इन क्षेत्रों से इतने लोग नहीं पहुंचे दूसरा टीका लगवाने, इनकी लापरवाही कहीं दूसरों पर न पड़ जाए भारी

- पौने चार लाख लोगों में 47 हजार कोवैक्सीन का दूसरा डोज लगाने नहीं पहुंचे, बाकी कोविशील्ड के, 108 स्पूतनिक के

- सभी को एसडीएम, जोन और वार्ड प्रभारियों की आइडी से लगा है पहला डोज, 80 हजार के सर्टिफिकेट नहीं बने

खतरे का अलार्म::

भोपाल. राजधानी में एसडीएम सर्किल, नगर निगम वार्ड, जोन प्रभारियों की तरफ से उनकी आइडी पर लगवाए गए करीब 4 लाख 65 हजार लोग दूसरी डोज लगवाने नहीं पहुंचे। इन लोगों को फोन किए तो काफी लोगों के फोन लगे नहीं, जिनके लगे वे आए नहीं। इसमें कोवैक्सीन लगवाने वाले लगभग 47 हजार और बाकी 4 लाख 18 हजार कोविशील्ड वाले हैं। ऐसे में इनकी फस्र्ट डोज का असर भी कम होता जा रहा है। हाल ही में सामने आई कोरोना पॉजिटिव लिस्ट में सबसे ज्यादा वे लोग ही पॉजिटिव हुए हैं जिनको एक ही डोज लगा है। ऐसे में जिले में घूम रहे करीब चार लाख लोग खतरे का अलार्म बने हुए हैं। शहरी क्षेत्र की बात करें तो एसडीएम गोविंदपुरा सर्किल में सबसे ज्यादा 18 हजार कोविशील्ड वाले और एसडीएम टीटी नगर में 1128 कोवैक्सीन न लगवाने वालों की संख्या है। वहीं नगर निगम के वार्ड 42 में 2309 और 40 में 2005 लोग हैं। दो और सूची जिनमें नगर निगम के जोन और बैरसिया, हुजूर का ग्रामीण क्षेत्र, यूएचबी का है। इसके अलावा करीब 108 लोगों को स्पूतनिक की पहली डोज लगी है। इनको भी दूसरी डोज लगना बाकी है।

सर्किल----------कोवैक्सीन-----कोविशील्ड---कुल

एसडीएम बैरागढ़--0-------------15603---15603
एसडीएम बैरसिया--154----------7836----7990

एसडीएम सिटी---137-----------14201---14338
एसडीएम गोविंदपुरा--0-----------18597----18597

एसडीएम हुजूर-----177----------12404----12581
एसडीएम कोलार---143---------14036-----14179

एसडीएम एमपी नगर---209------7041------7250
एसडीएम टीटी नगर----1128----8956----10084

------------------------------------------
टॉप 10 नगर निगम वार्ड---

वार्ड--------इतने ड्यू
वार्ड 42 ----2309

वार्ड 40---2005
वार्ड 14---1993

वार्ड 8----1947
वार्ड 9---1853

---------------------------
80 हजार के सर्टिफिकेट नहीं बने

जिला प्रशासन के अधिकारियों की मानें तो सेकंड डोज लगने के बाद करीब 80 हजार लोगों के सर्टिफिकेट बने नहीं हैं। ऐसे में उनकी काउंटिग नहीं हो पाई है। इस काउंटिंग के बाद सेकंड डोज न लगवाने वालों की संख्या कोई पौने चार लाख आस-पास रह जाएगी। जिसमें सबसे ज्यादा नगर निगम के वार्ड और जोन प्रभारियों के हिस्से में आएंगे। ये संख्या कोई एक लाख सत्तर हजार से ज्यादा है। एसडीएम सर्किल में करीब एक लाख लोगों को टीका लगाया जाएगा। बाकी जोन अधिकारी की आईडी से लगे हैं।

कोलार और एमपी नगर में लगी स्पूतनिक
राजधानी में 108 लोगों को स्पूतनिक की वैक्सीन लगाई गई है। इसमें से एमपी नगर यूएचबी-5 से 82 और कोलार यूएचबी-1 से 26 लोगों को डोज लगाई गईं हैं। ये किसी निजी कंपनी के अधिकारियों और कर्मचारियों को लगी हैं। इनका डोज भी डयू है।

एक बार फिर घर-घर होगी तलाश

चार लाख लोगों को वैक्सीन का दूसरा डोज पूरा करने के लिए कलेक्टोरेट में बैठक हुई। जिसमें बताया गया कि सभी एसडीएम को दूसरा टीका नहीं लगवाने वाले व्यक्तियों की सूची उपलब्ध कराई जाएगी। स्थानीय स्तर पर महिला एवं बाल विकास विभाग, नगर निगम के कर्मचारी लगातार घर-घर सर्वे कर नागरिकों को दूसरे डोज के लिये चिन्हित कर वैक्सीन लगाएंगे। सभी 85 वार्ड कार्यालय एवं समस्त एसडीएम द्वारा प्रतिदिन लगभग 200 नागरिकों को वैक्सीन लगवाने के लिए सूचना दी जाएगी। भोपाल में प्रथम डोज 19 लाख 72 हजार से अधिक नागरिकों को लगाया जा चुका है जबकि दूसरा डोज लगभग 10 लाख 80 हजार नागरिकों को ही लगा है और 4 लाख 65 हजार से अधिक ऐसे नागरिक है जिन्होंने समय पूर्ण होने पर भी अपना सेकेण्ड डोज नहीं लगवाया है।

वर्जन
जो लोग वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने नहीं पहुंचे हैं, ऐसे लोगों की एक बार फिर से तलाश कराई जाएगी। हमारी कोशिश है कि अगले कुछ हफ्तों में बचे हुए लोगों को सेकंड डोज पूरा करा लिया जाए। इसके लिए सभी को जिम्मेदारी सौंपी है।

संदीप केरकेट्टा, एडीएम

प्रवेंद्र तोमर Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned