बदल गई है स्टूडेंट्स के पासपोर्ट आवेदन करने की व्यवस्था, जानिए क्या हुआ बदलाव

नाबालिग बच्चों के केस में माता-पिता को एनेक्सर डी में जानकारियां प्रमाणित करवाने के बाद जमा करानी होंगी....

By: Ashtha Awasthi

Published: 06 Jun 2021, 01:52 PM IST

भोपाल। पासपोर्ट बनवाने के लिए कॉलेज जाने वाले स्टूडेंट्स को अब स्थाई के साथ वर्तमान पता भी आवेदन में प्रमाणित करना होगा। नाबालिग बच्चों के केस में माता-पिता को एनेक्सर डी में जानकारियां प्रमाणित करवाने के बाद जमा करानी होंगी।

विदेश मंत्रालय से जारी सूचना के मुताबिक दिनांक 7 जून 2021 से मध्य प्रदेश के सभी 18 डाकघर पासपोर्ट सेवा केंद्र (बालाघाट, बैतूल, छतरपुर, छिंदवाड़ा, दमोह, देवास, धार, ग्वालियर, होशंगाबाद, जबलपुर, रतलाम, रीवा, सागर, सतना, 5 टीकमगढ़, उज्जैन, विदिशा 5 सिवनी ) खुल रहे हैं। आवेदकों की सुविधा के लिए एडवाइजरी जारी की गई है।

MUST READ: यात्रियों के लिए जरुरी खबर, अब ट्रेन में सफऱ के लिए रखनी होगी RTPCR नेगेटिव रिपोर्ट

gettyimages-1146209274-170667a.jpg

आवेदकों के लिए एडवाइजरी

- कॉलेज छात्रों को आवेदन करते समय अब कॉलेज से बोनाफाइड सर्टिफिकेट देना होगा, जिसमें उनका वर्तमान एवं स्थाई पता अंकित होना चाहिए।

- जिन आवेदकों का लॉकडाउन के समय अपॉइंटमेंट रद्द हुआ था वे अपनी सुविधानुसार अपने आवेदन को रिशेड्यूल कर सकते हैं।

- पासपोर्ट आवेदन हेतु विदेश मंत्रालय की अधिकृत वेबसाइट पर अपलोड किया गया है इसलिए फर्जी वेबसाइट पर आवेदन से बचें।

- यदि किसी अवयस्क आवेदक के माता अथवा पिता विदेश में है और बच्चों के लिए पासपोर्ट हेतु आवेदन करते हैं तो विदेश में स्थित माता अथवा पिता को एनेक्सर- डी, भारतीय मिशन अथवा दूतावास से सत्यापित करके भेजना अनिवार्य होगा।

- कोर्ट केस वाले आवेदकों को कोर्ट के अंतिम निर्णय की कोर्ट द्वारा सत्यापित प्रति देना अनिवार्य होगा।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned