दो शिफ्टों में बुलाएंगे बच्चों और शिक्षकों को, स्कूलों ने बनाई नई योजना , व्हाट्सएप पर बनाएंगे ग्रुप

मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा स्कूल खोले जाने को लेकर बनाई जा रही

By: Amit Mishra

Published: 29 May 2020, 06:04 AM IST

भोपाल। मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा स्कूल खोले जाने को लेकर नई योजना बनाई जा रही है। नई योजना को देखते हुए निजी और सरकारी स्कूलों ने भी अपने स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी हैं। कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच सरकारी आदेशों के अलावा भी स्कूल प्रबंधन अपने स्तर पर सुरक्षा के विभिन्न उपायों को लेकर योजना बनाने लगे हैं। हालांकि अभी स्कूल खुलने का कोई निर्णय शासन स्तर पर नहीं हुआ है। लेकिन फिर भी मध्य प्रदेश के रायसेन जिले मेें निजी और सरकारी स्कूलों ने भी अपने स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी हैं।

स्कूलों में पहले से ही काम जारीa
हालांकि इसमें सरकारी स्कूलों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि सरकारी स्कूलों में बच्चों की संख्या अधिक होती है, जबकि उनके मुताबिक बैठक व्यवस्था पर्याप्त नहीं है। ऐसे में ऑनलाइन शिक्षा का विकल्प भी खुला हुआ है। जिस पर सरकारी स्कूलों में पहले से ही काम जारी है।

 

विकल्प पर भी विचार विमर्श जारी
स्कूल खुलने पर व्यवस्थाएं जुटाना खासी परेशानी भरा होगा। ऐसे में बच्चों को दो शिफ्टों में बुलाने के अलावा एक कक्षा के दो या अधिक बैच बनाकर अलग-अलग समय में बुलाने के विकल्प पर भी विचार विमर्श जारी है।


हर बच्चे का लेंगे तापमान रजिस्टर में दर्ज करेंगे
नगर के शाइनिंग पब्लि हायर सेकंडरी स्कूल के संचालक सत्येंद्र सिंह राणा ने बताया कि हम शासन के निर्देशों का इंतजार कर रहे हैं। जब भी निर्देश मिलेंगे स्कूल खोलेंगे। उससे पहले कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। राणा ने बताया कि उन्होंने तय किया है कि नर्सरी और केजी की कक्षाएं शुरू नहीं करेंगे।

व्यवस्था की जा रही
हर बच्चे को एक अलग बैंच पर बिठाया जाएगा, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन पूरी तरह हो। इसके लिए अतिरिक्त फर्नीचर की व्यवस्था की जा रही है। हर बच्चे, शिक्षक, कर्मचारी के लिए मास्क लगाना अनिवार्य होगा। सेनिटाइजर की व्यवस्था स्कूल की ओर से की जाएगी। जरूरत के मुताबिक कक्षाओं के अलग-अलग बैच बनाकर अल्टरनेट दिनों में बुलाया जाएगा। जरूरत पड़ी तो शैक्षणिक स्टॉफ की भर्ती करेंगे।

सलाह देकर भेजा जाएगा
राणा ने बताया कि हर कक्षा में अटेंडेंस के साथ हर बच्चे की थर्मन स्क्रीनिंग की जाएगी और उसका हर दिन का तापमान रजिस्टर में दर्ज किया जाएगा। अधिक तापमान पाए जाने पर तत्काल बच्चे के पालकों को बुलाकर उन्हे इलाज कराने की सलाह देकर भेजा जाएगा।

 

हर बच्चे की सुरक्षा का रखेंगे खयाल
संस्कार पब्लिक स्कूल के संचालक सदस्य अशोक श्रीवास्तव ने बताया कि उन्होंने भी स्कूल खुलने की संभावनाओं को लेकर विचार विमर्श शुरू कर दिया है। स्कूल में बच्चों की सुरक्षा और सोशल डिस्टेंस के साथ अध्ययन, अध्यापन को लेकर योजना बनाई जा रही है।

इंतजाम किए जाएंगे
इतना ही नहीें कक्षा वार बच्चों की संख्या और उनकी बैठक व्यवस्था में छह फीट की दूरी बनाए रखने के मुताबिक इंतजाम किए जा रहे हैं। हर पीरियड के बाद कक्ष को सेनिटाइज करने और बच्चों के हाथ साबुन से धुलवाने के इंतजाम किए जाएंगे। बिना मास्क के बच्चों या स्टॉफ, कर्मचारी को नहीं आने दिया जाएगा। हालांकि इसके इंतजाम स्कूल द्वारा भी किए जाएंगे।

 

व्हाट्सएप ग्रुप बनाएंगे
राधाकृष्णन पब्लिक हायर सेकंडरी स्कूल के संचालक सदस्य मनोज सक्सेना ने बताया कि स्कूल प्रबंधन हर दिन बैठक कर इस मुद्दे पर विचार विमर्श कर रहा है। शासन के आदेश मिलने पर स्कूल खोला जाएगा। लेकिन बच्चों की सुरक्षा को लेकर सभी इंतजाम किए जाएंगे। मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, सेनिटाइजेशन के अलावा बच्चों के स्वास्थ्य की जांच के लिए निजी डॉक्टर को हर दिन स्कूल बुलाया जाएगा। जो हर दिन कम से कम दो बक्षाओं के बच्चों के स्वास्थ की जांच करेंगे। फिलहाल छोटी कक्षाओं को शुरू नहीं करेंगे।


इसके अलावा प्रत्येक कक्षा का व्हाट्सएप ग्रुप बनाया जाएगा। जिसका एडमिन कक्षा प्राभारी को बनाया जाएगा। बैच बनाकर बच्चों को अल्टरनेट दिन बुलाया जाएगा। बाकी बच्चों को ग्रुप पर होमवर्क दिया जाएगा। हर बच्चें के पालक को पूरी योजना और व्यवस्था बताई जाएगी, ताकि वो भी इसके अनुरूप बच्चों को समझा सकें।

स्टॉफ और बच्चों दो शिफ्टों में बुलाएंगे

उत्कृष्ट स्कूल प्राचार्य आनंद शर्मा ने बताया कि स्कूल खोलने के आदेश मिलने से पहले ही हमने तैयारियां शुरू कर दी हैं। योजना के अनुसार हर कक्षा के दो बैच बनाए जाएंगे। ताकि सोशल डिस्टेंसिंग को मैंटेन किया जा सके। एक बैच एक दिन एक बैच दूसरे दिन बुलाया जाएगा।

इसी तरह शिक्षकों को भी दो पाली में स्कूल बुलाएंगे। जरूरत पडऩे पर स्कूल का समय भी बढ़ाया जाएगा। ताकि दो पालियों में पढ़ाई और इसके बीच सेनिटाइजेशन का समय भी मिल सके। स्कूल में बच्चों को हाथ धोने के लिए इंतजाम किए जाएंगे। मास्क हर एक के लिए अनवार्य होगा। इस के अलावा बच्चों की थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था भी की जाएगी।

Show More
Amit Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned