कमलनाथ और सिंधिया में बढ़ा 'पंगा', मीटिंग के बाद ज्योतिरादित्य हुए 'सॉफ्ट' तो सीएम ने दिखाए तेवर

सीएम कमलनाथ ने सिंधिया को दिया चैलेंज, कहा- उतर जाएं


भोपाल/ मध्यप्रदेश कांग्रेस में अभ पंगा बढ़ गया है। ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ के बीच तनातनी बढ़ गई है। समन्वय समिति की बैठक के बाद सीएम कमलनाथ ने भी तेवर दिखाए हैं। हालांकि बीच में मीटिंग छोड़कर गए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने थोड़ी नरमी जरूर दिखाई है। लेकिन बैठक के बाद कमलनाथ के रुख को देखकर तो यह स्पष्ट हो गया है कि दोनों नेताओं के बीच सब कुछ ठीक नहीं है।

दरअसल, मध्यप्रदेश सरकार गठन के बाद से ही कांग्रेस में गुटबाजी चरम पर है। कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया गुट की लड़ाई अब सार्वजनिक हो गई है। दोनों पक्ष के लोग बयानों के जरिए वार करते रहे हैं। लेकिन इस बार कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया खुलकर सामने आ गए हैं। मध्यप्रदेश दौरे के दौरान सिंधिया ने अतिथि शिक्षकों के समर्थन में कमलनाथ सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरने की बात कही थी। उसके बाद सीएम कमलनाथ ने सोनिया गांधी से ज्योतिरादित्य की शिकायत की थी।

पहली ही बैठक में खटपट
कुछ महीने पहले कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी कांग्रेस शासित राज्यों में सरकार और सगठन के बीच समन्वय स्थापित करने के लिए एक समन्यवय समिति का गठन किया था। मध्यप्रदेश में इसमें सात लोग थे। प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया, सीएम कमलनाथ, पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह, अरुण यादव, मंत्री जीतू पटवारी, कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया और मीनाक्षी नटराजन थी। इसके गठन के बाद दिल्ली में सीएम कमलनाथ के आवास पर पहली बैठक आयोजित की गई थी।


मीटिंग छोड़कर चले गए सिंधिंया
मीटिंग में समन्वय समिति के सभी लोग पहुंचे थे। लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया मीटिंग शुरू होने के कुछ देर बाद ही वहां से निकल गए। इसके बाद यह चर्चा शुरू हो गई कि सीएम के साथ उनकी तनातनी बढ़ गई। लेकिन बैठक समाप्त होने के बाद बाहर निकले दीपक बाबरिया ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है। पहले से उनका कहीं कार्यक्रम तय था। जिसकी जानकारी उन्होंने पहले ही दे दी थी। इसलिए वो बैठक से बाहर गए।

हालांकि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मीटिंग के बाद बहुत ही सॉफ्ट अंदाज में जवाब दिया। उन्होंने कहा कि यह काफी प्रॉडक्टिव मीटिंग थी। हम सकारात्मक रूप से काम करने के लिए आगे बढ़ेंगे।


कमलनाथ ने कहा- उतर जाएं

सिंधिया बैठक के बाद भले ही सॉफ्ट दिखे लेकिन अब सीएम कमलनाथ गरम हो गए हैं। मीटिंग के बाद जब वह अपने आवास से बाहर निकले तो सिंधिया को लेकर उनसे सवाल पूछा गया कि ज्योतिरादित्य सिंधिया सड़क पर उतरने की बात कर रहे हैं। इस पर सीएम ने भी उसी लहजे में जवाब देते हुए कहा कि तो उतर जाएं। उसके बाद वह आगे बढ़ गए।

सोनिया गांधी तक पहुंची शिकायत
ऐसे तो पूर्व में कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच चल रही लड़ाई की बात सोनिया गांधी तक पहुंची है। उन्होंने पंचायत करने की कोशिश भी की लेकिन विवाद का कभी हल नहीं निकला। शुक्रवार शाम को कमलनाथ फिर से सोनिया गांधी से मिले तो उन्होंने प्रदेश की हालात पर उनके साथ चर्चा की। साथ ही ज्योतिरादित्य सिंधिया के मुद्दे पर भी सोनिया गांधी से बात की।


कमलनाथ के तेवर से बढ़ सकता है विवाद
अभी तक ऐसे विवादों पर सीएम कमलनाथ सीधे तौर पर बोलने से बचते रहे हैं। लेकिन आज उन्होंने जिस लहजे में जवाब दिया है, उससे यह संकेत मिल रहे हैं कि इस विवाद का पटाक्षेप फिलहाल नहीं होने वाला है। सिंधिया समर्थकों की चाहत है कि एमपी में संगठन की कमान महाराज को सौंपा जाए। लेकिन कमलनाथ गुट के लोग ऐसा नहीं चाहते हैं। ऐसे में अब खुलकर दोनों के बीच फिर से तल्खियां देखने को मिल रही है।

Congress
Muneshwar Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned