ड्रोन और सीसीटीवी से होगी चंदन की निगरानी

ड्रोन और सीसीटीवी से होगी चंदन की निगरानी

Yogendra Sen | Publish: Feb, 15 2018 10:34:45 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

पिछले एक साल से सक्रिय हैं चंदन तस्कर, वन विभाग के प्रयासों से नहीं रुकी चोरी

भोपाल। सिवनी नार्थ में एक साल से चंदन तस्कर सक्रिय हैं। यहां करीब ३० हेक्टेयर एरिया में फैले चंदन के पेड़ अब बड़े हो गए हैं। इन पेड़ों से तेल भी निकलने लगा है। इस चंदन वन की चौकसी करने के लिए वन विभाग ड्रोन और सीसीटीवी कैमरे लगाने जा रहा है। सिवनी नार्थ क्षेत्र के दोनों तरफ से स्टेट हाइवे और नदी होने से चंदन चोर सक्रिय हैं। हालांकि, यहां दो-तीन साल के दरमियान सुरक्षा गार्ड तैनात किए गए और कई चौकियां भी बनाई गईं, लेकिन चोरी नहीं रुक सकी। अब यहां पांच पक्की चौकियां बनाने और ड्रोन कैमरे से निगरानी के लिए डीएफओ नार्थ ने शासन को प्रस्ताव भेजा है, जिसमें करीब 40 लाख रुपए खर्च का अनुमान है। इसके अलावा चंदन वन की फेंसिंग कर १२ मुख्य स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे।

- कर्नाटक की अपेक्षा तेल भी ज्यादा
नार्थ सिवनी में 30 हेक्टेयर में पुराना चंदन वन है। एक वैज्ञानिक अध्ययन में सामने आया कि इस क्षेत्र के चंदन के पेड़ों से कर्नाटक के चंदन के पड़ों की अपेक्षा तीन गुना ज्यादा तेल निकलता है। इसके अलावा नार्थ सिवनी में पिछले दो-तीन सालों में करीब 300 हेक्टेयर में प्लांटेशन किया गया है।

 

- साउथ सिवनी में कट गए चंदन
साउथ सिवनी में भी पांच हेक्टेयर में चंदन के पेड़ थे। चोरों पूरे पेड़ काट दिए हैं। इस स्थानों पर अब नए सिरे से चंदन के पौधे लगाए गए हैं, जिसकी सुरक्षा के के लिए फेंसिंग की गई है।

नार्थ सिवनी में चंदन के पेड़ काफी पुराने हैं। इसे बचाने के लिए कई स्थानों पर सुरक्षा गार्ड तैनात किए गए हैं। अब फेंसिंग, सीसीटीवी कैमरे और ड्रोन कैमरे लगाए जाएंगे, क्योंकि चंदन तस्कर काफी हाईटेक होते हैं।
- गौरव चौधरी, सीएफओ, सिवनी नार्थ

चंदन की सघन सुरक्षा के लिए सागर और सिवनी डीएफओ को कहा गया है। दोनों जिलों में चंदन के काफी पेड़ हैं। इस एरिया में डीएफओ फेंसिंग और बाउंड्रीवाल भी बना सकते हैं।

- बीके मिश्रा, एपीसीसीएफ, संरक्षण, वन विभाग

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned