सुप्रीम कोर्ट का दिशा निर्देश: हाथ उठाकर मतदान, कार्यवाही का हो लाइव टेलिकास्ट

सदन में हाथ उठाकर वोटिंग होगी और इस पूरी प्रक्रिया की वीडियो रिकॉर्डिंग की जाएगी

By: Devendra Kashyap

Updated: 19 Mar 2020, 07:03 PM IST

नई दिल्ली/भोपाल. मध्यप्रदेश में चल रहे सियासी संकट को सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को लेकर सुनवाई हुई। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला देते हुए कहा कि मध्यप्रदेश विधानसभा में शुक्रवार को ही फ्लोर टेस्ट करवाया जाए। इससे पहले सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने एक सख्त टिप्पणी की थी। शिवराज सिंह चौहान की याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि हम चाहते हैं कि खरीद-फरोख्त ना हो इसके लिए जल्द फ्लोर टेस्ट होना चाहिए।

कोर्ट ने अपने फैसले में क्या निर्देश दिये हैं

सुप्रीम कोर्ट ने इस दौरान आदेश दिया कि सदन में हाथ उठाकर वोटिंग होगी और इस पूरी प्रक्रिया की वीडियो रिकॉर्डिंग की जाएगी। फ्लोर टेस्ट शाम पांच बजे से पहले पूरा करना होगा। आइये जानते हैं कि सुप्रीम कोर्ट ने और क्या निर्देश दिये हैं...

  • 20 मार्च ( शुक्रवार ) को कराया जाए फ्लोर टेस्ट
  • सदन की कार्यवाही का लाइव टेलिकास्ट हो
  • सदन में शांतिपूर्ण मतदान हो
  • हाथ उठाकर सदस्य मतदान करें
  • कार्यवाही की वीडियोग्राफी करायी जाए
  • शाम 5 बजे से पहले फ्लोर टेस्ट करा लें
  • कांग्रेस के बागी 16 विधायकों की सुरक्षा मध्य प्रदेश और कर्नाटक के डीजीपी सुनिश्चित करें

सुप्रीम फैसला पर शिवराज ने क्या कहा

सुप्रीम कोर्ट के फैसले आने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रेस कांफ्रेस कर फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि आज सत्य की जीत हुई है। यह सरकार अल्पमत में है। फ्लोर टेस्ट में कमलनाथ सरकार पराजित होगी। कमलनाथ सरकार ने जनता के साथ धोखा दिया।

BJP Congress
Show More
Devendra Kashyap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned