सड़कों पर डेढ़ साल से लगते रहे ब्रेक, हुुईं जर्जर

- अब शुरू हुआ काम : ठेकेदारों के सामने मटेरियल और लेबर की समस्या

By: anil chaudhary

Published: 30 Apr 2020, 05:03 AM IST

भोपाल. कभी चुनाव के चक्कर में सड़क निर्माण पर ब्रेक लगा तो कभी सरकारी की माली हालत के कारण सरकार ने इससे हाथ खींच लिए। प्रदेश की सड़कों की सबसे ज्यादा दुर्गति पिछली बारिश में हुई। इसके बाद राजनीतिक घमासान के बीच रुके काम को सत्ता बदलने के बाद कोरोना के लॉकडाउन ने रोक दिया। अब लोक निर्माण विभाग ने इन सड़कों को चकाचक करने की तैयारी शुरू की है।
- काम शुरू हुआ, लेकिन दिक्कत भी
विभाग ने सभी ठेकेदारों को काम शुरू करने के निर्देश दिए हैं। 70 सड़कों पर काम शुरू हो चुका है। यहां मटेरियल और लेबर की समस्या आ रही है। प्रदेश में सबसे ज्यादा खराब सड़कें जिला मुख्य मार्ग (एमडीआर) और राजमार्ग की हैं। ज्यादातर एमडीआर का चौड़ीकरण किया जाना है। इनके लिए सरकार को नेशनल डेवलपमेंट बैंकों से लोन लेना होता है, लेकिन बैंकों की शर्तों के अनुसार पहले सरकार को सड़कें बनानी पड़ती हैं, इसके बाद बैंक लोन देते हैं।
- बारिश में खराब हुई 23704 किमी सड़कें
प्रदेश में औसत से ज्यादा बारिश होने से इस वर्ष सबसे ज्यादा 23 हजार 704 किमी सड़कें खराब हुई हैं। इनमें से 1182.01 किमी सड़कें पूरी तरह से खराब हुई हैं। इनमें भोपाल सर्किल की सड़कें सबसे ज्यादा खराब हैं। इनको दुरुस्त करने के लिए 919 करोड़ खर्च होने प्रारंभिक रिपोर्ट चार माह पहले तैयार किया था। बजट के अभाव में महज पांच हजार किमी सड़कें बन पाई हैं, इसमें भी वह सड़कें थीं, जिनका पेंचवर्क किया जाना था। 1182.01 किलोमीटर सड़कें नए सिरे से बनाई जाना था।


- डेढ़ माह में हजारों किमी सड़कें बनना मुश्किल
लोक निर्माण विभाग के पास सड़कों के निर्माण और मरम्मत के लिए डेढ़ माह का समय है। इस समय में उसे एक हजार से ज्यादा किमी सड़कें नए सिरे से बनाना है। हालांकि, इनका ठेका पहले ही दिया गया था, लेकिन सरकार की वित्तीय स्थिति खराब होने से इनकी गति काफी धीमी पड़ गई थी। अब ठेकेदारों के सामने लेबर और मटेरियल का बड़ा संकट आ गया है। फिलहाल ठेकेदारों के पास जो पहले का रेत, गिट्टी, सीमेंट, डामर सहित अन्य मटेरियल थी उसे से निर्माण कार्य शुरू कराया जा रहा है।

ठेकेदारों को सड़कों और पुल-पुलिया के निर्माण कार्यों को शुरू के निर्देश दिए गए हैं। जिलों से निर्माण के गति की साप्ताहिक रिपोर्ट बुलाई जा रही है। प्रदेश में करीब 70 से अधिक सड़कों के निर्माण कार्य भी शुरू कर दिए गए हैं।
- आरके मेहरा, ईएनसी, लोक निर्माण विभाग

anil chaudhary Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned