फुटपाथ पर व्यापारियों ने कर रखा है कब्जा, मुख्य मार्ग पर पार्क हो रहे वाहन

नगर निगम अमले की अनदेखी से बढ़ रहा अतिक्रमण, पैदल चलना भी मुश्किल

By: Rohit verma

Published: 27 Nov 2019, 10:07 PM IST

भोपाल. मुख्य मार्ग के दोनों ओर बनाए गए फुटपाथ पर अतिक्रमण बढ़ता जा रहा है। नगर निगम अमले द्वारा सख्त कार्रवाई नहीं किए जाने से नगर के व्यापारियों ने फुटपाथ पर कब्जा कर सामान जमा रखा है। ऐसे में यहां खरीदारी करने आने वाले ग्राहक अपने वाहन मुख्य मार्ग पर पार्क कर रहे हैं, जिससे बार-बार जाम के हालत बन रहे हैं। फुटपाथ पर अतिक्रमण होने से लोगों को मुख्य मार्ग पर चलना पड़ रहा है, जिससे हादसे की आशंका बनी रहती है। निगम ने निर्माण के समय लोगों को सुविधा देने का आश्वासन दिया था, लेकिन निगम के सुस्त रवैये के कारण हालत जस के तस बने हुए हैं।

बस स्टैंड से कालिका चौराहे तक बीआरटीएस कॉरिडोर के दोनों ओर राहगीरों व ग्राहकों की सुविधा के लिए फुटपाथ बनाया गया था। मौजूदा समय में यहां पर व्यापारियों का सामान रखा होने से लोगों का चलना मुश्किल हो रहा है। फुटपाथों पर अतिक्रमण होने से संत नगर में हालात और बिगड़ रहे हैं। यहां खरीदारी करने दूर-दराज क्षेत्रों से आने वाले ग्राहकों को सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है।

 

सिर्फ एक बार चालानी कार्रवाई करके छोड़ा
इसी साल 28 फरवरी को संत नगर में दुकानदारों द्वारा फुटपाथ पर सामान रखने को लेकर नगर निगम मोबाइल कोर्ट द्वारा व्यापारियों पर चालानी कार्रवाई की गई थी। मोबाईल कोर्ट में न्यायाधीश, नगर निगम के अतिक्रमण विरोधी अमले के अधिकारी, पुलिस प्रशासन सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद था। इसके विरोध में व्यापारियों ने चक्काजाम तक किया था, लेकिन व्यापारियों के डर से निगम ने हाथ पीछे खींच लिए और कार्रवाई को रोक दिया। इसके बाद आज तक चालानी कार्रवाई नहीं की गई।

निगम की कार्रवाई भी चिंता का विषय
नगर निगम अमले ने बीते दिनों बैरागढ़ सिविल अस्पताल के सामने ऑटों में संचालित होने वाली दुकान पर कार्रवाई करते हुए खाने-पीने का सामान सहित वाहन को जब्त किया था। दो दिन तक यहां पर साफ सुथरा होने के बाद फिर से दुकानें लग गईं। लोगों का कहना है कि जब निगम कार्रवाई करता है तो वापस उन पर सख्ती क्यों नहीं दिखाता है। यह चिंता का विषय है।

 

व्यापारियों के लिए हो एक सिमित दायरा
फुटपाथ को व्यापारियों के कब्जे से मुक्त कराने के लिए एक सीमित दायरा होना चाहिए, जिससे व्यापारी उसका पालन कर सकें। लेकिन अतिक्रमण से मुक्त करने के लिए यह पहल शुरू नहीं की गई। पूरे बाजार में दुकानों के आगे सड़क पर यलो लाइन बनाकर सामान रखने की सीमा तय की जानी थी, जिससे इस लाइन के बाहर सामान नहीं रखा जाता।

मुख्य मार्ग के दोनों ओर फुटपाथ पर व्यापारियों और हाथ ठेले वालों ने कब्जा कर रखा है जिससे पैदल चलने में परेशानी होती है। निगम के सुस्त रवैये के कारण आम जनता परेशान होती है जल्द से जल्द इन पर कार्रवाई करके अतिक्रमण मुक्त करवाना चाहिए।
पुरषोत्तम लालवानी, रहवासी

 

मल्टीलेबल पार्किंग होने के बाद भी मुख्य मार्ग पर वाहनों की पार्किंग हो रही है। इससे स?के सकरी हो गई है और बार-बार जाम के हालत बन रहे है। फुटपाथ पर दो पहिया वाहन पार्क करने देना चाहिए जिससे मुख्य मार्ग साफ होगा।
मोनू श्रीवास्तव, रहवासी

जब-जब निगम अमला कार्रवाई करके जाता है, मुख्य मार्ग सहित फुटपाथ क्लीन हो जाता है, लेकिन कार्रवाई को नियमित रखा नहीं जाता है, इससे व्यापारी फिर से अपना सामान जमा लेते हैं। साथ ही बड़ी संख्या में ठेले वाले यहां पर जमा हो जाते हैं। इस ओर ध्यान देना चाहिए।
सुमित तोमर, ग्राहक

Rohit verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned