महासूर्यग्रहण 2018 : इस सूर्यग्रहण पर करें ये छोटा सा अचूक उपाय, बन जाएंगे सभी बिगड़े हुए काम

महासूर्यग्रहण 2018 : इस सूर्यग्रहण पर करें ये छोटा सा अचूक उपाय, बन जाएंगे सभी बिगड़े हुए काम

rishi upadhyay | Publish: Feb, 15 2018 05:02:20 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

सूर्य के ग्रहण लगने के कारण विभिन्न राशि के जातकों पर इसका प्रभाव अवश्य पड़ेगा।

भोपाल। साल 2018 का पहला सूर्यग्रहण 16 फरवरी को पड़ने जा रहा है। चंद्र ग्रहण एवं सूर्य ग्रहण राशियों की चाल को प्रभावित करते हैं, इतना ही नहीं दुनियाभर में हर स्थान के लिए इन ग्रहों के प्रभाव का असर अलग अलग होता है। मध्यभारत और विशेष तौर पर मध्यप्रदेश में इस सूर्यग्रहण को लेकर क्या प्रभाव पड़ेगा और इस क्षेत्र में विभिन्न राशि के जातकों के लिए इस ग्रहण का क्या असर होगा, इस बारे में जानने के लिए हमने बात की भोपाल के पं. भगवती शरण उपाध्याय से।

 

जिन्होंने बताया कि 16 फरवरी को पड़ने वाला सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। यह ग्रहण दक्षिण अमेरिका उरुग्वे और ब्राजील में देखा जा सकता है। लेकिन सूर्य के ग्रहण लगने के कारण विभिन्न राशि के जातकों पर इसका प्रभाव अवश्य पड़ेगा। उन्होंने ये भी बताया कि सूर्यग्रहण के दौरान किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए और किन बातों को करने से बचना चाहिए।

पं. भगवती शरण उपाध्याय के अनुसार रात 12.25 मिनट से शुरू होगा और यह 16 फरवरी सुबह 4.18 बजे तक जारी रहेगा। चूंकि ग्रहण काल में सूर्य भारत में नहीं दिखाई देगा, इसलिए यह रात में ही शुरू हो जाएगा, जो कि सुबह तक चलेगा। एक मान्यता के अनुसार जहां सूर्यग्रहण नहीं दिखाई देता वहां पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। लेकिन राशियों पर पड़ने वाले इसके प्रभाव को कई ज्योतिष बताते हैं।

 

सूर्यग्रहण पर क्या करें और क्या नहीं
राशि पर पड़ने वाले प्रभावों के बारे में जानने से पहले इस बारे में जान लें कि सूर्यग्रहण पर क्या करना चाहिए और क्या नहीं।
- पौराणिक मान्यताओं के अनुसार सूर्यग्रहण के बाद पवित्र नदियों और सरोवरों में स्नान कर देवता की आराधना करनी चाहिए।
- स्नान के बाद गरीबों और ब्राह्मणों को दान देने की परंपरा है। मान्यता है कि इससे ग्रहण के प्रभाव में कमी आती है. यही कारण है कि सूर्यग्रहण के बाद लोग गंगा, यमुना, गोदावरी आदि नदियों में स्नान के लिए जाते हैं और दान देते हैं।
- हिन्दू मान्यता के अनुसार, सूर्यग्रहण में ग्रहण शुरु होने से चार प्रहर पूर्व भोजन नहीं करना चाहिये। बूढ़े, बालक और रोगी एक प्रहर पूर्व तक खा सकते हैं। यह भी माना जाता है कि ग्रहण के दिन पत्ते, तिनके, लकड़ी, फूल आदि नहीं तोड़ना चाहिए।
- मिथक है कि गर्भवती स्त्री को सूर्यग्रहण या चंद्रग्रहण नहीं देखना चाहिए. क्योंकि माना जाता है कि उसके दुष्प्रभाव से शिशु को प्रभावित कर सकता है।
- यह मान्यता भी प्रचलित है कि सूर्यग्रहण के समय बाल और वस्त्र नहीं निचोड़ने चाहिए और दांत भी नहीं साफ करने चाहिए। ग्रहण के समय ताला खोलना, सोना, मल-मूत्र का त्याग करना और भोजन करना - ये सब कार्य वर्जित हैं।
- सूर्यग्रहण या चंद्रग्रहण के दौरान किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत को बिल्कुल मना किया जाता है। मान्यता है कि इस दौरान शुरु किया गया काम अच्छा परिणाम नहीं देता है।


सूर्यग्रहण के दौरान क्या करें गर्भवती महिलाएं
- सूर्यग्रहण व सूतक अवधि में घर से बाहर न निकलें।
- भगवान का जप-ध्यान करें।
- ऐसा भी कहा जाता है कि सूर्यग्रहण पर सूतक से पहले पके हुए भोजन में तुलसी के पत्‍ते डाल देने चाहिए।


पं. भगवती शरण उपाध्याय ने बताया कि 16 फरवरी 2018 को लगने वाला यह आंशिक सूर्य ग्रहण होगा। वैदिक ज्योतिष के अनुसार यह सूर्य ग्रहण शतभिषा नक्षत्र और कुम्भ राशि में लग रहा है। पं. उपाध्याय के अनुसार शतभिषा राहु का नक्षत्र है इसलिए इस नक्षत्र से संबंधित राशि वाले लोगों के लिए यह ग्रहण परेशानी का कारण बन सकता है। हालांकि सिर्फ शतभिषा ही नहीं, सूर्य पर पड़ने वाले असर की वजह से हर राशि पर ग्रहण का प्रभाव भिन्न-भिन्न होगा। आइए आपको भी बताते हैं कि 12 राशियों पर इस ग्रहण का क्या क्या प्रभाव पड़ सकता है।

 

मेष - सूर्य ग्रहण के प्रभाव से मेष राशि के जातकों को आर्थिक लाभ की संभावना है। ऐसे जातकों की सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी साथ ही रुके हुए कामों में सफलता मिलेगी. साथ ही प्रतिष्ठा में भी वृद्धि होगी. सफलता मिलने की पूरी उम्मीद है।

 

वृषभ - इस राशि के जातक सूर्यग्रहण के दौरान थोड़ा परेशान रह सकते हैं। थोड़ी बेचैनी के साथ ही पारिवारिक जीवन में परेशानी बढ़ सकती है। इसके अलावा परिवार के सदस्यों के स्वास्थ्य के मामले में चिंता हो सकती है।

 

मिथुन - लाभ और उन्नति की संभावना कम है। प्रेम संबंधों को लेकर सचेत रहें, तकरार पैदा हो सकती है। पढ़ाई करने से मन भटकेगा।

 

कर्क - इस राशि के जातकों को संभलकर रहने की जरूरत है, इस दौरान जीवन थोड़ा कष्टकारी रहेगा। अचानक धन हानि और मानहानि हो सकती है।

 

सिंह - किसी से साझेदारी है तो जरा सतर्क रहें। संभलकर काम करना ज्यादा बेहतर रहेगा। जीवन साथी को कष्ट का सामना करना पड़ सकता है। वैवाहिक जीवन में भी उथल-पुथल मच सकती है।

 

कन्या - इस राशि के जातकों के लिए ये समय शुभ फलदायी है। शत्रु और विरोधियों का नाश होगा। हर जगह से अच्छी खबर मिलेगी साथ ही सफलता प्राप्त होने से खुशी मिलेगी।

 

तुला - नाम और प्रसिद्धि पाने के लिए संघर्ष करना पड़ सकता है। तनाव बढ़ने से परेशानी होगी। लंबी दूरी की यात्राएं कष्टकारी हो सकती है।

 

वृश्चिक - वृश्चिक राशि के लिए सूर्यग्रहण उत्तम फल देने वाला है। ऐसे जातकों को सभी क्षेत्रों में लाभ और वृद्धि की संभावना है। धन आगमन के नए साधन बढ़ सकते हैं। करियर और व्यवसायिक क्षेत्र में भी उन्नति होगी।

 

धनु - इच्छाशक्ति में वृद्धि होगी। छोटी यात्रा कर सकते हैं, यात्रा मंगलमय होगी। पारिवारिक संबंधों में सुधार होगा।

 

मकर - मानसिक तनाव बढ़ सकता है, जो कि परेशानी का कारण बनेगा। खर्च बढ़ सकता है। अचानक कोई खर्च आ सकता है। स्वास्थय संबंधी कष्ट हो सकता है। विरोधियों से सतर्क रहें।

 

कुंभ - मानसिक तनाव हावी रह सकता है। सतर्क रहने के साथ ही वाहन चलाने में सावधानी बरतें। इस काल में दुर्घटना की संभावना है। तनाव बढ़ सकता है, लेकिन इसे हावी न होने दें।

 

मीन - इस राशि पर सूर्यग्रहण का मिला-जुला असर होगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। सोच-समझकर बोलें, परिवार में विवाद हो सकता है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned