scriptThe history of the country changed because of Raja Jaichand | राजा जयचंद की वजह से बदला देश का इतिहास | Patrika News

राजा जयचंद की वजह से बदला देश का इतिहास

8वें करुणेश नाट्य समारोह में नाटक 'पृथ्वी राज चौहान' का मंचन

भोपाल

Published: May 04, 2022 12:34:48 am

भोपाल। 8वें करुणेश नाट्य समारोह के अंतिम दिन मंगलवार को नाटक 'पृथ्वीराज चौहान' का मंचन हुआ। नाटक का लेखन, निर्देशन व परिकल्पना आशीष श्रीवास्तव ने की। नाटक में यह बताया गया कि अल्प आयु में भी पृथ्वीराज चौहान ने वीरता के जो कार्य किए, उनके कारण मृत्यु के एक हजार साल बाद भी वह याद हमेशा किए जाते हैं। अगर पृथ्वीराज के विरुद्ध मोहम्मद गौरी का साथ जयचंद ने न दिया होता तो हमारे देश का इतिहास आज कुछ अलग ही होता।

news
8वें करुणेश नाट्य समारोह में नाटक 'पृथ्वी राज चौहान' का मंचन
नाटक में दिखाया गया कि दिल्ली के चक्रवर्ती राजा पृथ्वीराज चौहान से सत्रहवीं बार हार के बाद मोहम्मद गौरी को यह अहसास हो गया कि वह भारत वर्ष के किसी वीर राजा की मदद के बिना पृथ्वीराज को नहीं हराया जा सकता। वह कन्नौज का राजा जयचंद से मित्रता करता है। पृथ्वीराज, मोहम्मद गौरी और जयचंद की सेनाओं के मध्य युद्ध होता है और इस बार पृथ्वीराज की पराजय होती है। 

पृथ्वीराज को मोहम्मद गौरी, गजनी ले जाता है, जहां वह उसकी दोनों आंखों को लोहे की गर्म सलाखों से फुड़वा देता है। पृथ्वीराज तीर चलाकर मोहम्मद गौरी को मार देते हैं। मोहम्मद गौरी के सैनिक पृथ्वीराज पर कोई जुल्म न कर सकें, इसलिए चंद्रबरदाई पृथ्वीराज के पेट में छुरा घोंपकर फिर अपने पेट में छुरा घोप लेता है।

प्रो. रविन्द्र कोरिसेट्टार और डॉ. नारायण व्यास को डॉ. विष्णु श्रीधर वाकणकर राष्ट्रीय सम्मान
भोपाल। डॉ. विष्णु श्रीधर वाकणकर सम्मान से दो विभूतियों को बुधवार को सम्मानित किया जाएगा। प्रो. रविन्द्र कोरिसेट्टार को वर्ष 2010-19 और डॉ. नारायण व्यास को 2019-20 के लिए सम्मानित किया जाएगा। संस्कृति विभाग और संचालनालय पुरातत्व, अभिलेखागार एवं संग्रहालय की ओर से राज्य संग्रहालय सभागार में शाम-4.30 बजे से आयोजित समारोह ये पुरस्कार संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर देंगी। पुरातत्व विभाग द्वारा पुरा सम्पदा के संरक्षण एवं पुरातत्विक संस्कृति के क्षेत्र में रचनात्मक, सृजनात्मकता व विशिष्ट उपलब्धियां अर्जित करने वाले सक्रिय भारतीय नागरिक और संस्था को यह सम्मान दिया जाता है। प्रो. रविन्द्र कोरिसेट्टार ने भारतीय प्रागैतिहास को विश्व में महत्वपूर्ण स्थान दिलाने में अहम योगदान दिया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

अनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनीममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'भाजपा का तुगलगी शासन, हिटलर और स्टालिन से भी बदतर'Haj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हरायालगातार बारिश के बीच ऑरेंज अलर्ट जारी, केदारनाथ यात्रा पर लगी रोक, प्रशासन ने कहा - 'जो जहां है वहीं रहे'‘सिंधिया जिस दिन कांग्रेस छोडक़र गए थे, उसी दिन से उनका बुढ़ापा शुरू हो गया था’Asia Cup Hockey 2022: अब्दुल राणा के आखिरी मिनट में गोल की वजह से भारत ने पाकिस्तान के साथ ड्रा पर खत्म किया मुकाबला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.