संकट के समय इन लोगों का कहना है, 'खाना हम खिलाएंगे, आप कोरोना को हराइये'

इस दौर में अनगिनत लोग समस्याओं से गुजर रहे हैं, वहीं मदद के लिए कई लोग सामने आए हैं.....

By: shazeb khan

Updated: 11 May 2021, 06:57 PM IST

भोपाल। कोरोना संक्रमण (coronavirus) के इस दौर में अनगिनत लोग समस्याओं से गुजर रहे हैं। हजारों लोग कोरोना की चपेट में आने के बाद होम आइसोलेशन में हैं तो कुछ लंबे समय से अस्पतालों में एडमिट हैं। इनमें कुछ ऐसे मरीजों के परिजन हैं, जो कई-कई दिनों से अस्पतालों के बाहर डेरा डालकर बैठे हुए हैं।

इन लोगों के सामने खाने-पीने का संकट है। ऐसे ही मरीजों के परिजनों की मदद के लिए शहर के कई लोग सामने आए हैं। जो लगातार इन लोगों को खाना-पानी पहुंचा रहे हैं। इन लोगों का बस यहीं कहना है कि खाना हम खिलाएंगे, आप कोरोना को हराइये।

MUST READ: सेवा भाव: कोरोना संकट काल में मरीजों को परेशान देखा तो घर बेचकर खरीदी एंबुलेंस

photo6111887760022416556.jpg

सभी को आगे आने की है जरुरत

राजधानी के नेहरु नगर में रहने वाले 'हम लोग' शिक्षा एंव समाज कल्याण समिति के अध्यक्ष नीतेश नेमा अपने दोस्तों मुनिन्द्र सिंह, राहुल गजवीय के साथ मिलकर नेक काम कर रहे हैं। कोरोना संकट की दूसरी लहर में वे रोज अस्पतालों के बाहर मरीजों के परिजनों के लिए खाना लेकर पहुंचते है। परिजनों के साथ ही आसपास की बस्तियों में रहने वाले लोगों व बच्चों को खाने के पैकेट दे रहे हैं। उनका कहना है कि इस समय देश पर संकट खड़ा है, इसलिए सभी को आगे आने की जरूरत है।

photo6111887760022416565.jpg

इन लोगों ने लिया है दो वक्त की रोटी का जिम्मा

नीतेश का कहना है कि शहर में लॉकडाउन लगा हुआ है लेकिन गरीब लोगों के लिए ये परेशानी बन रहा है। लॉक डाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए पुलिस लगातार सख्ती कर रही है ताकि लोग घरों में सुरक्षित रह सकें मगर इस लॉकडाउन के कारण कई परिवारों को दो वक्त की रोटी भी नसीब नहीं हो रही।

साथ ही मरीजों के परिजनों के खाने के व्यवस्था भी नहीं हो पा रही है क्योंकि सारे होटल, रेस्ट्रो बंद हैं। ऐसे में इन परिवारों तक भोजन पहुंचाने का जिम्मा हमने लिया है। आगे आने वाले दिनों में भी इस काम के निरंतर जारी रखेंगे।

coronavirus
shazeb khan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned