दूल्हा बने प्रभु श्रीराम, भक्त बने बाराती

आयोजन में दो रथ हुए शामिल, इस बार शामिल नहीं हुई चलित झांकियां

 

By: govind agnihotri

Published: 11 Oct 2021, 01:48 AM IST

भोपाल. नवरात्र की पंचमी पर पुराने शहर से निकलने वाली पारम्परिक राम बारात रविवार को धूमधाम से निकाली गई। इस बार राम बारात का आयोजन कोविड संक्रमण के मद्देनजर गाइडलाइन का पालन करते हुए किया गया। आमतौर पर राम बारात में कई रथ, बग्गियां, चलित झांकियां शामिल रहती थीं। लेकिन इस बार बारात में सिर्फ एक ही रथ शामिल था।
नवरात्र की पंचमी पर हर साल राम बारात का आयोजन किया जाता है। हर साल विद्युत सुसज्जित चलित झांकियों, डीजे, बैंड के साथ राम बारात निकाली जाती थी, लेकिन पिछले साल कोरोना संक्रमण के कारण बारात सादगी के साथ निकाली गई थी। इस बार भी राम बारात का आयोजन कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए किया गया। बारात में भक्त बाराती बनकर शामिल थे। एक रथ पर राम, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न के वेष में कलाकार मौजूद थे। साथ में गुफा मंदिर के महंत रामप्रवेशदास महाराज भी शामिल थे।

जनकपुरी में हुईं विवाह की रस्में
इसी प्रकार ट्राले में आष्टा का बैंड दल शामिल था। राम बारात देर शाम को मरघटिया महावीर मंदिर शाहजहांनाबाद से प्रारंभ हुई। यह कमाली मंदिर, घोड़ा नक्कास, हनुमानगंज, मंगलवारा, चौक, लोहा बाजार होते हुए रात्रि में जनकपुरी जुमेराती पहुंची। यहां प्रतीकात्मक रूप से विवाह की रस्में अदा की गईं। जनकपुरी पहुंचने के बाद सांकेतिक तौर पर विवाह की रस्म हुई और वरमाला का कार्यक्रम हुआ। इस मौके पर कैलाश बेगवानी, विनोद साहू, प्रमोद नेमा सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

govind agnihotri Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned