भय्यू महाराज ने की खुदकुशी, अखिलेश्वरानंद बोले- मैं तो आत्महत्या नहीं करूंगा

Manish Gite

Publish: Jun, 14 2018 06:44:55 PM (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
भय्यू महाराज ने की खुदकुशी, अखिलेश्वरानंद बोले- मैं तो आत्महत्या नहीं करूंगा

भय्यू महाराज ने की खुदकुशी, अखिलेश्वरानंद बोले- मैं तो आत्महत्या नहीं करूंगा

 

भोपाल। मध्यप्रदेश गौसंवर्धन बोर्ड के अध्यक्ष स्वामी अखिलेश्वरानंद का बड़ा बयान आया है। उनका बयान ऐसे समय में आया है जब दो दिन पहले राष्ट्र संत भय्यूजी महाराज ने खुद को गोली मार ली थी।

भय्यूजी महाराज के अंतिम संस्कार के बाद अखिलेश्वरानंद ने कहा है कि मैं आत्महत्या नहीं करूंगा। आत्महत्या करने वाला तो द्वैत वृत्ति का अभ्यस्त है।


एक के बाद एक किए कई ट्वीट
स्वामी अखिलेश्वरानंद ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए। इस ट्वीट को कटाक्ष के रूप में देखा जा रहा है। एक ट्वीट में कैबिनेट दर्जा प्राप्त अखिलेश्वरानंद ने लिखा है कि मित्रों, मैं कभी आत्महत्या नहीं करुंगा। न ही कर सकता हूं। हार मान लेने वाला ही आत्महत्यारा हो सकता है। जहां जय-पराजय समानाधिकरण में हों वहां आत्महत्या का प्रश्न ही नहीं उठता।

 

swami akhileshwaranand

इसके बाद फिर किया ट्वीट
इतना ही नहीं एक ट्वीट में अखिलेश्वरानंद ने अगले ट्वीट में कहा कि आत्महत्या जैसा कठोर कदम उठाने वाला द्वैत वृत्ति का अभ्यस्त होता है। अद्वैत वृत्ति में अवसाद और अवसान का प्रश्न ही उपस्थित नहीं होता।

 

तीसरे ट्वीट में बोली ये बात
स्वामी अखिलेश्वरानंद ने एक अन्य ट्वीट में स्वामी जी ने लिखा है कि आत्महंता वे लोग होते हैं, जो अपने वास्तविक स्वरूप बोध से कोसों दूर होते हैं। अध्यात्म जीवन का एक ही लक्षण है ब्रह्मभूतः प्रसन्नात्मा न शोचति न कांक्षति तत्र को मोहः कः शोकः एकत्वमनुपश्यतः।

 

 

कांग्रेस पर भी किया कटाक्ष
अखिलेश्वरानंद ने अगले ट्वीट में कांग्रेस और मीडिया पर भी निशाना साधा। उन्होंने अपनी भड़ास निकालते हुए लिखा है कि मेरे कांग्रेसी मित्रों को अनर्गल प्रलाप करना बहुत आता है। अखबार वालों को नकारात्मक पहलुओं पर विचार करना और बिना सोचे विचारे लिखना बहुत भाता है। हां कुछ अपवादों को छोड़ दूं तो मुझे संवाद बनाना बहुत अच्छा लगता है, क्योंकि मैंने पुस्तकों में पढ़ा है बोधयंतः परस्पर।

हाल में मिला कैबिनेट दर्ज
राज्य सरकार ने मध्यप्रदेश गोपालन एवं संवर्धन बोर्ड के अध्यक्ष बाबा अखिलेश्वरानंद को कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्रदान किया है। यह आदेश मंगलवार को ही जारी किए गए हैं। हालांकि राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त अखिलेश्वरानंद को सामान्य प्रशासन विभाग ने दोबारा से राज्यमंत्री का दर्जा दे दिया था। लेकिन बाद में गलती सुधारते हुए कैबिनेट मंत्री का दर्जा कर दिया गया। वे तपोनिधि निरंजनी अखाड़ा के महामंडलेश्वर भी हैं।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned