scriptThe power and coal crisis of the state is the result of corruption | कमलनाथ बोले- भ्रष्टाचार का नतीजा है राज्य का बिजली व कोयला संकट | Patrika News

कमलनाथ बोले- भ्रष्टाचार का नतीजा है राज्य का बिजली व कोयला संकट

कमलनाथ ने कहा कि संकट से निपटने को लेकर भाजपा सरकार ने कोई प्लानिंग नहीं की

भोपाल

Updated: May 01, 2022 09:05:06 am

भोपाल। राज्य में गहराते बिजली व कोयला संकट पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ (Kamalnath) ने राज्य सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह सब भ्रष्टाचार का नतीजा है। उन्होंने आरोप लगाया कि आज शिवराज सरकार बिना लिए दिए, बिना कमीशन और बिना भ्रष्टाचार (corruption) के कोई सौदा नहीं हो पा रहा है। शनिवार को मीडिया से चर्चा करते हुए उन्होंने यह बात कही।
कमलनाथ बोले, भ्रष्टाचार का नतीजा है राज्य का बिजली व कोयला संकट
कमलनाथ बोले, भ्रष्टाचार का नतीजा है राज्य का बिजली व कोयला संकट
उन्होंने कहा कि पूरा प्रदेश बिजली व कोयला संकट से परेशान चल रहा है। बिजली (power) संकट से आज किसान परेशान है, व्यापारी परेशान है, छात्र परेशान हैं। यह सब पिछले दो वर्ष के भ्रष्टाचार का नतीजा है। भाजपा सरकार बिजली संकट, कोयला संकट को मजाक में ले रही थी। यह स्थिति आज उत्पन्न नहीं हुई है। पिछले दो-तीन महीने से यह संकट दिख रहा था। यह कोई अचानक से बाढ़ या भूकंप नहीं आया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार हमेशा से ही कोयले संकट, बिजली संकट से इंकार करती रही है। इस संकट से निपटने को लेकर भाजपा सरकार ने कोई प्लानिंग नहीं की। जिस प्रकार इन्होंने कोरोना से निपटने की कोई प्लानिंग नहीं की थी, ऐसे ही इन्होंने बिजली संकट-कोयला संकट से निपटने की कोई प्लानिंग नहीं की।
मुझे चुनाव की तैयारी करना थी इसलिए छोड़ा नेता प्रतिपक्ष पद

मेरे ऊपर दोहरी जिम्मेदारी थी, मुझे चुनावी तैयारी भी करना है, इसलिए मैं इस पद को छोडऩा चाहता था। दो माह पहले केन्द्रीय नेतृत्व से आग्रह कर चुका था। मैं चाहता था कि जवाबदारी किसी और को मिले ताकि मैं अपना पूरा ध्यान चुनाव पर लगा सकूँ। कमलनाथ ने स्पष्ट किया कि उन्होंने ही डॉ. गोविंद सिंह के नाम का प्रस्ताव रखा था। केन्द्रीय नेतृत्व ने इसे मान्य कर लिया। एक अन्य सवाल पर कहा कि मिशन 2023 के लिए कांग्रेस पूरी तरह से तैयार है। हर नेता से कांग्रेस को मजबूती मिलती है। भाजपा अपने संगठन की चिंता करे, कांग्रेस के संगठन की चिंता छोड़ दे।
लाउडस्पीकर निजी मामला

लाउडस्पीकर के सवाल पर कहा कि यह एक निजी मामला है, इसको मुद्दा बनाना ठीक नहीं है। लाउडस्पीकर से लोगों की भावनाएं जुड़ी है, पर लाउडस्पीकर भड़काने वाला हो तो उस पर कार्रवाई ज़रूर होना चाहिए। लाउडस्पीकर का उपयोग कई जगह पर होता है, पर इसका दुरुपयोग ना हो, इससे मैं सहमत हूँ।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

लगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआरUP Budget 2022 : देश में पांच इंटरनेशनल एयरपोर्ट और पांच एटीएस वाला यूपी पहला राज्य, होंगी ये बड़ी सुविधाएंराष्ट्रीय खेल घोटाला: CBI ने झारखंड के पूर्व खेल मंत्री के आवास पर मारा छापाIRCTC 21 जून से शुरू करेगी श्री रामायण यात्रा स्पेशल ट्रेन, जानिए इस यात्रा से जुड़ी सभी जानकारीIPL में MS Dhoni, Rohit Sharma, Virat Kohli हुए 150 करोड़ के पार, कमाई जानकर आप हो जाएंगे हैरानइधर भी महंगाई: परिवहन मंत्रालय ने की थर्ड पार्टी बीमा दरों में बढ़ोतरी, नई दरें जारीसुप्रीम कोर्ट ने सेक्स वर्क को भी माना प्रोफेशन, पुलिस नहीं करेगी परेशान, जारी किए निर्देशजर्मनी ने 'Covaxin' को दी मंजूरी, यात्रा करने वाले लाखों लोगों को नहीं दिखाना होगा सर्टिफिकेट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.