अब शहीद टीआई की सब इंस्पेक्टर बेटी करेगी देश सेवा

गृहमंत्री ने फोन लगाया तो हुई भावुक, इंस्पेक्टर यशवंत पाल कोरोना संक्रमण की चपेट में आकर हुए थे शहीद

By: Alok pandya

Published: 10 May 2020, 02:10 AM IST

भोपाल. उज्जैन के नीलगंगा थाने के टीआई यशंवत पाल की कोरोना से जंग में बीते 21 अप्रेल को शहादत के बाद उनकी बेटी फाल्गुनी की सब इंस्पेक्टर पद पर नियुक्ति शनिवार को हो गई। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने फाल्गुनी से वीडियो कॉलिंग के जरिए बात कर उसे शुभकामनाएं दीं। उन्होंने फल्गुनी से कहा कि आप के कंधे पर परिवार की जिम्मेदारी और प्रदेश की सुरक्षा की भी जिम्मेदारी भी है। गृह मंत्री से चर्चा करते हुए फाल्गुनी भावुक हो गई, तो मिश्रा ने उसका ढांढस बंधाया। गृह मंत्री ने फाल्गुनी से कहा, बेटा तुन्हें अगले हफ्ते तक ज्वाइन कर अपने परिवार के साथ ही देश की सेवा की भी जिम्मेदारी निभानी है। फाल्गुनी के पिता यशवंत पाल ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण की चपेट में आए थे। 6 अप्रेल को संक्रमण की पुष्टि हुई थी और उनका निधन इलाज के दौरान हो गया था।

बीमार होने के बावजूद करते रहे ड्यूटी
ज्ञात रहे यशवंत पाल के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार इंदौर के रामबाग स्थित मुक्तिधाम में किया गया था। मुक्तिधाम में ही उनकी तस्वीर रखी गई थी, जिस पर पुष्प अर्पित कर पुलिस अधिकारियों और परिजन ने श्रद्धांजलि अर्पित की। जब बेटी अंतिम दर्शन के लिए पहुंची तो वह पिता की तस्वीर से लिपट गई और दहाड़ मारकर रोने लगी थी। यह दृश्य देख सभी की आंखें नम हो गई थीं। मूलत: बुरहानपुर निवासी पाल के परिवार में पत्नी और दो बेटियां हैं। ईशा अभी पढ़ाई कर रही है। पत्नी मीना पाल तहसीलदार हैं। पाल का परिवार इंदौर के विजय नगर क्षेत्र में रहता है। शहीद पाल की पत्नी तहसीलदार मीना पाल ने रुंधे गले से बताया कि वे बीमार होने पर भी ड्यूटी करते रहे। जब वेंटिलेटर पर थे, तब भी मुस्कुराते रहे। अब पिता की जगह बेटी भी फर्ज का दायित्व निभाएगी।

Alok pandya Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned