टाइग्रेस ने किया हमला, बाल-बाल बचा सुनील

टाइग्रेस ने किया हमला, बाल-बाल बचा सुनील

Dinesh Bhadauria | Publish: Apr, 17 2019 06:19:31 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 06:19:32 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

बड़ी शिला या हाथी चट्टान के पास का मामला...

भोपाल. राजधानी के आसपास तेजी से बढ़ रहे टाइगर मूवमेंट के चलते मानव-वाइल्डलाइफ भिडंत की आशंका गहराने लगी है। रातापानी सेंक्चुरी में प्रे-बेस सिमटने से टाइगर, लेपर्ड आदि का मूवमेंट शहर के समीपवर्ती फॉरेस्ट में काफी बढ़ गया है। बुधवार सुबह समरधा रेंज में साढ़े दस बजे के करीब बकरियां चराने घने जंगल में गए एक किशोर पर टाइगर ने हमला कर दिया। इस हमले में किशोर के शरीर पर गहरे घाव आये हैं।

 

घायल को वन अमला जेपी अस्पताल लेकर पहुंचा। जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कर लिया है। घायल की हालत खतरे से बाहर बताई गई है। किशोर पर बाघ के हमले की सूचना मिलते ही सीसीएफ डॉ. एसपी तिवारी, डीएफओ हरिशंकर मिश्रा, एसडीओ एसएस भदौरिया, रेंजर एके झंवर सहित बड़ी तादात में वन अमला अस्पताल पहुंचा। वन विभाग अपने खर्च पर घायल किशोर का उपचार करवा रहा है। वन अधिकारियों ने घायल के परिवार को सहायता राशि भी अविलम्ब उपलब्ध करवा दी।

news 1

प्राप्त जानकारी के अनुसार रातीबड़ थाना क्षेत्र के भानपुर केकडिय़ा गांव निवासी सुनील चौहान भिलाला पुत्र बहादुर चौहान उम्र 17 वर्ष निवासी ग्राम बुधवार सुबह अपने 4 अन्य साथियों के साथ बकरियां चराने भानपुर सर्किल की चीचली बीट के जंगल में गया था। बकरियां चराते हुए ये लड़के टाइग्रेस 124 के मूवमेंट इलाके में पहुंच गए, जहां उस टाइग्रेस की गुफा थी। इस स्थान को बड़ी शिला या हाथी चट्टान कहते हैं। यह टाइगर्स का इलाका है।

 

जिस समय ये लड़के वहां पहुंचे टाइग्रेस अपनी गुफा से कुछ ही दूर एक चट्टान के पीछे बैठकर आराम कर रही थी, तभी उसके इलाके में घुसे इंसानों से उसका आमना-सामना हो गया। टाइग्रेस ने पहले तो डराने के लिए दहाड़ लगाई, लेकिन सुनील के मुताबिक उन लोगों को टाइग्रेस नजर नहीं आई। इससे पहले लड़के कुछ समझ पाते, टाइग्रेस ने सबसे आगे चल रहे सुनील पर हमला कर दिया। इस हमले में सुनील के दाएं हाथ और दाई जांघ में टाइग्रेस के दांत घुस गए। टाइग्रेस के हमले में सुनील की बाई जांघ में भी हल्की चोट आई है।

 

घटना के बाद सुनील के साथ उसे लेकर वापस घर पहुंचे और अपने परिजनों को टाइगे्रस के हमले के बारे में बताया। इसके बाद घायल किशोर सुनील के वन विभाग में चौकीदार भाई ने स्थानीय वन अमले को इस घटना की सूचना दी। सूचना पाते ही वन अधिकारी और वन अमला घायल को अपने वाहन से लेकर जेपी अस्पताल पहुंचे और उपचार कराया।


टाइग्रेस के हमले में घायल किशोर उस क्षेत्र में बकरियां चराने चला गया था, जहां टाइगर्स की मौजूदगी बनी रहती है। आसपास के गांवों में मुनादी कर लोगों को जंगल में जाने से रोका गया है। जेपी हॉस्पिटल में घायल किशोर का ट्रीटमेंट करया जा रहा है। सहायता राशि भी अविलम्ब उपलब्ध करा दी गई है।
- डॉ. एसपी तिवारी, सीसीफ, भोपाल वन वृत्त

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned