बिजली गुल होने से वेंटिलेटर बंद, तीन मरीजों की मौत, सीएम ने दिए जांच के आदेश

हमीदिया अस्पताल में बिजली गुल होने से कांग्रेस नेता समेत तीन मरीजों की मौत, कोविड वार्ड के वेंटिलेटर पर थे सभी...।

By: Manish Gite

Published: 12 Dec 2020, 12:41 PM IST

भोपाल। भोपाल के सबसे बड़े हमीदिया अस्पताल में लापरवाही का बड़ा मामला सामने आया है। कोरोना पाजिटिव कांग्रेस नेता पूर्व पार्षद अकबर खान समेत तीन मरीजों की मौत हो गई। कोरोना पीड़ित मरीजों के वार्ड की बिजली गुल हो जाने के बाद तीनों की हालत गंभीर हो गई। मुख्यमंत्री डेढ़ घंटे तक अस्पताल में अंधेरा छाया रहा और कोरोना मरीजों के वेंटिलेटर बंद हो गए। मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जांच के निर्देश दिए हैं, वहीं चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने पीडब्ल्यूडी इंजीनियर को निलंबित करने के साथ ही डीन और अस्पताल अधीक्षक को नोटिस थमाया है।

हमीदिया अस्पताल के कोविड वार्ड में भर्ती तीन मरीजों की मौत हो गई। इस वार्ड में मरीज वेंटिलेटर पर थे और बिजली गुल हो जाने के कारण उनकी जान चले गई।

 

 

 

मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हमीदिया अस्पताल के कोरोना वार्ड में बिजली गुल मामले में भोपाल संभाग आयुक्त कवींद्र कियावत को शाम तक जांच करके रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि यदि ऐसा है तो यह गंभीर लापराही है और शाम तक इसकी रिपोर्ट दी जाए। लापरवाही करने वालों के खिलाफसख्त कार्रवाई की जाएगी।

 

 

कमलनाथ ने घेरा

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलाथ ने ट्वीट के जरिए शिवराज सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि भोपाल के शासकीय हमीदिया अस्पताल के कोरोना वार्ड की बिजली गुल, पॉवर बेकअप फैल, जनरेटर बंद, डीज़ल नहीं, यह कैसी स्वास्थ्य व्यवस्था ?
तीन मरीज़ों की दुखद मौत...बेहद गंभीर लापरवाही, इसके दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो।

कमलनाथ ने अपने ट्वीट में कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएँ बेहाल, शहडोल में भी मासूम बच्चों की मौत का आँकड़ा 21 तक पहुँचा? आख़िर सरकार कब नींद से जागेगी ?

क्या बोले सारंग

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने इस मामले में बयान दिया है। सारंग ने कहा है कि हमीदिया अस्पताल में 3 लोगों की मौत हुई है, ये
दुर्भाग्यपूर्ण है और बड़ी लापरवाही है। हमीदिया अस्पताल में सुबह 5 बजकर 58 मिनिट पर लाइट गई, वहां बैकअप के इंतेज़ाम है। मेंटेनेंस के भी निर्देश दिए गए थे, लेकिन जनरेटर 10 मिनिट के बाद बंद हो गया था। तत्काल प्रभाव से पीडब्ल्यूडी के इंजीनियर को निलंबित कर दिया गया है, डीन को नोटिस दिया गया है। जांच रिपोर्ट आज ही दी जाएगी, जो दोषी है कार्यवाही होगी। हमीदिया प्रशासन ने जो रिपोर्ट दी है, उसके मुताबिक लाइट जाने के कारण मृत्यु नहीं हुई। जिन मरीज़ों को वेंटिलेटर पर रखा था उनका 2 घंटे का बैकअप था। एक घंटे के भीतर बिजली आ गई थी, 3 मरीजो की मौत दुर्भाग्यपूर्ण है।

कांग्रेस ने की इस्तीफे के मांग

इस लापरवाही के उजागर होने के बाद कांग्रेस ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री के इस्तीफे की मांग की है। कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने ट्वीट कर लिखा है कि मध्यप्रदेश की स्वास्थ्य सेवाएं सरकार ने यमराज को सौंप दी है, शहडोल में 18 बेकसूर बच्चों की मौत, ग्वालियर में दलाल कोरोना संक्रमितों को प्लाज्मा बेच रहे हैं, अब राजधानी के हमीदिया में कोरोना वार्ड की बिजली गुल, बैकअप फैल, पूर्व पार्षद की मौत, नाककारा स्वास्थ्य मंत्री इस्तीफा दें।

Kamal Nath Congress
Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned