युवतियां बोली- ऐसा जीवनसाथी हो, जो शराब सहित अन्य नशे से दूर रहे

आदिवासी समाज का युवक युवती परिचय सम्मेलन, नशामुक्त समाज और शिक्षित समाज के लिए लिया संकल्प

भोपाल। राजधानी में रविवार को अलग-अलग समाजों के परिचय सम्मेलन आयोजित किए गए। इन सम्मेलनों में विवाह योग्य युवक-युवतियों ने मंच पर आकर परिचय दिया। युवक-युवतियों ने बेबाकी के साथ अपनी राय रखी। इस दौरान समाज में व्याप्त बुराईयों को त्यागने का संकल्प भी लिया गया। एमपी नगर स्थित आदिवासी मंडल परिसर में आयोजित सम्मेलन में परिचय के दौरान अनेक युवतियों ने कहा कि उनका जीवनसाथी ऐसा हो, जो शराब सहित किसी भी प्रकार का नशा न करता हो, शिक्षित हो। सम्मेलन में समाज के लोगों ने समाज से नशे जैसी बुराई को खत्म करने का संकल्प लिया।

 

आदिवासी सेवा मंडल द्वारा अखिल भारतीय आदिवासी युवक युवती परिचय सम्मेलन में छग की राज्यपाल अनुसूईया उइके मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुई। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज का देश के विकास में निरंतर योगदान रहा है। मैने समाज के लोगों की हर संभव मदद करने का प्रयास किया है, जो आगे भी जारी रहेगा। हमारे समाज के कई उच्च अधिकारी और बड़े पदों पर पदस्थ लोग भी मानवीय संवेदना की भावना के समाज के गरीब व्यक्ति को सही दिशा दे, ताकि हम आगे बढ़ सके। कार्यक्रम में विधायक योगेंद्र सिंह, अजय शाह, पीसी बारस्कर, गिरीश शर्मा सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे। इस मौके पर समाज की स्मारिका का विमोचन किया गया। सम्मेलन में 400 से अधिक युवक-युवतियों ने मंच पर आकर परिचय दिया। इस दौरान कई परिवारों के बीच बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ।

 

 

युवतियां बोली- ऐसा जीवनसाथी हो, जो शराब सहित अन्य नशे से दूर रहे

बौद्ध समाज- दहेज लेने वाले संपर्क न करे
दि बुद्धिस्ट समाज विकास समिति की ओर से रविवार को मालवीय भवन में अखिल भारतीय बौद्ध युवक-युवती परिचय सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस परिचय सम्मेलन में युवक-युवतियों ने बेबाकी के साथ परिचय दिया। सम्मेलन में अनेक युवतियों ने परिचय देने के दौरान दो टूक कहा कि विवाह के दौरान दहेज की डिमांड करने वाले संपर्क न करे। अनेक युवकों ने भी दहेज का विरोध करते हुए कहा कि दहेज नहीं एक अच्छा जीवनसाथी चाहिए। समिति के महासचिव सिद्धार्थ पाटिल ने बताया कि इस सम्मेलन में 400 से अधिक प्रतिभागियों ने परिचय दिया। इस दौरान कुछ कल्याणी, विधुर, तलाकशुदा ने भी परिचय दिया। इस दौरान एक जोड़े का रिश्ता तय हो गया। इसी प्रकार कई युवक-युवतियों के परिवारों के बीच भी रिश्ते लगभग तय हो गए हैं, वे अब आपस में मेलजोल कर अपने हिसाब से विवाह की रूपरेखा तय करेंगे। सम्मेलन में समाज के वरिष्ठजनों का सम्मान भी किया गया। इस मौके पर डा. इंद्रेश गजभिए, डा. मोहनलाल पाटिल, रामू गजभिए, बीटी गजभिए सहित बड़ी संख्या में लोग थे।

Show More
Bharat pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned