सीएम हाउस में कमलनाथ से जाकर मिले शिवराज सिंह चौहान, दोनों के बीच 20 मिनट तक हुई बात

शनिवार को बीजेपी पेश कर सकती है सरकार बनाने का दावा


भोपाल/ मध्यप्रदेश में सियासी हलचल बढ़ गई है। सीएम कमलनाथ के इस्तीफे को राज्यपाल ने मंजूर कर लिया है, साथ ही नए सीएम के शपथग्रहण तक पद पर बने रहने का आग्रह किया है। इस बीच पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ से जाकर सीएम हाउस में मुलाकात की। दोनों के बीच करीब बीस मिनट तक बात हुई है। मीटिंग के बाद बाहर निकले शिवराज सिंह चौहान ने मीडिया से बात नहीं की।

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मध्यप्रदेश विधानसभा में दोपहर दो बजे फ्लोर टेस्ट होना था। सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर के बाद बीजेपी और कांग्रेस ने अपने विधायकों के लिए व्हिप जारी किया था। लेकिन कमलनाथ ने शुक्रवार को ही मीडिया को संबोधित करने का फैसला किया था। उसके बाद से ही यह कयास लगाए जा रहे थे कि सीएम अपने पद से इस्तीफा दे सकते हैं।


मीडिया के सामने आने के बाद दोपहर में सीएम कमलनाथ ने पहले अपने कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाई। उसके बाद उन्होंने इस्तीफे का ऐलान कर दिया। फिर राज्यपाल से मुलाकात कर उन्होंने इस्तीफा दे दिया। कमलनाथ ने कहा कि मैं अभी भी एमपी के लोगों की सेवा करता रहूंगा। बीजेपी को हमारा विकास कार्य रास नहीं आया। पहले ही दिन वह सरकार को अस्थिर करने में जुटी हुई थी।


शिवराज से बीस मिनट तक बात हुई
सियासी हलचल के बाद देर शाम शिवराज सिंह चौहान, कमलनाथ से मिलने के लिए सीएम हाउस पहुंचे। दोनों के बीच करीब बीस मिनट तक बात हुई। हालांकि दोनों के बीच किस मुद्दे पर बात हुई, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। सीएम हाउस से निकलकर शिवराज सिंह चौहान हाथ जोड़ते हुए सीधे अपने आवास पर चले गए। शनिवार शाम को बीजेपी विधायक दल की बैठक होनी है।

कमलनाथ ने खाली किया सीएम ऑफिस
वहीं, इस्तीफे के कुछ घंटे बाद ही कमलनाथ ने सीएम ऑफिस को खाली कर दिया। अभी वह सीएम हाउस में बने हुए हैं। उन्होंने कहा है कि मै आपको विश्वास दिलाता हूँ कि हमेशा प्रदेश की जनता के सुख-दुःख में खड़ा रहूंगा, आपके हित के लिए सदैव संघर्षरत रहूंगा। मुझे उम्मीद और विश्वास है कि आपका यही प्रेम-स्नेह-सहयोग मुझे आगे भी मिलता रहेगा।

BJP Congress Kamal Nath
Show More
Muneshwar Kumar
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned