MP के इन जिलों को किया लॉक डाउन, 14 दिनों तक रहेगा जारी

कोरोना वायरस को रोकने और और जनता कर्फ्यू का समर्थन करने के लिए लोगों ने आज सुबह नियमित मॉर्निंग वॉक करने वाले लोग आज सुबह मॉर्निंग वॉक पर नहीं गए।

By: Amit Mishra

Updated: 22 Mar 2020, 08:06 AM IST

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई अपील का लोग पालन कर रहे है। रविवार की सुबह से ही लोग अपने अपने घरों के अंदर ही रहें। कोरोना वायरस को रोकने और और जनता कर्फ्यू का समर्थन करने के लिए लोगों ने आज सुबह नियमित मॉर्निंग वॉक करने वाले लोग आज सुबह मॉर्निंग वॉक पर नहीं गए। आप को बता दें कि । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा पूरे देश के लोगों से अपील की गई है कि वे जनता कर्फ्यू को पालन करें और 22 मार्च की सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक सभी अपने घरों के अंदर ही रहेंगे, इस दौरान शाम 5 बजे सभी घरों की दरवाजे, गैलरी या आंगन में खड़े होकर कोरोना वायरस को हराने के लिए जुटे डॉक्टरों, चिकित्साकर्मियों, पुलिस, मीडिया, एयरलाइन और परिवहन सेवाओं से जुड़े योद्धाओं के सम्मान में थाली और ताली बजाएंगे।


इन जिलों को किया लॉक डाउन

मध्य प्रदेश के जबलपुर में कोरोना वायरस के मरीज मिलते ही प्रदेश के आठ जिलों लॉक डाउन कर दिया गया। जिला प्रशासन का कहना है कि कोरोना वायरस संक्रमण से बचान के लिए शनिवार को ही लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है। जिससे की कोरोना वायरस को रोका जा सके और लोगों को इस बीमारी से बचाया जा सके।

14 दिन के लिए लॉक डाउन रहेगा
मध्य प्रदेश के इन जिलों में सिवनी, रीवा,जबलपुर, नरसिंहपुर, बालाघाट, ग्वालियर,छिंदवाड़ा और बैतूल को लॉक डाउन किया गया है। जबलपुर संभाग के नरसिंहपुर में रविवार से 14 दिन के लिए लॉक डाउन रहेगा।

सभी दूकानें रहीं बंद
उधर कोरोना वायरस को रोकने और जनता कर्फ्यू का समर्थन करने के लिए लोगों एक दिन पहले यानि 21 मार्च की शाम को ही घर के सभी जरूरी सामान खरीद लिए। 21 मार्च की शाम को सांची पॉर्लर, समेत होटल रेस्टोरेंट बंद रहे है। सबसे ज्यादा दिक्कतों का सामना लोगों को दूध के लिए करना पड़ा। शानिवार की शाम लोगों दूध के लिए भटकते रहे ,लेकिन कहीं भी दूध नहीं मिला।

Corona virus corona virus in india
Show More
Amit Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned