कमजोरों की मदद कर उन्हें दे रहे आत्मनिर्भर बनने का मौका, कला से रूबरू करवा रहा शहर का ये युवा

कमजोरों की मदद कर उन्हें दे रहे आत्मनिर्भर बनने का मौका, कला से रूबरू करवा रहा शहर का ये युवा

manish kushwah | Publish: Sep, 08 2018 05:06:45 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

कमजोरों की मदद कर उन्हें दे रहे आत्मनिर्भर बनने का मौका, कला से रूबरू करवा रहा शहर का ये युवा

भोपाल. आधुनिकता के इस दौर में भी कुछ लोग ऐसे हैं जो समाज को नई दिशा देने में शिद्दत से जुटे हुए हैं। प्रोफेसर कॉलोनी निवासी 26 वर्षीय फैजान इन्हीं सार्थक उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए प्रयासरत हैं। 12 बरस से थियेटर से जुड़े मो. फैजान ने संगीत, डांस, गजल आदि कलाओं में न केवल महारत हासिल की है, बल्कि इन विधाओं से उन बच्चों को भी रूबरू करा रहे हैं जो आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से ताल्लुक रखते हैं। वे राजधानी की विभिन्न स्लम बस्तियों में रहने वाले बच्चों को नि:शुल्क ट्रेनिंग देते हैं। फैजान मप्र स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में विशेष प्रस्तुति भी देते हैं।

कला से 'भविष्य गढऩे की पहल'
फैजान के मुताबिक उन्होंने संगीत, डांस, एक्टिंग एवं कला की अन्य विधाओं में कई बच्चों को नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया है। वे स्लम बस्तियों में जाकर इस क्षेत्र में कॅरियर बनाने की सीख देते हैं। उन्होंने बताया कि कुछ बच्चों ने इस क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन कर कॅरियर को नई दिशा एवं ऊंचाई दी है। संगीत का शौक रखने वाली वर्षा आज आगरा स्थित संगीत विद्यालय में बतौर संगीत शिक्षक कार्यरत है, जबकि एक अन्य छात्रा दीपिका एक्टिंग एवं संगीत क्लास का संचालन कर रही है।

हुनर से रोजगार योजना का दिलाया लाभ
मप्र पर्यटन विकास निगम द्वारा संचालित हुनर से रोजगार योजना के जरिये मो. फैजान ने सैकड़ों बच्चों को काबिल बनाया है। फैजान ने यहां बतौर कॉर्डिनेटर सेवाएं दी हैं। इस योजना के तहत आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के बच्चों को रोजगार मूलक कोर्सेस एवं कार्यों की ट्रेनिंग दी जाती है। इस दौरान दो हजार रुपए प्रोत्साहन राशि भी दी जाती है। इस ट्रेनिंग के बाद कई बच्चों को एमपी टूरिज्म एवं निजी हॉटल्स में रोजगार मिला है। फैजान ने संगीत, डांस एवं कला की अन्य विधाओं में कई बच्चों को नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया है।

Ad Block is Banned