उमा ने कहा- शराबबंदी के बाद कैसे पूरा होगा राजस्व मैं बताऊंगी, माफिया की निष्ठा केवल मुनाफे से

मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि वो हमारी पार्टी की राष्ट्रीय नेता हैं और उन्हें अपनी बात कहने का पूरा अधिकार है।

By: Pawan Tiwari

Published: 22 Jan 2021, 12:21 PM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश में नई शराब की दुकान खोलने को लेकर सियासत तेज हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने नई शराब की दुकानों को लेकर अपनी ही पार्टी की सरकार से सवाल किया है इसके साथ ही उन्होंने कहा कि शराब बंदी के बाद राजस्व को कैसा बढ़ाया जाएगा ये मैं बताऊंगी। बता दें कि उमा भारती ने मध्यप्रदेश में शराब की नई दुकान खुलने का विरोध किया है। जबकि मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि वो हमारी पार्टी की राष्ट्रीय नेता हैं और उन्हें अपनी बात कहने का पूरा अधिकार है।

क्या कहा उमा भारती ने
उमा भारती ने कहा- शराब बंदी पर राजस्व पूर्ति कैसे की जा सकती जरुरत पड़ी तो मैं बताउंगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 15 फीसदी दुर्घटनाएं होती हैं इस 15 फीसदी में 99.9 फीसदी दुर्घटनाएं शराब के कारण होती हैं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश ही नहीं देश भर में माफिया सक्रिय हैं। उन्होंने कहा कि मैंने यूपी में योगी जी फोन पर शराब बंदी की बात की है। यूपी में मंदिर के आस-पास कई जगह शराब की बंदी की गई है।

माफिया पूरे देश में सक्रिय हैं। शराब, रेत, पावर माफिया, कंस्ट्रक्शन माफिया, उन्होंने कहा कि ऐसा कहा जाता है कि जो इनका विरोध करे वो विकास विरोधी है। माफिया अपने पूरे तंत्र में फैले हैं। माफिया की निष्ठा मुनाफे से है किसी राजनिकीक दल से नहीं, हर दल के समय ये मुनाफे से ही मतलब रखते हैं।

क्या है मामला
दरअसल, एमपी के मुरैना में हाल ही में जहरीली शराब से 24 लोगों की मौत हुई है। अवैध शराब के कारोबार को रोकने के लिए सरकार शराब की दुकानों की संख्या बढ़ाने पर विचार कर रही है। इससे उलट पूर्व सीएम उमा भारती ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से बीजेपी शासित राज्यों में बिहार मॉडल की मांग की है। यानी कि उन्होंने सभी राज्यों में शराबबंदी की मांग की है।

गृहमंत्री ने कहा- भाजपा में सबको अपनी बात कहने का अधिकार
वहीं, उमा भारती की प्रतिक्रिया में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि भाजपा में सबको अपनी बात रखने का पूरा अधिकार है। उमा दीदी पार्टी की राष्ट्रीय नेता हैं। मेरा मानना है कि संगठन और सरकार उनकी बातों को गंभीरता से लेंगे। उन्होंने कहा कि मैंने शराब की दुकान खोलने के प्रस्ताव दिए हैं लेकिन इस पर अंतिम फैसला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लेना है।

Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned