ISI केस: छत्तीसगढ़ से भी चल रहा था जासूसी का रैकेट, MP से जुड़ा है कनेक्शन

ISI केस: छत्तीसगढ़ से भी चल रहा था जासूसी का रैकेट, MP से जुड़ा है कनेक्शन
bhopal

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करनेे वाले बलराम और रज्जन के तार छत्तीसगढ़ से भी जुड़े हैं। 

भोपाल/सतना। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करनेे वाले सतना के बलराम और रज्जन के तार छत्तीसगढ़ से भी जुड़े हैं। खुफिया एजेंसी की सूचना पर छत्तीसगढ़ पुलिस इनके तीन साथियों को गिरफ्तार कर लिया है। 27 वर्षीय मनीन्द्र यादव पिता राधेश्याम निवासी सिंचाई कालोनी अकलतरा का रहनेवाला है। वहीं 6 वर्षीय संजय देवांगन पिता टीकाराम निवासी पुरानी बस्ती तलवापारा जांजगीर चांपा का निवासी है। ये दोनों बलराम और रज्जन द्वारा बताए गए खातों में राशि जमा करते थे। आईएसआई जासूसी कांड खुलासे में सबसे पहले सामने आए जम्मू निवासी सतविंदर सिंह के खाते में भी इन्होंने पैसे भेजे थे।




सतना से हुआ था खुलासा
मध्यप्रदेश एटीएस ने जब बलराम और रज्जन को आईएसआई के लिए टेरर फंडिंग के आरोप में गिरफ्तार कर जब पूछताछ की तो पता चला था कि उसके तार छत्तीसगढ़ से जुड़े हुए हैं। पता चला कि बलराम के साथियों ने छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा के बैंक खातों से रुपए सतविंदर के खाते में जमा किए हैं। इसके बाद मध्यप्रदेश एटीएस ने छत्तीसगढ़ पुलिस को जानकारी देकर इन्हें दबोचने के लिए जाल बिछाया।



दहशत के बोल से पकड़े गये आरोपी
जब सतना से बलराम और रज्जन की गिरफ्तारी हुई और यह खबरें मीडिया में आईं तो दोनों काफी दहशत में आ गए। मनीन्द्र ज्यादा दहशत में था और उसने संजय से कहा था कि कुछ दिनों के लिये अंडर ग्राउंड हो जाता हूं। यह जानकारी पुलिस तक पहुंची तो दोनों को दबोच लिया गया।




अलग-अलग बैंक खातों का कर रहे थे इस्तेमाल
संजय ने बताया कि वह सतना निवासी बलराम और रज्जन के लिये पैसों का ट्रांजेक्शन का काम कर रहा था। उसने बताया कि वह अपने एसबीआई और यूबीआई बैंक के खाते इस्तेमाल के लिए मनीन्द्र यादव को दिया हुआ था। इन लोगों ने बताया कि इनके द्वारा जम्मू निवासी सतविंदर सिंह को भी राशि भेजी गई है जिसके द्वारा देश के सामरिक महत्व की सैन्य सूचनाएं और सैन्य महत्व के पुलों की जानकारी आईएसआई को दी जाती थी। छग पुलिस के मुताबिक इन दोनों युवकों द्वारा जांजगीर चांपा के पंजाब नेशनल बैंक के माध्यम से जम्मू कश्मीर निवासी सतविन्दर को बड़ी रकम भेजी गई थी।
Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned