में ग्रीष्म अवकाश के बाद ही नया सत्र शुरू किया जा रहा है। इस बार अप्रैल के बदले 15 जून से नया सत्र शुरू होगा। 1 मई से 14 जून तक स्कूलों में छुट्टी घोषित की गई है और 15 जून से नया शिक्षा सत्र प्रारंभ होगा।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की भी होगी पढ़ाई

मध्य प्रदेश के सरकारी स्कूलों में अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस विषय की पढ़ाई भी करवाई जाएगी। मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने आज यानी 13 अप्रैल 2022 को एमपी बोर्ड सिलेबस में बदलाव की घोषणा की है। इस शैक्षणिक सत्र से एमपी बोर्ड के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले कक्षा 8वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट्स को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) की पढ़ाई भी करवाई जाएगी।

एडमिशन कराने से पहले ध्यान रखें ये बातें

- सबसे पहले घर के आसपास के स्‍कूलों की एक लिस्‍ट तैयार करें। फिर उनमें से उन स्‍कूलों को शार्टलिस्‍ट करें जहां आप एडमिशन के लिए आवेदन करेंगे।

- जिन भी स्‍कूलों को शार्टलिस्‍ट करें उनकी घर से दूरी का ध्‍यान रखें, क्‍योंकि घर से स्‍कूल के बीच की दूरी की दूरी बहुत ज्यादा मायने रखती है।

- अब इन स्‍कूलों में एडमिशन क्राइ‍टीरिया क्‍या है, उन पर गौर करें। स्कूल के माहौल के बारे में भी पूरी तरह से जांच कर लें। कहीं ऐसा न हो कि एडमिशन के बाद आपको किसी तरह का पछतावा हो। आपको बता दें कि बच्चों का स्कूल जितने अच्छे वातावरण में रहेगा बच्चा भी उतनी अच्छी तरह से विकास कर पाएगा। स्कूल के आसपास का वातावरण और स्कूल के अंदर का माहौल दोनों आपके बच्चे के विकास पर असर करता है।

- अगर संभव हो स्‍कूलों में जाएं और वहां की सुविधाओं, फीस आदि के बारे में जानकारी लें. अगर आपके आसपास कोई बच्‍चा वहां पढ़ रहा हो तो उसके माता-पिता से फीडबैक लें।

- लोगों से बात कर स्‍कूलों की फीस, एनुअल चार्ज, एक्‍स्‍ट्रा चार्ज आदि के बारे में पता लगाएं. स्‍कूल बस आदि की उपलब्‍धता का भी पता लगाएं।

- माता-पिता को चाहिए कि वह अपने बच्चे को कैसे स्कूल में एडमिशन करवाना चाहिए जहां पर स्कूल में कैमरा हो और अनजान लोगों को स्कूल के अंदर आना संभव न हो, स्‍कूल वाहन से आते समय सुरक्षा का पूरा प्रबंध हो।

- एक बार सब कुछ क्लीयर होने के बाद जो स्‍कूल आपको हर तरीके से ठीक लग रहा हो वहां पर एडमिशन कराकर सीट सुनिश्चित कर लें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीअब तक 11 देशों में मंकीपॉक्स : 21 मई को WHO की इमरजेंसी मीटिंग, भारत में अलर्ट, अफ्रीकी वैज्ञानिक हैरानफिर महंगी हुई CNG: राजस्थान में दाम सबसे अधिक, Diesel - CNG के दाम में अब मात्र 12 रुपए का अंतर'मैं क्रिकेट खेलना छोड़ दूंगा'- Virat Kohli ने रिटायरमेंट का संकेत देकर चौंकायाअकाली दल के दिग्गज नेता व पंजाब के पूर्व मंत्री तोता सिंह का निधन, सरपंच से पार्टी प्रेसिडेंट तक ऐसा था सफरभीषण सडक़ हादसा: पूर्व सांसद के भतीजे समेत 4 की मौत, गैसकटर से काटकर निकाले गए शव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.