अजीब परंपरा : बेटी की शादी से पहले पिता को पकड़ने पड़ते हैं 21 जहरीले सांप

दहेज एक सामाजिक कुरीति है, दहेज लेना और देना दोनों ही अपराध हैं, लेकिन मध्यप्रदेश में दहेज में सांप देने की है अजीब परंपरा..

By: Shailendra Sharma

Updated: 26 Jan 2021, 08:10 PM IST

भोपाल. दहेज से जुड़े आपने कई मामले सुने होंगे। दहेज के कारण कई घरों के टूटने के बारे में सुना होगा, दहेज में लाखों रुपए और जेवरात देने के बारे में भी आप जानते होंगे। लेकिन मध्यप्रदेश में एक ऐसी अजीब परंपरा है जिसमें बेटी का पिता दहेज के तौर पर जहरीले सांप देता है। सांप भी ऐसे कि अगर एक बार अगर इंसान को काट लें तो उसकी मौत हो सकती है। प्रदेश में निवास करने वाले एक समुदाय में ये परंपरा आज भी जारी है और ऐसा न करने पर बेटी की जिंदगी में दुखों के आने के बारे में भी कहा जाता है।

 

दहेज में देते हैं जहरीले सांप
दहेज में सोने-चांदी के जेवरात और नकदी से उलट जहरीले सांपों को देने की ये अजीब परंपरा गौरेया समाज की है। गौरेया समुदाय के लोगों में जब भी किसी की भी बेटी की शादी होती है तो उसे दहेज में 21 जहरीले सांप दिए जाते हैं। दहेज में दिए जाने वाले सांप भी विशेष प्रजाति गहुआ और डोमी प्रजाति के होते हैं जो कि काफी जहरीले होते हैं और इनके एक बार काट लेने से इंसान की मौत भी हो सकती है। इतना ही नहीं इन सांपों को पकड़ने का जिम्मा भी बेटी के पिता का ही होता है जो शादी के कई दिनों पहले से सांपों की तलाश में जुट जाता है। माना जाता है कि अगर दहेज में बेटी को 21 सांप नहीं दिए गए तो लड़की की शादी टूट सकती है, उसके साथ कोई अप्रिय घटना घटित हो सकती है और उसकी जिंदगी में और भी कई तरह की परेशानियां आ सकती है।

 

सांप पकड़ने का काम करते हैं गौरेया समाज के लोग
बता दें कि गौरेया समाज जिसमें कि दहेज में जहरीले सांपों को देने की ये अजीब परंपरा है वो पेशे से सांपों को पकड़ने का ही काम करते हैं। सांप का खेल दिखाकर और उनका जहर बेचकर ही समाज के लोगों का जीवनयापन होता है। हालांकि वन विभाग लंबे समय से इस अंधविश्वास को दूर करने का प्रयास कर रहा है लेकिन अभी भी ये परंपरा जारी है।

देखें वीडियो- सीएम से मिलने पहुंचे बुजुर्ग ने अधिकारियों से कहा मिलने दो वरना..

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned