आबादी के बीच शिफ्ट की शराब दुकान, दिन रात लगेगा शराबियों का जमावड़ा, महिलाओं ने किया विरोध

- 80 फीट रोड पर चल रहे निर्माण के चलते शराब दुकानें की जा रहीं शिफ्ट, नगर निगम के एएचओ भी भूमिका, पहले भी हो चुका है विरोध, यहां बनाया है बड़ा और आरमदायक अहाता

भोपाल. बरखेड़ा पठानी में पंछी विहार के पास शराब दुकानों को शिफ्ट कर आबादी के बीच पहुंचा दिया है। इससे वहां के रहवासियों के लिए समस्या खड़ी हो गई है। क्योंकि दुकान के साथ टिन शेड में एक बड़ा अहाता भी बनाया है। वहां पचास से ज्यादा व्यक्ति बैठकर शराब पी सकते हैं। आस-पास और दुकानें शिफ्ट होने से आबादी का माहौल बिगड़ेगा। शराब पीकर निकलने से आए दिन के झगड़े और छेडख़ानी बढ़ेगी। इसे देखते हुए बुधवार को स्थानीय महिलाओं ने दुकान को वहां से हटाने का विरोध शुरू कर दिया है। दुकान पर पत्थर भी फेंके गए हैं।

पिछले टेंडर में शराब दुकानें 80 फीट रोड पर थीं, यहां पर एक बड़ी कंपनी का प्लांट लगा है इस कारण दुकानों को यहां से शिफ्ट कर दिया गया। जहां ये दुकान शिफ्ट की गई हे वो जगह काटारा हिल्स के व्यक्ति की है। नगर निगम के एएचओ दिनेश पाल की भूमिका भी शिफ्टिंग में बताई जा रही है। लोग तो यहां तक आरोप लगा रहे हैं कि दुकान की शिफ्टिंग में नगर निगम के वाहनों का उपयोग भी किया गया। यह मामला पिछले साल से चल रहा है। कोरोना के दौरान फिर से दुकान शिफ्टि कर दी है।

पहले चलता रहा काम, एक दिन में शिफ्ट कर दी दुकान
जहां दुकानों को शिफ्ट किया गया है वहां पार्र्किंग से लेकर बैठकर शराब पीने तक की पर्याप्त व्यवस्था है। यहां कई दिनों से टिन शेड डालने का काम चल रहा था, लोगों को पता नहीं था, इस कारण विरोध नहीं किया। बुधवार को अचानक यहां शराब दुकानों के बोर्ड टंगे देखे तो भारी संख्या में भीड़ विरोध पर उतर आई। जहां दुकान शिफ्ट की गई है वहां दस हजार स्क्वायर फीट का प्लॉट है। इसको लेकर एसडीएम को ज्ञापन भी सौंपा गया है।

वर्जन
बरखेड़ा पठानी में शराब दुकान के विरोध की जानकारी है, अमला मौके पर है। पुलिस,प्रशासन सभी मिलकर इस मामले का हल निकाल रहे हैं। स्थानीय लोगों से बात की जा रही है।

राजेंद्र जैन, एडीओ, आबकारी विभाग

वर्जन--

मैं वार्ड 16 का एएचओ हूं, मेरा वहां कोई लेना देना नहीं है। मेरा घर जरूर है, अगर नगर निगम की जेसीबी और डम्पर वहां पहुंचने की जानकारी है तो वहां जेसीबी पंक्चर हुई थी। इससे ज्यादा मेरा कोई रोल नहीं है।

दिनेश पाल, एएचओ, नगर निगम

Corona virus
प्रवेंद्र तोमर Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned