scriptThe officers do not follow the conditions given in the permissions, 'p | अनुमतियों में दी गई शर्तों का पालन नहीं कराते अफसर, बर्बाद हो जाती हैं 'जनता की सड़कें | Patrika News

अनुमतियों में दी गई शर्तों का पालन नहीं कराते अफसर, बर्बाद हो जाती हैं 'जनता की सड़कें

- जिला प्रशासन से जारी होती हैं टेलीफोन, गैस कंपनी की लाइन डालने की अनुमति, इस वर्ष थिंक गैस मिलाकर पांच को जारी हुईं

- नगर निगम सीवर, पानी लाइन की अपने स्तर पर जारी करता है अनुमति, लाारपवाही से खराब हो जाती हैं सड़कें

भोपाल

Published: August 13, 2021 08:01:14 pm

भोपाल. राजधानी में जर्जर हो गईं 200 किमी सड़क की दुर्दशा के पीछे वे जिला प्रशासन, नगर निगम, पीडब्ल्यूडी के वे अफसर भी जिम्मेदार हैं जो सड़कों को खोदने के लिए अनुमति जारी करते हैं। कागजों में दर्शाई गईं शर्तें इतनी सख्त रहती हैं कि जनता परेशान ही न हो। हकीकत उलट रहती है। पत्रिका पड़ताल में सामने आया कि रेस्टोरेशन करते समय 30 फीसदी नियमों का पालन भी नहीं होता। इस कारण करोड़ों रुपए लागत से बिछाई गईं सड़कें कभी सीवर, टेलीफोन, गैस लाइन डालने के नाम पर खोदने के बाद कभी अपने मूल स्वरूप में वापस नहीं आती। उल्टा उनमें गड्ढे हो जाते हैं, सीमेंट की जगह मिट्टी से भराव करने पर सड़क का मूल स्वरूप ही गड़बड़ा जाता है। बरसात में ये सड़कें बैठने लगती हैं। पत्रिका ने शहर की अलग-अलग लोकेशनों पर पड़ताल की तो पता चला अनुमतियां सिर्फ दिखाबा है। हकीकत में अफसर वहां झांकते तक नहीं हैं, कई स्थानों पर ली भी नहीं जाती।

अनुमतियों में दी गई शर्तों का पालन नहीं कराते अफसर, बर्बाद हो जाती हैं 'जनता की सड़कें
नगर निगम सीवर, पानी लाइन की अपने स्तर पर जारी करता है अनुमति, लाारपवाही से खराब हो जाती हैं सड़कें

लाइव-वन::शाहपुरा
डामर की सड़क में मिट्टी का पेंच वर्क

शाहपुरा में पानी लाइन डालने का काम चला। मुख्य तिराहे पर मंदिर के पास ही एक चैंबर बनाया है। कई दिनों तक ये चैंबर खुला रहा। मंगलवार को इसे मिट्टी डालकर बंद कर दिया गया। यहां डामर की सड़क है। नियमानुसार गिट्टी डलवाकर डामरीकरण कराना था, लेकिन इसे ऐसे ही बंद कर दिया। पानी भरने से यहां कीचड़ हो रही है। वाहनों के पहिए भी फंस जाते हैं। स्थानीय रहवासी इंद्र कुमार कौशल बताते हैं कि अब तो फिर भी मिट्टी डल गई, वर्ना यहां से निकलना दूभर था।

लाइव-टू::
दुर्गा चौक, पानी की समस्या दूर की, एक्सीडेंट जोन बना

बावडिय़ाकला रोड और शाहपुरा के बीच में मुख्य मार्ग पर दुर्गा चौक है। यहां बरसातों में सड़क पर पानी भर जाता था। लोगों ने शिकायत की तो नगर निगम सिर्फ नाली की सफाई करके चले गए। रहवासी इंद्र कुमार कौशल ने बताया कि मध्य विधानसभा के विधायक आरिफ मसूद ने अपने कर्मचारी भेजकर इस पाइप को डलवाया है। सही तरीके से काम पूरा न होने के कारण यहां गड्ढढा बन गया है। इसमें कभी भी हादसा हो सकता है। इसकी तो अनुमति भी नहीं हुई।

लाइव-थ्री
गैस लाइन डालने खोदी सड़क और फुटपाथ

थिंक गैस मेसर्स प्राइवेट कंपनी ने गैस लाइन बिछाने के लिए हबीबगंज से मिसरोद तक 1750 मीटर और बंगरसिया से बिलखिरिया तक 2100 मीटर सड़क खुदाई की अनुमति जिला प्रशासन से ली है। इसमें 3 करोड़ 90 लाख की बैंक गारंटी जमा की है। मॉनीटरिंग एजेंसी नगर निगम है, सड़कें ठीक कराने की जिम्मेदारी भी इनकी है। न तो सड़क ठीक हो पा रहीं न फुटपाथ ही सुधरे रहे।

लाइव-फोर
डामर डालने की जगह बजरी, धूल समेट रहे

किलोल पार्क के नजदीक बरसात में उखड़ी सड़क को डामर न डालकर सिर्फ धूल और बजरी समेटी जा रही है। काम करे स्टाफ से पूछा कि पेंच वर्क करने के लिए सफाई कर रहे हो। उन्होंने बताया कि वे सिर्फ बजरी और मिट्टी हटाकर चले जाएंगे। स्थानीय रहवासी आदर्श कुमार ने कहा कि ये सड़क ऐसे स्थान पर खराब हुई है जहां चौराहे जैसा ट्रैफिक है। बजरी से आए दिन हादसे होते हैं।

जिला प्रशासन ने इनको जारी की है अनुमति
- निजी टेलीफोन कंपनी को नरेला शंकरी से करोद के बीच 10 किमी सड़क के किनारे तार डालने की अनुमति। पीडब्ल्यूडी की अनुसंशा पर दी गई। गारंटी में 14 लाख 29 हजार रुपए जमा कराए। ऐसे ही तीन और पूर्व में जारी हुईं।

ये कहता है नियम

- डामर या सीमेंट की सड़क खोदी तो उसमें वही मटेरियल डालना होगा, वर्ना जुर्माना लगेगा।
- पहले 100 मीटर हिस्से को खोदकर उसे दुरुस्त करना होगा, उसके बाद अगले 100 मीटर की खुदाई होगी।

- काम के दौरान ट्रैफिक तक में बाधा उत्पन्न नहीं होना चाहिए। सड़क को जिस अवस्था में खोदा उसी में वापस लाना होगा।
वर्जन

जिन लोगों को अनुमतियां जारी की गईं हैं, उन्होंने कैसा रेस्टोरेशन किया इसकी जानकारी कराई जा रही है। रिपोर्ट आने के बाद उन पर कार्रवाई की जाएगी।
कवींद्र कियावत, संभागायुक्त

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशUttarakhand Election 2022: हरक सिंह रावत को लेकर कांग्रेस में विवाद, हरीश रावत ने आलाकमान के सामने जताया विरोधUP Election 2022 : अखिलेश के अन्न संकल्प के बाद भाकियू अध्‍यक्ष का यू टर्न, फिर किया सपा-रालोद गठबंधन के समर्थन का ऐलानभारत के कोरोना मामलों में आई गिरावट, पर डरा रहा पॉजिटिविटी रेटभगवंत मान हो सकते हैं पंजाब में AAP के सीएम उम्मीदवार! केजरीवाल आज करेंगे घोषणाpm svanidhi scheme: रोजगार करना चाहते हैं तो बिना गारंटी ले लोन, ब्याज पर 7% मिलेगी सब्सिडीसचिन तेंदुलकर के नाक से बह रहा था खून, फिर भी बोला- 'मैं खेलेगा'नोएडा-गाजियाबाद समेत पूरे एनसीआर में 21-23 जनवरी तक बारिश की संभावना: मौसम विभाग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.