राज्यसभा चुनाव इफेक्ट, मतदान के वीडियो फूटेज खंगाल रहा विधानसभा सचिवालय

कोरोना पॉजिटिव विधायक की देखी जा रही कांटेक्ट हिस्ट्री

भोपाल। राज्यसभा चुनाव के बाद भाजपा विधायक के कोरोना पॉजिटिव आने की सूचना ने विधानसभा सचिवालय की नींद उड़ा दी है। अब सचिवालय संबंधित विधायक की कॉटेक्ट हिस्ट्री तलाश रहा है। इसके लिए राज्यसभा चुनाव के लिए हुए मतदान के वीडियो फूटेज खंगाले देखे जा रहे हैं। यह देखे जाने की कोशिश हो रही है ये विधायक किस-किस के संपर्क में आए हैं। ऐसे लोगों को आगाह किया जाएगा।

भाजपा विधायक ओमप्रकाश सखलेचा मतदान के दौरान सक्रिय थे। इस दौरान उनकी विधानसभा परिसर में कई लोगों से मुलाकात भी हुई थी। इसमें विधायकों के साथ सचिवालय के अधिकारी-कर्मचारी भी शामिल रहे। ऐसे में विधानसभा सचिवालय चाहता है कि उनके संपर्क में आया प्रत्येक व्यक्ति कोविड-19 का टेस्ट करा ले। हालांकि विधानसभा सचिवालय ने सभी विधायकों को सावधानी बरतने और जांच कराने की सलाह दी है, वहीं सचिवालय अधिकारी-कर्मचारियों को भी आगाह कर चुका है। वीडियो फूटेज में जो भी उनके करीब देखे हुए पाए जाएंगे उनसे सचिवालय व्यक्तिगत तौर पर टेस्ट कराने के लिए कहा जाएगा।

सचिवालय ने कर रखे थे बचाव के उपाय -

कोरोना संक्रमण को देखते हुए विधानसभा सचिवालय ने पहले से ही बचाव के उपाय कर रखे थे। मतदान के एक दिन पहले पूरा विधानसभा सचिवालय सेनेटाइज करा दिया गया था। मतदान के दौरान भी प्रत्येक आधे घंटे में सेनेटाइजेशन किया जाता रहा। चुनाव ड्यूटी कर रहे अधिकारी-कर्मचारी मॉस्क बांधने के साथ ग्लब्स भी पहने थे। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए जाने के उन्हें स्पष्ट निर्देश थे। इसका पालन भी नजर आया, फिर भी सचिवालय चाहता है कि संबंधित लोग एहतियात के तौर पर कोविड-19 का टेस्ट करा लें।


अगले माह से शुरू हो रहे सत्र की चिंता -

विधानसभा सचिवालय की चिंता अगले माह 20 जुलाई से शुरू हो रहे विधानसभा के मानसून सत्र को लेकर अधिक है। सत्र के दौरान विधायकों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना सबसे बड़ी चुनौती होगी। इसके लिए मंथन शुरू हो गया है। साथ ही यह भी विचार हो रहा है कि मानसून सत्र में आम लोगों को सदन की कार्यवाही देखने के लिए प्रवेश पत्र जारी न किए जाएं। मीडिया को भी प्रवेश नहीं दिया जाए। सूचना और समाचार के लिए सरकारी मीडिया और न्यूज एजेंसी का सहारा लिया जाए।


अधिकारी बोले -

राज्यसभा मतदान के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा गया था। मतदान के वीडियो फूटेज भी देखे जा रहे हैं। सभी विधायकों, अधिकारी-कर्मचारियों को सलाह दी गई है कि कोरोना के लक्षण पाए जाने पर कोविड-19 की जांच करा लें।
- एपी सिंह, प्रमुख सचिव विधानसभा

दीपेश अवस्थी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned