scriptuse of mirror application in fraud | इस एप्लीकेशन का बहुत सोचसमझकर करें इस्तेमाल, खाता तुरंत हो रहा खाली | Patrika News

इस एप्लीकेशन का बहुत सोचसमझकर करें इस्तेमाल, खाता तुरंत हो रहा खाली

साइबर थाने में आ रहे कई मामले, जागरुकता बचाएगी ठगी से

भोपाल

Published: February 21, 2022 08:16:24 am

हर्ष पचौरी, भोपाल. दुनियाभर में साइबर ठगी बढ रही है. इसके लिए नए—नए तरीके आजमाए जा रहे हैं. अब साइबर जालसाज आपको ठगने के लिए एंड्राइड एप्लीकेशन सेटअप में दी गई परमिशन का इस्तेमाल कर रहे हैं. मिरर एप्लीकेशन के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होने की वजह से कई बार साइबर धोखाधड़ी का शिकार होने वाले बैंक खाताधारक इन्हें जालसाज के कहने पर गूगल प्ले स्टोर में जाकर डाउनलोड कर लेते हैं.

fraud.png

उपभोक्ता प्राय: सभी प्रकार के परमिशन पर ओके कर दिया करते हैं ऐसा करने से आपका मोबाइल और कंप्यूटर डेस्कटॉप-लैपटॉप जैसे संसाधन आसानी से साइबर जालसाज के रडार में शामिल हो जाते हैं। इससे बचने के कुछ उपाय है लेकिन इससे पहले इन ऐप को जानना जरुरी है जो ठगी से बचाएंगे।

घर बैठे आपके कंप्यूटर और मोबाइल फोन के अंदर पहुंचने वाली एप्लीकेशन को मिरर एंड्राइड एप्लीकेशन कहते हैं। भारत में सबसे ज्यादा प्रचलित मिरर एंड्राइड एप्लीकेशन में एनीडेस्क, क्विक सपोर्ट, टीम व्यूअर एवं मिंगल व्यू एप्लीकेशन तेजी से प्रचलित हो रही है।

यह भी पढ़ें : क्लोन और रबर से धोखाधड़ी करते हैं लोग, अब दिल की धड़कन बढ़ा देगी मशीन

cyber_crime.jpg

शिवाजी नगर में रहने वाले सरकारी कर्मचारी सुरेश कुमार को मोबाइल पर सिम बंद होने का मैसेज आया। उन्हें ठग ने एक एप्लीकेशन डाउनलोड करने कहा। इस प्रकार साइबर धोखाधड़ी करने वाले आरोपी ने उनके बैंक खाते से हजारों रुपए की राशि निकाल ली। इसी तरह हबीबगंज थाना अंतर्गत अरेरा कॉलोनी में रहने वाले वर्मा परिवार के एक सदस्य को अनजान व्यक्ति ने कॉल सेंटर कर्मचारी बनकर फोन किया। बैंकिंग जानकारियां पूरी करने के लिए उन्हें एक एप्लीकेशन डाउनलोड करवाई गई और बाद में उनके बैंक खाते से रकम निकल गई।

इस संबंध में पुलिस कमिश्नर मकरंद देउस्कर बताते हैं कि मिरर एप्लीकेशन का इस्तेमाल करने से पहले इसकी जानकारी होना बहुत जरूरी है। साइबर फ्रॉड होते ही बैंक खाताधारक सहायता नंबर पर अपनी शिकायत दर्ज करवाएं। सूचना मिलते ही संबंधित राशि जहां है वहीं फ्रीज करवा दी जाएगी।

घबराएं नहीं, आपको मिल जाएगी मदद
— अपने सभी बैंक खातों और एटीएम नंबर को ब्लॉक करवाएं। सूचना बैंक को भेजें।
— बैंकिंग फ्रॉड या साइबर क्राइम होने पर हेल्पलाइन नंबर 9479990636 पर जानकारी नोट करवाएं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

IPL 2022: टिम डेविड की तूफानी पारी, मुंबई ने दिल्ली को 5 विकेट से हराया, RCB प्लेऑफ मेंपेट्रोल-डीज़ल होगा सस्ता, गैस सिलेंडर पर भी मिलेगी सब्सिडी, केंद्र सरकार ने किया बड़ा ऐलान'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदीArchery World Cup: भारतीय कंपाउंड टीम ने जीता गोल्ड मेडल, फ्रांस को हरा लगातार दूसरी बार बने चैम्पियनआय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसऑस्ट्रेलिया के चुनावों में प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन हारे, एंथनी अल्बनीज होंगे नए PM, जानें कौन हैं येगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध के बाद पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दजापान में होगा तीसरा क्वाड समिट, 23-24 मई को PM मोदी का जापान दौरा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.