रुतबा तब तक जब तक सरकार: शिवराज

- सब कुछ भूलकर काम में जुट जाओ: वीडी
- विधानसभा उपचुनाव : प्रदेश भाजपा में सभी 27 सीट जीतने पर चर्चा

By: anil chaudhary

Published: 07 Sep 2020, 05:01 AM IST

भोपाल. प्रदेश में 27 विधानसभा उपचुनाव को लेकर भाजपा संगठन तेजी से काम कर रहा है। पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को मंत्रियों के साथ विशेष बैठक की। दूसरे दिन रविवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में मंत्री और संगठन पदाधिकारियों के साथ बैठक हुई। यहां शिवराज ने कहा कि रुतबा तब तक है, जब तक सरकार है, इसलिए सभी 27 सीट जीतना जरूरी है। वहीं, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कि बूथस्तर तक काम में जुट जाओ।
बैठक में एक बार फिर एकजुटता और समन्वय का संदेश दिया गया। विधायक, सांसद, मंत्रियों और पदाधिकारियों को मुख्यमंत्री ने कहा कि नाराजगी भूलकर उपचुनाव के मैदान में उतरना है। हमारा कार्यकर्ताओं से पूरा संवाद बना रहे। जनहित के मुद्दे हर हाल में पूरे किए जाएं। शिवराज ने कहा कि हमें लोगों के बीच कल्याण के काम लेकर जाना है। चौपाल लगाना है।
- लेटर पॉलिटिक्स नहीं करना
शिवराज ने कहा कि केवल लेटर हेड पर नाम लिखवाकर नामधारी होने से काम नहीं चलेगा। हर विधायक, सांसद और मंत्री काम करे। हर मोर्चे का उपयोग करें। लेटर पॉलिटिक्स नहीं करना है। हम आपको सभी संगठनों की लिस्ट भी देंगे उनसे संपर्क साधिए। कांग्रेस के घपले गिनाने हैं।
- वीडी का मंत्र- काम और बस काम
वीडी ने कहा कि अब उपचुनाव जीतने तक बस काम ही काम करना है। सब कुछ भूल कर मैदानी स्तर पर काम में जुट जाओ। भाजपा सरकार ने जो काम किए हैं, उन्हें मैदान में बताने की जरूरत है। पांच महीने में हमने कोरोना से लडऩे से लेकर जनहित के जो कदम उठाए, वह बताए जाएं। कांग्रेस लगभग खत्म हो चुकी है और बस कांग्रेस की अब विदाई करना है।
- फीडबैक लिया
संगठन ने सांसद और विधायकों सहित अन्य नेताओं से फीडबैक भी लिया है। सभी 27 सीटों के लिए अलग-अलग टीमें बनाई गई थीं। इस हिसाब से अब आगे फैसले होंगे। अधिकतर सीटों पर प्रत्याशी लगभग तय है, इस कारण इस बार प्रत्याशी चयन से ज्यादा जोर असंतोष थामने पर है।

- सोशल डिस्टेंसिंग दरकिनार
संगठन की इस बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग दरकिनार कर दी गई। कार्यालय में बैठक व्यवस्था जरूर सोशल डिस्टेंसिंग के हिसाब से की गई थी, लेकिन कार्यक्रम के संचालन से लेकर समाप्ति तक हर स्तर पर नेताओं ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन किया। नेता पास खड़े होकर बतियाते रहे।
- भदौरिया बोले- तो राजनीति से संन्यास ले लूंगा
सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया ने मीडिया से बातचीत में उनके करीबी पर छापे को लेकर कहा कि ऐसा कोई काम नहीं करता कि आंखों मिलाकर बात न कर सकूं। दुनिया की किसी भी एजेंसी से जांच करा लो। रॉ से जांच करा लो। अरविंद भदौरिया जिस दिन गड़बडी में कहीं दिख जाएगा, उस दिन अपने घर बैठकर राजनीति से संन्यास ले लेगा। कटारे का नाम लिए बिना भदौरिया ने कहा कि दिग्विजय सिंह हो चाहे कमलनाथ हो। चाहे सज्जन वर्मा हो और अबोध बच्चों का नाम मैं लेना नहीं चाहता, सबको पता है कौन क्या करता है। गोविंद सिंह की पदयात्रा पर भी भदौरिया ने कटाक्ष किए ।
- चुनावी काम के लिए दिए टिप्स
शिवराज ने कहा-
संकल्प, समन्वय, संवाद और संपर्क के साथ चुनाव में जुटें।
सेक्टर से लेकर पोलिंग बूथ तक कार्यकर्ता संवाद करें।
केंद्र-राज्य की योजना व विकास जनता को बताएं।
कांग्रेस नेता बंगले में और हम मैदान में। यह अंतर बताएं।
कमलनाथ एंड कंपनी ने सिवनी मेडिकल कॉलेज निरस्त कराया।

वीडी ने कहा-
यह चुनाव भाजपा-कांग्रेस के बीच। कांग्रेस झूठी जनता को बताएं।
15 साल का विकास बनाम 15 साल का भ्रष्टाचार, जनता को यह सच्चाई बताएं।
यह चुनाव शिवराज बनाम कमलनाथ-दिग्विजय है, फैसला जनता के हाथ
सरकार के काम-विकास जनता के बीच बताएं।
बूथस्तर तक काम करें, सभी 27 सीट जीतने के लिए काम करें।

anil chaudhary Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned