खास के सैंपल की जांच तत्काल, आम के लिए है किट की किल्लत

- महज 5000 टेस्ट किट उपलब्ध : पांच अप्रेल तक लिए 2812 सैंपल, 642 की रिपोर्ट बाकी

By: anil chaudhary

Published: 07 Apr 2020, 05:20 AM IST

भोपाल. प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों के बीच खास और आम आदमी के सैंपल को लेकर फर्क साफ दिखने लगा है। आईएएस सहित अन्य अफसरों के सैंपल की जांच में तमाम प्रोटोकॉल ताक पर रख दिए गए हैं। आम लोगों के सैंपल की जांच में किट की कमी आड़े आ रही है। दूसरी ओर सैंपल की संख्या में हर दिन गुणोत्तर बढ़ोतरी हो रही है। अप्रेल के महज पांच दिनों में 2564 सैंपल लिए जा चुके हैं। जबकि, प्रदेश में महज 5000 जांच किट हैं। अब औसतन 500 सैंपल हर दिन लिए जा रहे हैं। जबकि, मार्च में यह 100 से 125 तक थी। सरकार जांच किट बढ़ाने के प्रयास कर रही है, लेकिन जांच में खास और आम के फर्क से चिंता के हालात पैदा हो सकते हैं।
- 642 सैंपल की रिपोर्ट बाकी
चार अप्रेल को तो सैंपल की संख्या बढ़कर 897 तक पहुंच गई थी। स्वास्थ्य पीएस पल्लवी जैन गोविल के कोरोना पॉजिटिव आने के ठीक दूसरे दिन यह संख्या बढ़ी है। इसी दिन आईएएस, राज्य प्रशासनिक सेवा के अफसरों और उनके अमले ने जांच कराई थी। पांच अप्रेल की स्थिति में 642 सैंपल की रिपोर्ट आना बाकी है।

- स्क्रीनिंग का रास्ता इसी कमी के कारण
सरकार ने जांच किट की कमी के कारण स्क्रीनिंग को प्राथमिकता पर रखा है। इसके तहत सामान्य लोगों की पहले मेडिकल जांच होती है। इसमें पल्स, बीपी, ऑक्सीजन और टेम्पे्रचर चेक किया जाता है। यदि यह चारों नॉर्मल हैं, तो कोरोना जांच नहीं की जाती। जबकि, आईएएस सहित अन्य रसूखदारों के मामले में यह प्रक्रिया नहीं अपनाई जा रही है।
- पॉजिटिव के दायरे वालों की जांच
आईएएस अफसरों के मामले में यह तर्क दिया गया है कि पॉजिटिव मरीजों के दायरे वालों का सीधा टेस्ट किया जाता है। लेकिन, इस मापदंड को भी अनदेखा करके इनमें से केवल वीवीआईपी की जांच की गई है।
- सैंपल की स्थिति (5 अप्रेल तक)
2812 लिए
1954 नेगेटिव
216 पॉजिटिव
642 रिपोर्ट बाकी

- अप्रेल किस दिन कितने सैंपल
05 - 518
04 - 897
03 - 683
02 - 127
01 - 339

- यहां है जांच की सुविधा
भोपाल एम्स, जीएमसी भोपाल, बीएचएमआरसी भोपाल, मेडिकल कॉलेज इंदौर, एनआईआरटीएच जबलपुर व डीआरडीई ग्वालियर में जांच की सुविधा है। अब पांच लैब और बनाई जानी हैं, लेकिन इसमें समय लगेगा।

- बढ़ाई जा रही है जांच की क्षमता
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना रिव्यू के तहत जांच की क्षमता को बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। इसके तहत हर दिन औसत 1000 जांच की क्षमता को विकसित किया जा रहा है। हालांकि, अभी इसमें एक हफ्ते का समय लग सकता है।

Corona virus
anil chaudhary Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned