ट्रैफिक नियम तोड़ना पड़ा भारी, भरना पड़ा 30 हजार का जुर्माना

5 बार ट्रैफिक नियम तोड़ने पर 1250 का चालान, कोर्ट ने लगाया 30 हजार का जुर्माना

By: Hitendra Sharma

Published: 15 Sep 2020, 11:19 AM IST

भोपाल. ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करना अब लोगों को काफी महंगा पड़ सकता है, क्योंकि इस मामले में ट्रैफिक पुलिस चालान ऑनलाइन करने के साथ ही अब न्कायालय में भी प्रकरण प्रस्तुत कर रही है। चालान नहीं भरने वाले लोगों की पहचान कर उन पर कई गुना तक जुर्माना लगाया जा रहा है। ऐसा ही एक मामला करोंद निवासी डॉक्टर अशोक पचौरी का है।

अशोक पचौरी के नाम रजिस्टर्ड मोटर साइकल उनका पुत्र चलाता था, जिसके पास डाइविंग लाइसेंस नहीं था और ना ही वह हेलमेट पहनता था। ट्रैफिक पुलिस ने इस प्रकरण में युवक को लगातार आटीएमएस से निगरानी में लिया और उसके खिलाफ चालान जनरेट कर रजिस्टर्ड पते पर भेजा। यातायात पुलिस के टीआई विजय दुबे ने बताया कि 5 बार चालान जारी करने के दौरान प्रति चालान 250 रुपये के हिसाब से 1250 का कुल चालान उनके पते पर भेजा गया था। लंबे समय तक चालान जमा नहीं कराया गया तो प्रक्रिया पूरी करने के बाद प्रकरण जिस्टर्ड करते हुए न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया।

न्यायालय की ओर से संबंधित व्यक्ति को नोटिस जारी किए गए एवं बाकक सुनवाई के बाद गंभीर लापरवाही साबित होने पर रजिस्टर्ड वाहन मालिक पर 1250 की चालान राशि जमा करने और 30 हजार का जुर्माना लगाया गया। अब यातायात पुलिस लोगों सेअपील कर रही है कि ट्रैफिक सिंग्नल का पालन करें, मुँह पर मास्क लगाएं, सर पर हेलमेट पहने साथ ही अन्य नियमों का गंभीरता से पालन करें। एसा नहीं करने पर शहर के हर चौराहे और प्रमुख मार्ग पर लगे इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के कैमरों से लापरवाह नागरिकों की पहचान की जा रही है।

प्रकरण सामने आने पर वाहन रजिस्ट्रेशन वाले पते पर चालान जारी किया जाता है एवं लगातार चालान नहीं जमा करने की स्थिति में प्रकरण को न्यायालय में पेश कर दिया जाता है, जहां नियम तोड़ने वाले नागरिकों पर भारी जुर्माना लगाया जाता है। उल्लेखनीय है कि आज तक न्यायालय ने ऐसे कुछ मामलों में अलग-अलग जुर्माना राशि लगाई है लेकिन इसव बार एक व्यक्ति पर सर्वाधिक जुर्माना लगाया गया है।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned