scriptThe MLA kept waiting for his turn to ask questions | सवाल पूछने बारी का इंतजार ही करते रहे विधायक, पर नहीं मिला मौका | Patrika News

सवाल पूछने बारी का इंतजार ही करते रहे विधायक, पर नहीं मिला मौका

सदन में हंगामा के चलते बाधित हुआ प्रश्नकाल

भोपाल

Updated: December 23, 2021 11:50:59 pm

भोपाल। विधानसभा अध्यक्ष ने इस बार से नई परम्परा शुरू की है, जिसके तहत जिन विधायकों के नाम तारांकित सवालों में शामिल होते हैं, उनके साथ चर्चा करते हैं। उन्हें यह बताने की कोशिश होती है कि वे सवालों का दोहराव न करें, सीधे सवाल पूछें। गुरुवार को भी इन्हीं में से कुछ विधायकों के साथ सदन की कार्यवाही शुरू होने के पहले चर्चा की। लेकिन हंगामा शोर शराबा के बीच इन विधायकों को सवाल पूछने का मौका ही नहीं मिला।
सवाल पूछने बारी का इंतजार ही करते रहे विधायक, पर नहीं मिला मौका
सवाल पूछने बारी का इंतजार ही करते रहे विधायक, पर नहीं मिला मौका
विधानसभा में शीतकालीन सत्र के चौथे दिन सर्वसम्मति से संकल्प पारित किया गया कि पंचायत चुनाव ओबीसी आरक्षण के बिना नहीं कराए जाएं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सदन में यह संकल्प रखा, जिसका विपक्षी दल के सदस्यों ने भी समर्थन किया। इसके पहले पंचायत चुनाव में ओबीसी आरक्षण को लेकर सदन में जमकर हंगामा हुआ। प्रश्नकाल इस हंगामे की भेंट चढ़ गया। राज्य सरकार द्वारा पेश किया सप्लीमेंट्री बजट सहित महत्वपूर्ण विधेयक बिना चर्चा पारित हो गए। हंगामा के चलते स्पीकर गिरीश गौतम को सदन की कार्यवाही तीन बार स्थगित करना पड़ी।
नाराज विपक्ष का सदन से वाकआउट -
संकल्प पारित होने के दौरान कमलनाथ कुछ कहना चाह रहे थे, लेकिन स्पीकर ने उन्हें भरोसा दिलाया कि उन्हें बोलने का मौका दिया जाएगा। संकल्प पारित होने के जब वे बोलने के लिए खड़े हुए तो संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि जिस विषय पर संकल्प पारित हो गया, उस विषय पर चर्चा नहीं होती। संसदीय मंत्री के तर्क के बाद स्पीकर ने नेता प्रतिपक्ष को बोलने की अनुमति नहीं दी। इससे नाराज होकर विपक्षी सदस्यों ने आरोप लगाया कि यह तो सीधे तौर पर तानाशाही है। विपक्ष की आवाज दबाई जा रही है। इसके विरोध में उन्होंने सदन से वाकआउट कर दिया।
बिना चर्चा पारित हो गए ये विधेयक -
- मध्यप्रदेश भू-राजस्व संहिता संशोधन विधेयक
- मध्यप्रदेश विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक
- मध्यप्रदेश लोक एवं निजी संपत्ति को नुकसान का निवारण एवं नुकसानी की वसूली विधेयक
- नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक
- मप्र विनियोग विधेयक, हालांकि इस पर कल चर्चा हो चुकी थी, आज भी दो घंण्टे निर्धारित थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रUP Election 2022: भाजपा सरकार ने नौजवानों को सिर्फ लाठीचार्ज और बेरोजगारी का अभिशाप दिया है: अखिलेश यादवतमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला, खत्म होगा नाईट कर्फ्यू और 1 फरवरी से खुलेंगे सभी स्कूल और कॉलेजपीएम नरेंद्र मोदी कल करेंगे नेशनल कैडेट कॉर्प्स की रैली को संभोधित, दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में होगा कार्यक्रम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.