सैम्पल लेते समय बरतें सावधानी ताकि रिजेक्ट न हों, कलेक्शन सिस्टम को और प्रभावी बनाने की जरूरत-संभागायुक्त

- सैम्पलिंग सिस्टम को लेकर संभागायुक्त की बैठक, सैम्पल रिजेक्ट न हो इसके लिए स्टाफ को और ट्रेंड करने के निर्देश

भोपाल. कोरोना संक्रमण की लड़ाई में सैम्पल कलेक्शन और टेस्टिंग को और प्रभावी बनाने की जरूरत है। आने वाले समय को ध्यान में रखते हुए सैम्पल कलेक्शन में लगे मेडिकल स्टाफ को और ट्रैंड करना होगा। ताकि लिए गए सैम्पलों के रिजेक्ट होने की संभावना खत्म होने के साथ समय पर रिजल्ट मिलें। संभागायुक्त कवींद्र कियावत ने ये निर्देश कार्यालय में हुई बैठक में कलेक्टर और सरकारी अस्पताल के मेडिकल स्टाफ को दिए। उन्होंने कहा कि सैम्पल लेते समय हर पहलू पर बारीकी से ध्यान रखा जाए ताकि सैम्पल रिजेक्ट होने की संभावना न के बराबर हो जाए। इसके लिए सैम्पल कलेक्शन में लगे स्टाफ को और ट्रेंड किया जाए। बैठक में ही कलेक्टर अविनाश लवानिया ने डॉक्टरों से कहा कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों और उनकी देखभाल और अन्य मरीजों के इलाज में लगे स्टाफ को अलग रखा जाए। आइसोलशन वार्ड को अधिक सुविधायुक्त बनायें । मध्यम और हाई लक्षण वाले मरीजों की टेस्टिंग को प्राथमिकता दें ।

संभागायुक्त कवीन्द्र कियावत ने कोरोना के मरीजों के उपचार के लिए संस्थान को अधिक सुविधायुक्त और प्रभावी बनाने के निर्देश सोमवार की बैठक में दिए हैं। संभागायुक्त ने कहा कि हमारा यह दायित्व है कि व्यक्तियों को इलाज के साथ साथ उन्हें मानसिक रूप से भी स्वस्थ करें। इसके लिए हमें अपने संस्थान की व्यवस्थाओं, सुविधाओं और भर्ती मरीजों की देखभाल पर विशेष ध्यान देना होगा। उन्होंने निर्देश दिए कि वार्ड में स्वच्छता और साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें । समय पर खाना, दवाईयां दें । तनाव कम करने के लिए लूडो, कैरम जैसे मनोरंजक गेम्स भी खिलाएं।

टीबी अस्पताल पहुंचे संभागायुक्त और कलेक्टर, देखी व्यवस्थाएं

- 60 बेड का कोरोना कोविड सेंटर चल रहा है यहां, इसे और बेहतर करने की तैयारी है

भोपाल. टीबी अस्पताल में 60 बेड का कोरोना कोविड सेंटर चल रहा है। सोमवार को संभागायुक्त कवींद्र कियावत और कलेक्टर अविनाश लवानिया यहां की व्यवस्थाओं को देखने पहुंचे। संभागायुक्त ने कहा कि यहां की व्यवस्थाओं को और बेहतर बनाया जाए। ताकि यहां पर मरीजों को जल्द राहत मिले। यहां सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता किया जाए। यहां आने वाले बीमार और तीमारदारों को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो। संभागायुक्त ने यहां भर्ती मरीजों के स्वास्थ्य के बारे में भी अमले से जानकारी करने के साथ उनको किसी प्रकार की परेशानी न होने के संबंध में दिशा निर्देश भी दिए।

प्रवेंद्र तोमर Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned