scriptUrea, DAP and NPK fertilizers available in sufficient quantity in the | प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में यूरिया, डीएपी और एनपीके खाद उपलब्ध - पटेल | Patrika News

प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में यूरिया, डीएपी और एनपीके खाद उपलब्ध - पटेल

किसान भाई कानून अपने हाथ में न लें, उर्वरकों की सतत आपूर्ति जारी
काला-बाजारी करने वालों के विरूद्ध दर्ज कराएं एफआईआर

भोपाल

Published: October 26, 2021 09:28:21 pm

भोपाल। किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने बताया है कि वर्तमान में 3 लाख 18 हजार 263 मीट्रिक टन यूरिया उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि एक लाख 31 हजार 454 मीट्रिक टन डीएपी और एक लाख 4 हजार 590 मीट्रिक टन एनपीके भी उपलब्ध है।
Affordable fertilizers are being purchased by paying a high price
Affordable fertilizers are being purchased by paying a high price
पटेल ने बताया कि विगत 3-4 दिन में ही यूरिया, एनपीके और डीएपी के 26 रैक लग चुके हैं। उन्होंने बताया कि आगामी 2-3 दिनों में 21 रैक यूरिया, एनपीके और डीएपी पहुँचने वाला है। उन्होंने किसानों से अपील की है कि किसान भाई कानून अपने हाथ में नहीं लें, उर्वरकों की आपूर्ति सतत जारी है।
कृषि मंत्री पटेल ने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि उर्वरकों की काला-बाजारी करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही कर एफआईआर भी दर्ज करावें। उन्होंने अधिकारियों से कहा है कि खाद की आपूर्ति निचले स्तर तक करें, जिससे सभी को पर्याप्त मात्रा में खाद मिल सके।मंत्री पटेल ने बताया है कि विगत 3-4 दिन में यूरिया के 9 रैक आ चुके हैं और आगामी दो-तीन दिनों में 6.5 रैक यूरिया आने वाला है।
उन्होंने बताया कि इसी प्रकार डीएपी के 9 रैक आ चुके हैं, जबकि आगामी दो-तीन दिनों में 5 रैक और पहुँचने वाले हैं। एनपीके के भी 8 रैक आ चुके हैं, जबकि 10 रैक और आने वाले हैं। उपलब्धता के अनुसार नियमित रूप से जिलों को यूरिया, डीएपी और एनपीके पहुँचाया जा रहा है, जो कि सहकारी संस्थाओं के साथ ही निजी संस्थानों के माध्यम से वितरित किया जा रहा है।
कृषि मंत्री पटेल ने बताया कि वर्तमान में कुल 3 लाख 18 हजार 263 मीट्रिक टन यूरिया उपलब्ध है। इसमें रिटेलर के पास एक लाख 56 हजार 117 मीट्रिक टन, सेलर के पास एक लाख 13 हजार 106 मीट्रिक टन, कम्पनी, वेयरहाउस एवं कम्पनी जीआईटी के पास 30 हजार 580 मीट्रिक टन और सेलर जीआईटी के पास 18 हजार 460 मीट्रिक टन यूरिया है।
इसी प्रकार डीएपी भी एक लाख 31 हजार 454 मीट्रिक टन उपलब्ध है, जिसमें रिटेलर के पास 53 हजार 249 मीट्रिक टन, सेलर के पास 42 हजार 644 मीट्रिक टन, कम्पनी, वेयरहाउस एवं कम्पनी जीआईटी के पास 24 हजार 700 मीट्रिक टन और सेलर जीआईटी के पास 10 हजार 860 मीट्रिक टन डीएपी है। पटेल ने बताया कि वर्तमान में एनपीके खाद भी एक लाख 4 हजार 590 मीट्रिक टन उपलब्ध है।
इसमें रिटेलर के पास 35 हजार 875 मीट्रिक टन, सेलर के पास 30 हजार 345 मीट्रिक टन, कम्पनी, वेयरहाउस एवं कम्पनी जीआईटी के पास 32 हजार 610 मीट्रिक टन और सेलर जीआईटी के पास 5 हजार 760 मीट्रिक टन एनपीके है। कृषि मंत्री पटेल ने बताया कि अक्टूबर माह में अब तक 2 लाख 79 हजार मीट्रिक टन यूरिया, 2 लाख 3 हजार मीट्रिक टन डीएपी और 86 हजार मीट्रिक टन एनपीके वितरित किया जा चुका है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.