दुकानदारों ने फुटपाथ पर अतिक्रमण कर रख दिए कूलर, निकलना मुश्किल

लग रहा जाम, वाहन चालक राहगीर परेशान

भोपाल. संत नगर के मुख्य मार्ग स्थित फुटपाथ पर गर्मी का मौसम शुरू होते ही व्यापारियों का कब्जा हो जाता है। इलेक्ट्रिकल व इलेक्ट्रानिक आदि का व्यापार करने वाले दुकानदार कूलर पंखे सहित अन्य सामान फुटपाथ पर रख देते हैं। इससे बाजार आने वाले ग्राहकों सहित दुकानदारों व अन्य लोगों का पैदल चलना भी मुश्किल हो जाता है।

बस स्टैंड से कालिका चौराहे तक बीआरटीएस कारीडोर के दोनों ओर राहगीरों व ग्राहकों की सुविधा के लिए फुटपाथ बनाया गया था, जहां पर व्यापारियों सहित छोटे दुकानदारों ने हाथ ठेले लगाकर कब्जा कर रखा है। ऐसे में राहगीरों को मुख्य मार्ग पर चलना पड़ता है, जिससे हादसे की आशंका बनी रहती है। गर्मी के दिनों में जहां तेज धूप से लोग परेशान हैं तो दूसरी ओर पैदल चलना मुश्किल हो रहा है।

 

रविवार के दिन ज्यादा बिगड़ते हैं हालात
फुटपाथों पर अतिक्रमण होने से संत नगर में हालात बिगड़ रहे हैं। खरीदारी करने ग्राहक दूर दराज से आते हंै रविवार को छुट्टी का दिन होने से बाजार में भीड़ रहती है। पैदल चलने के लिए बनाया गया फुटपाथ अतिक्रमणकारियों की भेंट चढ़ गया है।

फुटपाथ पर कब्जा करने वालों पर कार्रवाई होना चाहिए। दोनों ओर फुटपाथ पैदल चलने वालों के लिए बनाया गया है इसके लिए निगम को सीमांकन करना चाहिए, ताकि दुकान से बाहर सामान न फैलाया जाए।
सुनील शर्मा, राहगीर

गर्मी शुरू होते ही फुटपाथ पर व्यापारी कूलर रखकर कब्जा कर लेते हैं, जिससे ग्राहकों को चलने में परेशानी होती है।
नितेश कुशवाहा, राहगीर

 

निगम व प्रशासन ने तालाब किनारे बनी झुग्गियां हटाई
बैरागढ़ में विगत दिनों जिला प्रशासन व नगर निगम द्वारा संयुक्त रूप से अतिक्रण विरोधी कार्रवाई की गई। इसमें ओल्ड डेयरी फार्म क्षेत्र में तालाब किनारे बनी झुग्गियों को हटाया गया था। यह कार्रवाई सीएम हेल्पलाइन पर हुई शिकायत पर की गई थी। प्रशासन और निगम के अधिकारियों ने पहुंचकर कुछ झुग्गियों में सामान रखा होने से उन्हें खाली करने एक दिन का समय दिया था। शेष बची झुग्गियों को हटाने की कार्रवाई की गई। निगम अमले द्वारा सभी झुग्गियों को तोड़ दिया गया।

जान जोखिम में डाल पार कर रहे फाटक
जान जोखिम में डालकर लोग फाटक पार कर रहे हैं। चंद मिनटों की देरी से वह हादसों को न्यौता दे रहे हैं। बैरागढ़ में फाटक क्रमांक 115 पर लंबे समय से की जा रही मांग के बाद भी ओवरब्रिज का निर्माण नहीं किया जा रहा है। इससे रेलवे फाटक पार जाने वाले इस इलाके के रहवासी जान जोखिम में डाल कर फाटक पार करते हैं। फाटक बंद होने के बाद भी दो पहिया वाहन को नीचे से निकाल रहे हैं। रेलवे फाटक पार करते समय नियमों का पालन करने के प्रति विभाग लोगों को जागरूक करने अभियान चलाता रहता है। फिर भी लोग नियमों का गंभीरता से पालन नहीं कर रहे। इससे हमेशा हादसे का डर बना रहता है।

Rohit verma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned