scriptBhopali Mango: आम के बाग में 17 प्रजातियां, नूरजहां से लेकर आम्रपाली तक शामिल | The largest mango orchard in Bhopal, where there are 1700 trees of 17 species | Patrika News
भोपाल

Bhopali Mango: आम के बाग में 17 प्रजातियां, नूरजहां से लेकर आम्रपाली तक शामिल

कई देशों तक पहुंचा यहां के आमों का स्वाद, 80 एकड़ में है यह बाग
– आम की कई दुर्लभ प्रजातियां, अभी नूरजहां आम की डिमांड ज्यादा

भोपालJun 09, 2024 / 09:56 pm

शकील खान

भोपाल। देश दुनिया को मशीनरी एक्सपोर्ट करने वाला भेल आम के स्वाद के लिए भी दुनिया में जाना जा रहा है। यहां 17 प्रजातियों के 1700 पेड़ हैं जिसमें दुर्लभ प्रजाति के मल्लिका और आम्रपाली भी शामिल हैं। बाग में नूरजहां आम की डिमांड ज्यादा हैं। इसके करीब डेढ़ सौ पेड़ हैं। यहां के आम कई देशों तक पहुंच चुके हैं।
भेल कारखाने से सटकर लगा यह बागीजा आम की खास वैराइटी के लिए लोगों के लिए आकर्षक का केन्द्र बना हुआ है। आम को फलों का राजा कहा जाता है, वहीं इसमें भी सबसे खास हापुस आम है जो इन दिनों भेल स्थित जवाहर बाग में पाया जा रहा है। इस आम के यहां पर कुछ ही पेड़ बाकी हैं। बाग की देखरेख करने वालों ने बताया कि यहां मल्लिका और आम्रपाली आम भी खास है। ये बताते हैं कि पहले आम की ऐसी वैराइटी तैयार की गई थी जो हर साथ फल देती हैं।

यहां आने वाले साथ ले जाते हैं आम

लोगों ने बताया कि भेल में देश दुनिया से लोग आते हैं। आम की वैराइटी को वे अपने साथ लेकर जाते हैं। अब तक कई देशों तक यहां का आम पहुंच चुका है।

खासियत: पेड़ पर पकने के बाद ही तोड़े जाते हैं आम

सब्जियों से लेकर फलों तक जहां केमिकल का उपयोग हो रहा है वहीं यह बागीजा इसके पूरी तरह मुक्त है। पेड़ पर पकने के बाद ही यहां आम तोड़े जाते हैं। आम लोगों को यह मुहैया है। इनमें कई प्रीमियम क्वालिटी भी हैं। कई लोग सामने आम तुड़कावर भी ले जाते हैं।

ये वैराइटी बनाती हैं खास

आम के इस बाग में 17 प्रजातियां हैं। इनमें कुछ प्रजातियां दुर्लभ हैं। बाग की देखरेख में कई लोग लगे हैं। ये बताते हैं कि यहां लंगड़ा, दसेरी, चौसा, नरगिस, आम्रपाली, कृष्णभोग, जाफरान, कोहेनूर डालर, महाराजा, दय्यड, हिमसागर, मलका, कैसर जैसी कई वैराइटी हैं।

Hindi News/ Bhopal / Bhopali Mango: आम के बाग में 17 प्रजातियां, नूरजहां से लेकर आम्रपाली तक शामिल

ट्रेंडिंग वीडियो