बारिश और बाढ़ में क्षतिग्रस्त हुए पुल-पुलिया, नाले का नए सिरे से होगा निर्माण

- शहरों मेंं बाढ़ से हुए नुकसन की 66.43 करोड़ रूपए से होगी भरपाई

- आयुक्त राहत कार्यालय से 66.43 करोड़ रूपए की डिमांड की थी, जिसकी राशि जारी कर दी गई है

By: Ashok gautam

Published: 11 Oct 2021, 10:02 PM IST

भोपाल। बारिश और बाढ़ के चलते निकायों में सैकड़ों पुल-पुलिया, पक्के नालेेे और सड़कें खराब हुई हैं। बाढ़ और बारिश से बससे ज्यादा पक्के निर्माण कार्य भोपाल, इंदौर, ग्वालियर सहित 112 शहरों में क्षतिग्रस्त हुए है। क्षतिग्रस्त पुल-पुलिया, पक्के नालेेे और सड़कों के लिए निकायों ने आयुक्त राहत कार्यालय से 66.43 करोड़ रूपए की डिमांड की थी, जिसकी राशि जारी कर दी गई है। अब इनका नए सिरे से निर्माण किया जाएगा।
सरकार ने निकायों में क्षतिग्रस्त हुए निर्माण को दो माह के अंदर नए सिरे से बनाने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए निकायों को राशि भी जारी कर दी है।

निकायों को कहा गया है कि इन निर्माण कार्यों के लिए जल्द से जल्द टेंडर जारी कर निर्माण कार्य शुरू कराया जाए, जिससे लोगों को आने-जाने में किसी तरह की परेशान ना हो। वहीं यह भी कहा गया है कि जिन निर्माण कार्यों में अनुमान से ज्यादा राशि खर्च हो रही है, उसके लिए अलग से प्रस्ताव तैयार किया जाए। इसके अलावा भी निकायों में जहां सड़के खराब हुई हैं, उनका पेंच वर्क कराने के लिए कहा गया है। इसके लिए निकायों को सरकार ने राशि जारी कर दी है।


खोदी गई सड़कों को तुरंत ठीक कराने के निर्देश
सीवेज, पानी सप्लाई के लिए पाइप लाइन डालने अथवा किसी अन्य कार्य से खोदी गई सड़कों को जल्द से जल्द दुरूस्त करने के निर्देश दिए गए हैं। बताया जाता है कि प्रदेश के करीब दो सौ निकायों में सीवेज नेटवर्क और पाइप लाइन के लिए सड़कें खोदी गई हैं, जिनके पेंच वर्क उस तरह से नहीं किए गए हैं , जैसे की ठेकेदारों को करना था। इस संबंध में निकायों के वारिष्ठ इंजीनियरों को औचक निरीक्षण करने के लिए कहा गया है। जिन क्षेत्रों में ज्यादा समय से सड़कें खुदी होने की शिकायत मिलेगी, उन इंजीनियरों के लिखाफ कार्रवाई का भी प्रावधान किया गया है।

Ashok gautam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned