लोकसभा का रण : दोनों दलों के नए चेहरों की परीक्षा

लोकसभा का रण : दोनों दलों के नए चेहरों की परीक्षा

Deepesh Tiwari | Publish: May, 11 2019 08:22:55 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

अंतिम दो चरण की 16 सीटों पर भाजपा-कांग्रेस ने किए प्रयोग...

यहां रोचक हुआ चुनाव
1. इंदौर- भाजपा यहां लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की जगह शंकर लालवानी को मैदान में उतारा है। यह सीट भाजपा का गढ़ है। उधर, कांग्रेस ने सत्यनारायण पटेल की जगह पंकज संघवी को टिकट दिया है। पंकज 1998 में यहां से सुमित्रा महाजन से 49 हजार मतों से हारे थे।

 

2. भोपाल- कांग्रेस से दिग्विजय सिंह की उम्मीदवारी के बाद भाजपा प्रज्ञा ठाकुर को लेकर आई। प्रज्ञा के बयानों से विवाद खड़े हुए। स्थानीय नेताओं के असहयोग की शिकायतें मिली। दिग्विजय के सामने बाहरी होने के साथ ही भाजपा के गढ़ में सेंध लगाना कड़ी चुनौती है। ऐसे में यह सीट कड़े मुकाबले में फंस गई है।

 

3. उज्जैन- सांसद चिंतामणि मालवीय का टिकट काटकर पूर्व विधायक अनिल फिरोजिया को मैदान में उतारा है। चिंतामणी गुट की नाराजगी और दूसरे नेताओं का असहयोग मुश्किल पैदा कर रहा है। 2014 में कांग्रेस से प्रेमचंद गुड्डू उम्मीदवार थे। गुड्डू के भाजपा में जाने के बाद इस सीट पर दोनों तरफ से नए चेहरे हैं।

 

4. देवास-शाजापुर- इस सीट को भी संघ और भाजपा का गढ़ माना जाता है। यहां के सांसद मनोहर ऊंटवाल के विधायक बनने के बाद भाजपा ने जज रहे महेंद्र सोलंकी को मैदान में उतारा है। कांग्रेस से यहां लोकगायक प्रहलाद टिपाणिया मैदान में हैं। दोनों ओर से नए चेहरे उतरने के कारण चुनाव रोचक हो गया है।

 

5. खरगौन- यहां वर्तमान सांसद सुभाष पटेल का टिकट काटकर नए चेहरे के रूप में गजेंद्र पटेल को उतारने का प्रयोग भाजपा ने किया है। कांगे्रेस ने भी यहां पेशे से रेडियोलॉस्टि डॉ. गोविंद मुजाल्दा को उतारकर प्रयोग किया है। यानी दोनों दलों ने नए चेहरों पर दांव लगाया है। इससे मुकाबला कड़ा हो गया है।

 

6. धार- भाजपा ने सांसद सावित्री ठाकुर का टिकट काटकर छतरसिंह दरबार को दिया है। कांग्रेस ने पूर्व सांसद गजेंद्र राजूखेड़ी का टिकट काटकर दिनेश गिरवाल को थमा दिया। भाजपा को सावित्री तो कांग्रेस को राजूखेड़ी की नाराजगी मुश्किल में डाल रही है।

 

 

7. विदिशा- भाजपा ने शिवराज सिंह चौहान के करीबी रमाकांत भार्गव को मैदान में उतारा है। उधर, कांग्रेस ने पिछली बार लक्ष्मण सिंह को मैदान में उतारा था। इस बार पूर्व विधायक शैलेंद्र पटेल को टिकट दिया है। दोनों नए चेहरे होने से मुकाबला दिलचस्प हो गया है।

 

8. सागर- भाजपा ने सांसद लक्ष्मीनारायण यादव की जगह पूर्व मंत्री भूपेंद्र सिंह के करीबी राजबहादुर सिंह को टिकट दिया है। 22 साल से इस सीट पर भाजपा का कब्जा है, लेकिन इस बार संघर्ष की स्थिति है। कांग्रेस ने यहां पूर्व मंत्री प्रभुसिंह को टिकट दिया है।

 

 

9. भिंड- मुरैना की संध्या राय को टिकट देने का प्रयोग भाजपा के लिए मुश्किल बन गया है, लेकिन कांग्रेस के लिए भी चुनौतियां कम नहीं है। कांग्रेस के देवाशीष जरारिया का कई स्थानीय कांग्रेसी विरोध कर रहे हैं। दोनों दलों को यहां प्रयोग महंगा पड़ा है।

 

 

10. ग्वालियर - यहां नरेंद्र सिंह तोमर सांसद थे, उनके मुरैना जाने के बाद पूर्व सांसद अनूप मिश्रा की दावेदारी थी, लेकिन भाजपा ने विवेक श्ेाजवलकर को टिकट दिया। कांग्रेस ने अशोक सिंह को मैदान में उतारा, लेकिन उन पर लगातार तीन चुनाव हारने का ठप्पा है।

 

यह ऊपरी तौर पर आकलन किया गया है कि नए चेहरों से मुश्किल है। हमारी ही पार्टी है, जहां निरंतरता के साथ परिवर्तन होता है। जिनके टिकट कटे हंै उनमें से अधिकतर पार्टी के लिए चुनाव में कार्य कर रहे हैं।

- डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे, प्रदेश प्रभारी, भाजपा

 

 

इधर, आचार संहिता उल्लंघन की 15 शिकायतें मिलीं-
लोकसभा चुनाव के दौरान सोशल मीडिया पर आचार संहिता उल्लंघन, प्रतिबंधित और आपत्तिजनक पोस्ट की करीब 15 शिकायतें की गई हैं। इनमें से एक भी शिकायत का निराकरण नहीं किया गया है।

हर शिकायत के बाद चुनाव आयोग उनके खिलाफ कार्रवाई करने, एकाउंट को हैक करने और पोस्ट हटाने के लिए लिखता है, लेकिन सोशल मीडिया संचालकों की तरफ से आयोग के पास कोई जवाब नहीं आ रहा है।

आयोग ने चुनाव के दौरान जिन विज्ञापनों, फिल्मों, आचार संहिता उल्लंघन करने वाले पोस्ट और सेना से जुड़े पोस्टरों के प्रचार-प्रसार पर प्रतिबंध लगाया गया है, वह सोशल मीडिया में धड़ल्ले से चल रहे हैं। सबसे ज्यादा शिकायतें फेसबुक पोस्ट को लेकर की गई हैं, जबकि वाट्सऐप और ट्विटर इस तरह की शिकायतों की संख्या काफी कम हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned