रमजान में इन बातों का रखें विशेष ध्यान, वरना टूट जाएगा आपका रोजा

रमजान में इन बातों का रखें विशेष ध्यान, वरना टूट जाएगा आपका रोजा

By: Ashtha Awasthi

Published: 24 May 2018, 05:37 PM IST

भोपाल। रमजान मुसलमानों के लिए सबसे पाक महीना होता है। इस महीने के दौरान इस्लाम को मानने वाला हर शख्स अल्लाह की इबादत में रोजे (व्रत)रखता है और ऐसा माना जाता है इस महीने में अल्लाह अपने बंदों की दुआएं जल्दी कुबूल करता है और साथ ही उस बंदे के सारे गुनाहों को माफ करता है। इस पाक महीने में हर वो शख्स इबादत के करीब आ जाता है जो आम दिनों दूर रहा करता है। रमजान इस्लामिक कैलेंडर के हिसाब से साल के 9वें महीने में आता है। रोजा रखने के लिए मुस्लिम व्यक्ति सुबह सुरज उगने से पहले खानपान करता है। उसेक बाद सुरज ढ़लने के बाद खाना खाता है। इस महीने में मुसलमान ज्यादा से ज्यादा दान भी करते है।

रमजान आते ही इस्लाम के मानने वालों में एक नया जोश और जज्बा दिखाई देता है.शहर में इफ्तार पार्टीयों का दौर शुरु हो जाता है.मार्केट में तरह तरह के लजीज व्यंजन बनते और बिकते दिखाई देते हैं.पुराने शहर भोपाल में युवा सहरी के समय तक जागते दिखाई देते है.मस्जिदों में चहल पहल बड़ जाती है.सोशल नेटवर्रकिंग साईट्स पर खजूर,शरबत,खीर के फोटो का शेयर होना शुरु हो जाता है.जिसे देखकर ऐसा लगता है ये महीना भुखे रहना कम खाने पीने के ज्यादा है।

अक्सर रोजे रखने को लेकर लोगों के मन में तरह-तरह के सवाल पैदा होते रहते हैं.कुछ लोग ये सोचते है इस पूरे महीने मुसलमान शख्स भुखा रहता है.लेकिन असल माइने में रमजान भुखे रहना का नहीं बल्कि अपनी इच्छाओं पर कंट्रोल करना का,बुराईयों से बचने का,गरीबों के दर्द को महसूस करने का और खुद को अच्छे इंसान बनाने का पूरा प्रोसेस है.

Ramadan

एक रोजदार को इन बातों का जरुर ध्यान रखना चाहिये....

रोजे रखने को लेकर लोगों के जहन में कई सवाल उठते रहते हैं जिसके चलते अनजाने में रोजा मकरूह हो जाता है या फिर टूट जाता है.तो फिर आपको बताते हैं कुछ ऐसी बातें जिन्हें हर रोजदार को जहन में बिठा कर रखनी चाहिए.

1) रोजा रखने वाला शख्स सुबह सुर्योदय से पहले खाता है और फिर सुर्यअस्त के बाद भोजन करता है और दिन भर कुछ भी नहीं खाता-पीता है.न पानी,चाय,जूस,सिगरेट कुछ भी नहीं...

2) रोजें के दौरान नहाते वक्त इस बात का विशेष ध्यान रखें की कहीं नहाते समय आप पानी न निगलें..

3) शारीरीक सबंध बनाना पूरी तरह मना है...

4) किसी भी शख्स औरत, मर्द को बुरी नजर से देखना मना है...

5) गाली देने,ल़़ड़ाई-झगड़ा करने से बचें।

6) उल्टी होने या इंजेक्शन लगने से रोजा टूट जाता है...

7) सही कपड़े पहने और शालीनता से रहें ताकि आपको देखकर किसी रोजदार का ध्यान नहीं भटके..

8) रमजान में भुखे रहकर रोजदार गरीब और असहाय लोगों का दर्द महसूस करना सिखता है.इसी लिए रमजान में ज्यादा खाने से बचे.आप ज्यादा खाएंगे तो रोजे का पूरा फल आपको नहीं मिलेगा.

9) रोजे के दौरान नियत रोजे की ही होनी चाहिए पूरे दिन खाने पीने के बारे में न सोचे,अपना ध्यान अल्लाह की इबादत में रखें.

10) इस महीने जो इबादत की जाती है आम दिनों के मुकाबले ज्यादा बरकती होती है इसलिए ज्यादा से ज्यादा नमाज और कुरान पढ़े.

11) इस महीने ज्यादा से ज्यादा दान करें,गरीबों की मदद करें,रोजेदार को इफ्तार कराएं.

12) सहरी के वक्त खुद भी खाएं और दुसरे के खाने का भी इंतेजाम करे।

13) रोजे के दौरान गंदे चुटकुले,अभद्र भाषा बोलने और सुनने से बचें.

रोजा रखना इस्लाम की पांच बातों में से एक बेहद महत्वपूर्ण बात है,जिसको ऱखना हर बालिग शख्स को जरुरी है। ऐसे में रोजदार को इन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए और गुनाह में शरीक होने से बचना चाहिए।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned