गुजरात की तर्ज पर भोपाल में भी हो पहल, ताकी रोका जा सके सक्रंमण

कोरोना का डर : दूरी बनाकर लें किराना का सामान

भोपाल : कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए सोशल डिस्टेंस होना जरूरी है। लगातार बढ़ रहे संक्रमण के चलते देशभर में 21 दिनों तक यानि 14 अप्रैल तक घरों से निकलने पर पाबंदी लगायी गयी है। लेकिन जरूर सामन के लिए जा सकते हैं इसके लिए गुजरात की तर्ज पर भोपाल में भी हो पहल दुकान के बाहर एक मीटर की दूरी पर सांकेतिक चिह्न बनाकर कोरोना के सक्रंमण को रोका जा सकता है।

सोशल डिस्टेंस जरूरी

गुजरात समेत कई राज्यों में बाजार में किराने की दुकान के सामने एक मीटर की दूरी में सांकेतिक चिह्न बनाकर लोग सामान लेते नजर आ रहें। दुकानदार ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए दुकान के बाहर निश्चित दूरी पर सफेद रंग में गोला बनाया है, ताकि दुकान के बाहर भीड़ न लगे और संक्रमण से बचाव हो सकें। मध्यप्रदेश के सभी जिलों में सोशल डिस्टेंस के साथ किराने की दुकान या भीड़-भाड़ वाली जगहों पर ऐसी पहल की जाएं तो कोरोना के संक्रमण की रोकथाम हो सकती है।

सोशल डिस्टेंस यानी सामाजिक दूरी

सोशल डिस्टेंस का सीधा मकसद महामारी को बढ़ने से रोकना। अगर ऐसा करने में सफल होते हैं तो इससे स्वास्थ्य प्रणाली पर बोझ कम पड़ेगा। सोशल डिस्टेंस इस बीमारी को रोकने से ज्यादा इसके बढ़ने की दर को कम करने का साधन है, जिससे लोग ज्यादा बीमार नहीं पड़ेंगे। इंफेक्शन कम फैले और बीमारी थम जाए, इसलिए एक-दूसरे से कम संपर्क रखने यानि सोशल डिस्टेंस बनाने के निर्देश दिये जा रहे हैं।

 

14 अप्रैल तक लॉक डाउन रहेगा

आगामी 21 दिन तक प्रदेश सरकार एवं जिला प्रशासन आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करेगी। घबराये नहीं, लॉक डाउन में सभी आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। रोजमर्रा की चीजें आपको उपलब्ध कराई जाएंगी, इसकी चिंता न करें। कोरोना के संक्रमण को नियंत्रित करन के लिए 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया गया है।

अपने पास की दुकानों से सामान खरीदें, बाहर घूमने के लिये नहीं निकलें, समान ले तुरन्त घर वापस पहुचें, लाये गए समान को सेनिटाइस करें, साबुन से हाथ धोयें, तभी घरों में प्रवेश करें, कपड़े तुरन्त बदलें, बूट- चप्पल घर के बाहर उतारें।

KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned