scriptshivraj cabinet contemplation camp in pachmarhi | पचमढ़ी में चिंतनः फिर शुरू होगी कन्या विवाह योजना, धूमधाम से बेटियों की शादी कराएगी सरकार | Patrika News

पचमढ़ी में चिंतनः फिर शुरू होगी कन्या विवाह योजना, धूमधाम से बेटियों की शादी कराएगी सरकार

contemplation camp- शिवराज कैबिनेट का दो दिवसीय चिंतन शिविर पचमढ़ी में, देखें अपडेट्स

भोपाल

Updated: March 26, 2022 06:41:11 pm

भोपाल। मध्यप्रदेश के हिल स्टेशन पचमढ़ी में दो दिवसीय चिंतन बैठक की शुरुआत शनिवार को सुबह हो गई। मुख्यमंत्री शिवराज सिहं चौहान ने बैठक की शुरुआत में अपने मंत्रिमंडल के साथियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कई बार मंत्रियों की बैठक होती है तो एसी टेंट, डोम के साथ ही पता नहीं क्या क्या व्यवस्था करने की कल्पना की जाती है, लेकिन हमने तय किया है कि सतपुड़ा पर्वत श्रंखला में स्थित प्राकृतिक सौंदर्य के बीच बैठकर हम प्राकृतिक वातावरण में बगैर किसी आडंबर के हम गंभीर चिंतन करेंगे।

cm-11.png

चौहान ने कहा कि कल शाम तक हमारा चिंतन चलेगा और लगातार हमको सोचना भी है, फैसले भी करने हैं। गहराई से चिंतन भी होगा। चौहान ने कहा कि निश्चित तौर पर इस चिंतन मंथन से जो अमृत निकलेगा, उसको हम जनता के बीच बाटेंगे, जनता के कल्याण के लिए, प्रदेश के विकास के लिए इसका उपयोग करेंगे। चौहान ने कहा कि मेरा कहना है कि 2 दिन सारी चिंताएं छोड़ कर कॉन्स्टिटुएंसी में क्या हो रहा है, क्षेत्र में क्या हो रहा है, दुनिया में क्या हो रहा है। वह सब ठीक-ठाक हो जाएगा, उसकी चिंता न करें।

चिंतन शिविर के दौरान मंत्रियों के समूह ने अलग-अलग विषयों पर अपने प्रजेटेशन दिए। इस पर मंत्रिमंडल के सदस्यों ने सुझाव दिए। इस पर अमल करने के लिए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना, मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना, लालड़ी लक्ष्मी योजना समेत अन्य योजनाओं को नए स्वरूप में सरकार फिर से शुरू करने जा रही है।

Updates

लाड़ली लक्ष्मी योजना को लेकर उत्सव मनाएगी सरकार

शिवराज कैबिनेट के सदस्य विश्वास सारंग ने लाड़ली लक्ष्मी योजना का प्रजेंटेशन दिया। इस पर मंत्रिमंडल के सदस्यों ने अनेक सुझाव दिए। इस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूरे प्रदेश में दो मई को उत्सव मनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी 43 लाख परिवार को इससे जोड़ा जाए।

विजय शाहः एएनएम व जनरल नर्सिंग में लालड़ी लक्ष्मी योजना की बालिकाओं को शिक्षा दें। इससे रोजगार मिलता है।

नरोत्तम मिश्राः कन्या भ्रूण हत्या घटी और इंस्टीट्यूशनल डिलिवरी बढ़ी है। लाड़ली लक्ष्मी योजना से लाभ हुआ है, इसे हाईलाइट करें।

सीएमः लाडली लक्ष्मी उत्सव 2 मई को करे और 2 से 11 मई तय विभिन्न कार्यक्रम करें। सभी 43 लाख परिवार जुड़ें। संभागवार जिले कार्यक्रम करें।

अरविंद भदौरियाः योजना के प्रमाण पत्र में मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के फोटे रखें।
विश्वास सारंगः लाड़ली लक्ष्मी योजना की बालिकाओं के संपर्क में रहने का भी सुझाव दिया। साथ ही लाड़ली लक्ष्मी योजना के नए स्वरूप के नए नाम पर भी विचार करने का सुझाव दिया।

योजना का यह है उद्देश्य

लाड़ली लक्ष्मी योजना के उद्देश्य के बारे में बताया कि इससे बालिका के जन्म के प्रति समाज में सकारात्मक सोच आएगी। बाल विवाह में कमी होगी। बालिकाओं के शैक्षणिक स्तर में सुधार होगा। बालिकाओं के शैक्षणिक स्तर में सुधार होगा। बालिकाओं के अच्छे भविष्य के लिए आधार प्रदान करना। शत-प्रतिशत स्कूल में प्रवेश/ड्रॉपआउट में कमी होगी। जनसंख्या वृद्धि में कमी लाना, लिंगानुपात में सुधार लाना भी इसका प्रमुख उद्देश्य है।

-----------------------------------

अप्रैल से शुरू होगी मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना

तुलसी राम सिलावट ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना का प्रजेंटेशन दिया। इस पर कई मंत्रियों के सुझाव आए और अप्रैल माह से योजना को नए स्वरूप में शुरू करने पर फैसला हो गया।

किसने किया सुझाव दिए

नरोत्तम मिश्राः अपात्र लोग लाभ न ले पाएं, खरीदी पारदर्शी तरीके से हो।
सुरेश धाकड़ः बारात का स्वागत किया जाए, हमारे जनप्रतिनिधि, विधायक बेटी की विदाई करें।
प्रेमसिंह पटेलः बेटी को दिए जाने वाले सामान में बढ़ोत्तरी की जाए।
सीएम - क्या इ-वाउचर दिए जाएं, इस पर विचार करें।

राजवर्धन सिंह दत्तीगांवः जिला व ब्लॉक स्तर पर प्रभारी मंत्री विवाह समितियां गठित करें, वह आयोजन से जुड़ें। एसटी में तड़वी (सामाजिक प्रधान) कराते हैं, तड़वियों को जोड़ें। जिले का जनसम्पर्क विभाग जुड़े। समाज की विभिन्न विवाह समितियों को जोड़ें।
कमल पटेलः जो मध्यमवर्ग परेशानी में हैं, उन्हें भी लाभ दें। स्थानीय दानदाताओं को जोड़ें।

सीएमः अब कन्या विवाह योजनाओं को एक ही विभाग द्वारा कराया जाए। प्रमाण-पत्र देंगे। एक बार तिथि तय हो जाए तो तिथि न बदलें, क्योंकि कई बार कुछ स्थानीय समस्याओं के कारण तिथि बदली गई है, हल्दी होने के बाद भी तिथि बदली गई। स्थानीय लोगों की समिति मदद करें। अप्रैल माह में पुनः चालू करें। कन्या विवाह की तिथियों का सालभर का कैलेंडर बना कर जारी करे।

यशोधरा राजे सिंधियाः कुछ लोग छूट जाते हैं, व्यवस्था ऐसी करें कि प्रत्येक आवश्यक व्यक्ति को लाभ मिले।
सीएमः एक ही स्थान पर रखें। गुणवत्ता सुनिश्चित करें, धूमधाम से विवाह करें। अप्रैल माह से योजना पुनः प्रारंभ करें।

-----------------------------------

राशन वितरण की व्यवस्था को मजबूत करेगी सरकार

सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया ने इसका प्रजेंटेशन दिया। इसमें पीडीएस ट्रक्स पर जीपीएस लगाने, सहकारिता समितियों को एलपीजी सिलेंडर, एमपी आनलाइन देयक भुगतान की जरूरत बताई।

प्रद्युम्न सिंह तोमरः गोदाम स्थानीय बनाएं, PDS शॉप्स पर बड़ा बोर्ड लगे। CM और PM की फोटो हो। क्वालिटी पर ध्यान दें। ट्रक वाले अपनी सुविधा से PDS शॉप्स पर जाते हैं। इन ट्रकों का लोन नौजवानों को दें। 20 दिन PDS का काम करें, 10 दिन वे स्वयं चलाएं।

भूपेंद्र सिंहः 1-1 किलो दाल और नमक का पैकेट देने का विचार करे।
प्रभुराम चौधरीः एक दुकान एक ही व्यक्ति को दें।
गोविंद सिंह राजपूतः हम पीडीएस दुकानदार हटा तो देते हैं पर नए को नियुक्त कर ही नहीं सकते। नियुक्ति का अधिकार भी दें।

ओपी सकलेचाः ई-व्हीकल पर पीडीएस बंटे, योजनाओं का प्रचार हो। सीएम और पीएम की ब्रांडिंग हो। हर दुकान पर ई-व्हीकल हो।

कमल पटेलः हर गांव में गोदाम लें, वहीं उपार्जन का गेंहू रखें। वहीं से बांटे, जिससे समय पर बटेगा, क्वालिटी नियंत्रित रहेगी।

तुलसी सिलावटः पीडीएस शॉप पर साइन बोर्ड लगे, कितना लाभ दे रहे हैं, वह भी प्रदर्शित हो।
मोहन यादवः पीडीएस के लिए पक्के /कच्चे मकान पर पुनः विचार करें।
नरोत्तम मिश्राः विक्रेता चक्रानुक्रम से दुकानों पर बैठें, कोई प्राइवेट सिस्टम बनाएं जो वितरण देखें।

मुख्यमंत्री ने दिए यह निर्देश

सीएमः हमें जिम्मेदारी तय करना होगी। दृढ़ इच्छा शक्ति के साथ काम करें। शहरी क्षेत्रों में उपभोक्ता भंडार पर पुनर्विचार करें, स्वरूप बदलें। वर्तमान व्यवस्थाओं में जीरो टॉलरेंस रखें। तकनीकी का इस्तेमाल करें। सेल्स मेन को पर्याप्त राशि दें। हम राशन घर भेंजे तो फर्जी राशन कार्ड समाप्त हो जाएंगे। फर्जी कार्ड निरस्त करे। पीडीएस बहुउद्देशीय करें। एक समिति प्रबंधक- एक दुकान करें।

सीएमः राशन आते ही वितरित हो और हितग्राही को एसएमएस चला जाए। पूरे प्रदेश में सघन जांच हो, अभियान चलाए। फिर पूरी तैयारी से नई व्यवस्था लागू करेंगे।
विजय शाहः पीडीएस शॉप पर सीसीटीवी कैमरा लगाएं।
ओपीएस भदौरियाः स्थानीय अधिकारियों की मिलीभगत रहती है, चिन्हित कर कार्रवाई करें।

-----------------------------------

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना पर बड़ा फैसला, फिर शुरू होगी तीर्थ दर्शन योजना

पर्यटन मंत्री ने प्रस्तुत किया पहला प्रजेंटेशन। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना को पुनः प्रारंभ करने की तैयारी। प्रजेंटेशन समिति में मंत्री उषा ठाकुर, गोविंद राजपूत और मोहन यादव भी हैं। उषा ठाकुर ने प्रस्तुत किया प्रजेंटेशन। कोविड काल में बंद पड़ी योजना को अप्रैल से शुरू करने की योजना। गंगा स्नान, काशी कारीडोर, संत रविदास और कबीरदास के स्थलों के दर्शन के साथ शुरू होगी योजना। बोगी में स्पीकर सिस्टम के माध्यम से तीर्थ स्थलों की विस्तृत जानकारी दी जाएगी।

हवाई यात्रा से भी जुड़े योजना

तीर्थ दर्शन यात्रा के कुछ स्थलों को हवाई तीर्थ दर्शन यात्रा से भी जोड़ा जाएगा। सरकार कुछ तीर्थ स्थलों को वायु मार्ग से भेजने पर विचार करेगी, आज सुझाव आया है, इसे सभी संभावनाओं पर विचार कर जल्द अंतिम रूप दिए जाने के निर्देश दिए गए।

सीएम और मंत्री भी जाएंगे तीर्थ यात्रा पर

पुनः शुरू होने वाली तीर्थ दर्शन यात्रा में मुख्यमंत्री सहित अन्य मंत्री भी ट्रेन में तीर्थ यात्रियों के साथ जाएंगे।


तीर्थ दर्शन योजना के प्रजेंटेशन में आए कई सुझाव

पहले प्रजेंटेशन में मंत्री नरोत्तम मिश्रा, विश्वास सारंग, विजय शाह, यशोधरा राजे, मोहन यादव, राजवर्धन सिंह, तुलसी सिलावट, कमल पटेल ने कई अहम सुझाव दिए।

चंपक झील के सामने हो रही है बैठक

चंपक झील के सामने बने स्थल पर बैठक शुरू हुई। सीएम के संबोधन के बाद 14 जन कल्याणकारी योजनाओं पर मंत्री समूह समितियों की अनुशंसा पर विचार-विमर्श कर रहे हैं। शनिवार शाम सात बजे तक चलने वाली इस बैठक में करीब आधा घंटे तक एक-एक योजना के लिए समय तय किया गया है।

रात एक बजे पचमढ़ी पहुंचे मंत्री

इधर, शुक्रवार को रात 8 बजे के करीब भोपाल से रवाना हुए मंत्रियों का काफिला देर रात एक बजे पचमढ़ी पहुंच गया। सीएम चौहान ने पचमढ़ी रवाना होने से पहले कहा था कि दो दिनों तक एकाग्रचित होकर एक लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए एक दिशा में एक मन से संकल्प के साथ विचार-विमर्श होगा। प्रदेश को फिर कैसे तेजी से आगे विकास के रास्ते पर ले जाएं और समाज के सभी वर्गों का कल्याण करें, इसकी रूपरेखा बनाई जाएगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

IPL 2022 MI vs SRH Live Updates : रोमांचक मुकाबले में हैदराबाद ने मुंबई को 3 रनों से हरायामुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...जम्मू कश्मीर के बारामूला में आतंकवादियों ने शराब की दुकान पर फेंका ग्रेनेड,3 घायल, 1 की मौतमॉब लिंचिंग : भीड़ ने युवक को पुलिस के सामने पीट पीटकर मार डाला, दूसरी पत्नी से मिलने पहुंचा थादिल्ली के अशोक विहार के बैंक्वेट हॉल में लगी आग, 10 दमकल मौके पर मौजूदभारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगाकर्नाटक के राज्यपाल ने धर्मांतरण विरोधी विधेयक को दी मंजूरी, इस कानून को लागू करने वाला 9वां राज्य बनाSwayamvar Mika Di Vohti : सिंगर मीका का जोधपुर में हो रहा स्वयंवर, भाई दिलर मेहंदी व कॉमेडियन कपिल शर्मा सहित कई सितारे आए
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.