बड़ी खबर: दिल्ली पुलिस ने पकड़े IS के 3 एजेंट, मध्यप्रदेश से ऐसे जुड़े हैं इनके तार...

- बम भी हुए बरामद
- ट्रेन ब्लास्ट के मामले में हाथ आए संदिग्ध...

भोपाल/ [email protected]राधेश्याम दांगी की रिपोर्ट...

भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में वर्ष 2017 में हुए ब्लास्ट के मामले में एटीएस के हाथ कुछ बड़े सुराग लगे हैं।

सामने आ रही जानकारी के अनुसार भोपाल में ट्रेन में ब्लास्ट करने के लिए इस्तेमाल किए गए बम बरामद कर लिए गए हैं। यह बम दिल्ली पुलिस ने असम के गोलाबारा क्षेत्र से आईएस के एजेंट से बरामद हुए हैं। जिसे लेने के लिए एटीएस की टीम दिल्ली पहुंच कर आरोपियों से पूछताछ कर रही है। पुलिस के हत्थे चढ़ा तीनों आरोपी आइएस के एजेंट बताए जाते हैं।

बड़ी खबर: दिल्ली से पकड़े गए IS के 3 एजेंट, मध्यप्रदेश से ऐसे जुड़े हैं इनके तार...

बम सामग्री बरामद : दिल्ली पुलिस द्वारा पकड़े गए इन आरोपियों से बम बनाने का समान भी मिला है। यह वहीं वाले बम बताए जा रहे हैं, जिनका उपयोग भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ब्लास्ट में किया गया था।

वहीं अब तक भोपाल ट्रेन ब्लास्ट से संबंधित इनपुट को लेकर कोई अधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है।

बड़ी खबर: दिल्ली से पकड़े गए IS के 3 एजेंट, मध्यप्रदेश से ऐसे जुड़े हैं इनके तार...

ऐसे समझें पूरा मामला...
दरअसल वर्ष 2017 में मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से 70 Km दूर भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में सुबह के समय विस्फोट हुआ था। यह घटना कालापीपल रेलवे स्टेशन से महज 15 किमी पहले जबड़ी स्टेशन पर हुई।

train_blast.png

यहां ट्रेन पहुंची तो गार्ड के डिब्बे से ठीक पहले लगे जनरल डिब्बे में तेज धमाके की आवाज सुनाई दी। देखते ही देखते डिब्बे में आग लग गई।

इसकी सूचना मिलते ही तत्कालीन सरकार ने मौके पर MP के DGP ऋषि कुमार शुक्ला और ADG इंटेलिजेंस को भेजा था। घटना में करीब 9 यात्री घायल हुए थे, जिन्हें इलाज के लिए कालापीपल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। जबकि गंभीर रूप से दो घायलों को भोपाल रेफर किया गया था।

इस घटना के समय भोपाल से उज्जैन के लिए चली ट्रेन नंबर 59320 सीहोर स्टेशन क्रॉस करने के बाद जब कालापीपल के पहले पडऩे वाले जबड़ी स्टेशन पर पहुंची, तो ट्रेन के पिछले डिब्बे में धमाके के साथ आग लग गई। ऐसे में लोग जान बचाने के लिए ट्रेन से कूद गए,वहीं जो लोग फंस गए, वो जख्मी हो गए।

सिमी पर था शक...
घटना में ट्रेन में धमाके के बाद बारूद की बदबू आने से अंदाजा लगाया जा रहा है कि यह आतंकी साजिश भी हो सकती है। इसलिए सिमी की करतूत से इनकार नहीं किया जा रहा है।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned