VIDEO: CM बोले, बेटी को ससुराल में इतना प्यार मिले...

VIDEO: CM बोले, बेटी को ससुराल में इतना प्यार मिले...

MP के CM शिवराज सिंह चौहान की बिटिया का विवाह शुक्रवार को पूरे विधि-विधान और रस्मों के साथ चल रहा है। CM और उनकी पत्नी शुक्रवार रात 11 बजे धर्मपुत्री रिंकी का कन्यादान किया।

धर्मबेटी के विवाह समारोह में CM शिवराज सिंह बोले- बेटी के पांव में कांटा न लगे

विदिशा/भोपाल। आज शुभ घड़ी आई है, बेटी रिंकी की शादी हो रही है। हर पिता की इच्छा होती है कि बेटी के पांव में कांटा भी न चुभे, यही मेरा भी भाव है कि उसे ससुराल में इतना प्यार मिले कि मायके की याद न आए। मां साधना सिंह ने बेटी रिंकी को जो संस्कार दिए हैं, उससे वह भी ससुराल में सबका मान रखने का प्रयास करेगी। बेटी के ससुर साहब से भी मुझे यही कहना है कि कहीं कमी रह गई हो तो क्षमा मांगता हूं।

यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी धर्मबेटी रिंकी की वरमाला के पश्चात आशीर्वाद देते हुए कही। वे यह कहते-कहते भावुक हो गए।

कई मंत्री बने घराती
CM की धर्मबेटी के विवाह में शामिल होने के लिए नगर के हजारों लोगों के साथ ही प्रदेश के मंत्री गोपाल भार्गव, विजय शाह, भूपेन्द्र सिंह, रामपालसिंह के अलावा वरिष्ठ नेता अंतरसिंह आर्य, कुसुम मेहंदेले, कमिश्नर एसबी सिंह सहित कई प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद थे।

बारिश आई तो गणपति की शरण
जैसे ही बारात के निकलने का समय हुआ वैसे ही तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई। व्यवस्था गड़बड़ाती देख हड़कम्प मच गया। यह देख घबराए से शिवराज और साधना सिंह सामुदायिक भवन से सीधे मंदिर में गणपति बप्पा की शरण में पहुंचे। वहां दोनों ने ध्यान लगाया, पूजा की और फिर जुट गए व्यवस्थाओं में। कुछ ही देर में पानी और तेज हवाएं थम गईं और बारात दरवाजे पर आ गई।

करते रहे दौड़-भाग 
विवाह समारोह में व्यवस्था करने वाले सैंकड़ों हाथ लगे थे, लेकिन बारात के दरवाजे पर आते ही मुख्यमंत्री एक सामान्य पिता की तरह घबराए से दिखे। वे छोटी सी बात के लिए किसी से कहने की बजाय खुद दौड़ भाग कर रहे थे।

CM ने की बारात की अगवानी
बारिश थमते ही बारात शुरू हुई और बग्गी में बैठे दूल्हे भंवरलाल आतिशबाजी, बैंडबाजे के साथ बारात लेकर दरवाजे पर पहुंचे। यहां इंतजार कर रहे शिवराज सिंह, साधना सिंह और तमाम लोगों ने बारात की अगवानी की। शिवराज सिंह ने दूल्हे का तिलक कर द्वाराचार की रस्म अदा की। साथ ही अपने समधी को भी पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया।

सात फेरों के बाद बेटी की विदाई
शुक्रवार को वरमाला के बाद रात 11 बजे बाद सात फेरों हुए। उसके बाद 12.30 बजे CM की धर्म पुत्री की विदाई हुई। प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान, अरविंद मेनन और गौरीशंकर शैजवार भी मुख्यमंत्री के साथ विदाई समारोह में शामिल हुए।

सुबह से गाए जा रहे थे बधाई गीत
सुबह से ही विवाह की रस्म निभाई जा रही है। शाम 5.45 बजे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंडप में पहुंचे। वे सबसे पहले अपनी बेटी के पास गए और उन्होंने आशीर्वाद दिया और तैयारियों का जायजा लिया था। 

दुल्हन के हाथों में लगी मेहंदी
इधर, उनकी पत्नी साधना सिंह अपने रिश्तेदारों और सहेलियों के साथ मंडप में शादी के रस्में निभा रही हैं। इससे एक दिन पहले भगवान गणेश की पूजा के बाद रिंकी की धर्म मां साधना सिंह ने हाथों पर शगुन की मेहंदी रचाई। इस दौरान मंदिर के पीछे पर्यटन विकास निगम द्वारा बनवाया गया नया सामुदायिक भवन महिला संगीत से गूंज उठा।

भव्य पंडाल की व्यवस्थाएं देखने खुद प्रभारी मंत्री और जिला प्रशासन के अधिकारी पहुंचे। 16 वर्ष से उनकी बिटिया बनकर रह रही रिंकी का विवाह पूरे विधि-विधान और रस्मों के साथ हो रहा है। खुद शिवराज सिंह और साधना सिंह रिंकी का कन्यादान करने वाले हैं।

बारिश ने सीएम को चिंता में डाला
इधर सीएम शिवराज सिंह एवं अनेक मंत्री, विधायक रिंकी की शादी की तैयारियों में व्यस्त हैं, वहीं खुले पंडाल में सारी व्यवस्थाएं जम गई हैं। इसी बीच विदिशा का मौसम बिगड़ जाने से वहां आंधी के साथ हल्की बारिश होने लगी है। हमारे संवाददाता ने खबर दी है कि सभी अधिकारी और मंत्री तेज बारिश की आशंका से चिंतित हैं। व्यवस्थाएं बिगड़ने का खतरा भी बताया जा रहा है।

गौरतलब है कि 15 फरवरी को साधना सिंह ने इसी मंदिर परिसर में रिंकी की सगाई अहमदपुर रोड पर मेडीकल स्टोर के संचालक भंवरलाल से कराई थी। गोद भराई रस्म के बाद दोनों ने एक-दूसरे को सगाई की अंगूठी पहनाई थी। इसके बाद से साधना सिंह शादी की तैयारियों में व्यस्त हो गईं थीं। वे भोपाल से सारी खरीददारी करके विदिशा आईं। मुख्यमंत्री दो बाद विदिशा आए थे और यही कहा था कि साधना, अपनी बेटी की शादी की व्यवस्थाओं में जुटी हैं। गुरुवार को भी वे शादी का काफी सारा सामान साथ लेकर भोपाल से आर्इं। 

सुबह सुन्दरकांड, हवन-पूजा के बाद साधना सिंह ने वैवाहिक रस्मों की शुरुआत कराई। एक मां के रूप में सारी जिम्मेदारियों को निभाते हुए साधना सिंह उत्साह से सबसे व्यवस्थाओं, भोजन आदि के बारे में पूछती रहीं। हालांकि रिंकी के हाथों पर मेहंदी लगाने प्रोफेशनल युवतियां भी आईं, लेकिन एक मां के रूप में साधना सिंह भी अपने आप को रोक नहीं पाईं, और मेहंदी का कोन खुद हाथ में थामकर उन्होंने ही मेहंदी रस्म की शुरुआत की।

देखें वीडियो

यहां देखें विदिशा में शादी की तस्वीरें



(बारात आगमन पर दूल्हे का द्वारचार करते पहुंचे cm शिवराज सिंह और साधना सिंह।)


(बारात आगमन के दौरान अपने समधी का स्वागत करते सीएम शिवराज सिंह चौहान)


(जयमाला के बाद ससुराल पक्ष के लोगों के साथ ग्रुप फोटो)


Shivraj Singh Chouhan Daughter marriage In Vidisha

(शुभ विवाह की तैयारी को लेकर आकर्षक पंडाल सजाया गया था)

Shivraj Singh Chouhan Daughter marriage In Vidisha

Shivraj Singh Chouhan Daughter marriage In Vidisha

(रिंकी को मेहंदी लगातीं सीएम की धर्मपत्नी साधना सिंह। )

Shivraj Singh Chouhan Daughter marriage In Vidisha

(मेहंदी की रस्म के दौरान शादी के गीत गातीं महिलाएं।)

shivraj

(बारात और मेहमानों के लिए पकवान भी बनाए जा रहे हैं)

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned