सरकारी जमीन पर कराई फर्जी रजिस्ट्री, बन रहे भवन

जेसीबी से तोड़ा अतिक्रमण...

By: योगेंद्र Sen

Published: 10 Feb 2018, 11:07 AM IST

भोपाल. करोद स्थित व्यंजन ढाबे के पास पौने दो एकड़ सरकारी जमीन की फर्जी रजिस्ट्री कराने के बाद उसे एक बिल्डर को निर्माण के लिए दे दी। बिल्डर ने करीब 45 आवास के लिए नींव डालकर शटरिंग शुरू कर दी है।

जैसे ही इसकी जानकारी एसडीएम गोविंदपुरा मुकुल गुप्ता को हुई तो वे पुलिस और जेसीबी लेकर मौके पर पहुंए गए। अमले को देखकर वहां काम कर रहे लोग भाग खड़े हुए। एसडीएम ने अपने सामने कब्जे तुड़वाने के बाद जमीन को अपने कब्जे में ले लिया है।

फर्जी रजिस्ट्री और निर्माण कराने वाले बिल्डर के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जा रही है। कलेक्टर गाइडलाइन के अनुसार जमीन की कीमत ३१.५० करोड़ रुपए है। करोद में खसरा क्रमांक १५०/१/२ स्थित पौने दो एकड़ सरकारी जमीन की किसी मोइनउद्दीन नामक व्यक्ति ने फर्जी रजिस्ट्री कराई।

इसके बाद इसे बिल्डर, विनायक होम्स डवलपर के संजय तिवारी को निर्माण का ठेका दे दिया। इसी जमीन पर छह माह पूर्व भी कुछ लोगों ने कब्जा किया था। उस समय चंदन बाई नामक महिला के नाम की आड़ में प्लॉटिंग की जा रही थी। उस समय एफआईआर के डर से ही लोगों ने अपने कब्जे हटा लिए थे। मगर इस बार पूरी तैयारी से कब्जे करना शुरू कर दिया था। कब्जा ढहाते समय किसी ने कोई विरोध नहीं किया।

 

बिल्डर ने करीब 45 आवास के लिए नींव डालकर शटरिंग शुरू कर दी है। जैसे ही इसकी जानकारी एसडीएम गोविंदपुरा मुकुल गुप्ता को हुई तो वे पुलिस और जेसीबी लेकर मौके पर पहुंए गए। अमले को देखकर वहां काम कर रहे लोग भाग खड़े हुए। एसडीएम ने अपने सामने कब्जे तुड़वाने के बाद जमीन को अपने कब्जे में ले लिया है। फर्जी रजिस्ट्री और निर्माण कराने वाले बिल्डर के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जा रही है।

जिन लोगों के नाम सामने आए हैं, उनके खिलाफ संबंधित थाने में एफआईआर करवाई जाएगी।
- मुकुल गुप्ता, एसडीएम गोविंदपुरा

योगेंद्र Sen Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned